विज्ञान कक्षा प्ग् ;सै(ांतिकद्ध नमूना प्रश्न पत्रा - प्प् समय: 3 घंटे अध्िकतम अंक: 75 बहुविकल्पीय प्रश्न 1ण् सीमा ने एक प्राकृतिक गैस संपीडन संयंत्रा का दौरा किया और पाया कि ताप और दाब की विश्िाष्ट परिस्िथतियों में गैस को द्रवित किया जा सकता है। अपना अनुभव दोस्तों के साथ बाँटते समय वह भ्रमित हो गइर्। परिस्िथतियों का सही समुच्चय पहचानने मंे उसकी मदद कीजिए। ;ंद्ध निम्न ताप, निम्न दाब ;इद्ध उच्च ताप, निम्न दाब ;बद्ध निम्न ताप, उच्च दाब ;कद्ध उच्च ताप, उच्च दाब ;1द्ध 2ण् निम्नलिख्िात में से कौन से भौतिक परिवतर्न हैं? ;पद्ध आइरन धतु का पिघलना ;पपद्ध आइरन पर जंग लगना ;पपपद्ध आइरन छड़ का मुड़ना ;पअद्ध आइरन धतु के तार खींचना ;ंद्ध ;पद्धए ;पपद्ध तथा ;पपपद्ध ;इद्ध ;पद्धए ;पपद्ध तथा ;पअद्ध ;बद्ध ;पद्धए ;पपपद्ध तथा ;पअद्ध ;कद्ध ;पपद्धए ;पपपद्ध तथा ;पअद्ध ;1द्ध 3ण् निम्नलिख्िात में से किसमें परमाणुओं की संख्या अध्िकतम होगी? ;ंद्ध भ्2व् के 18ह ;इद्ध व् के 18ह2;बद्ध ब्व्2 के 18ह ;कद्ध ब्भ्के 18ह ;1द्ध 4 4ण् एथ्िाल एथेनोऐट ;ब्भ्ब्व्व्ब्भ्द्ध के एक नमूने में दोनों आॅक्सीजन परमाणुओं में इलेक्ट्राॅनों की325संख्या समान है परंतु न्यूट्राॅनों की संख्या भ्िान्न है। निम्नलिख्िात में से कौन - सा इसके लिए सही कारण है? ;ंद्ध इनमें से एक आॅक्सीजन परमाणु ने इलेक्ट्राॅन ग्रहण किए हैं। ;इद्ध इनमें से एक आॅक्सीजन परमाणु ने दो न्यूट्राॅन ग्रहण किए हैं ;बद्ध दोनों आॅक्सीजन परमाणु समस्थानिक हैं;कद्ध दोनों आॅक्सीजन परमाणु समभारिक हैं ;1द्ध 5ण् एक कोश्िाका पूफल जाएगी, यदिμ ;ंद्ध कोश्िाका में जल के अणुओं की सांद्रता, परिवेश माध्यम में जल के अणुओं की सांद्रता से अिाक है ;इद्ध परिवेश माध्यम में जल के अणुओं की सांद्रता, कोश्िाका में जल के अणुओं की सांद्रता से अध्िक है ;बद्ध कोश्िाका और परिवेश माध्यम में जल के अणुओं की सांद्रता समान है ;कद्ध जल के अणुओं की सांद्रता से कोइर् प्रभाव नहीं पड़ता ;1द्ध 6ण् स्थलीय पयार्वरण में पादपों का बने रहना निम्नलिख्िात में किसके कारण संभव है? ;ंद्ध अंतविर्ष्ट विभाज्योतक ;इद्ध संवहनी उफतक ;बद्ध शीषर्स्थ विभाज्योतक ;कद्ध मृदूतक उफतक ;पैरेंकाइमाद्ध ;1द्ध 7ण् किस वगर् के जंतुओं में प्रगुहा ;सीलोमद्ध रक्त से भरी होती है? ;ंद्ध आथ्रोर्पोडा ;इद्ध ऐनेलिडा ;बद्ध नेमाटोडा ;कद्ध इकाइनोडमेर्टा ;1द्ध 8ण् वेंफद्रक और कोश्िाकांग रहित जीव जिससे संबंध्ित हैं, वे हैंμ ;ंद्ध कवक ;इद्ध प्रोटिस्टा ;बद्ध शैवाल ;कद्ध बैक्टीरिया ;जीवाणुद्ध ;1द्ध 9ण् कौन - सी कोश्िाका में छिदि्रल कोश्िाका - भ्िात्ितयाँ नहीं होती? ;ंद्ध वाहिनिकाएँ ;शाइलम ट्रैकीडद्ध ;इद्ध सहचर कोश्िाका ;बद्ध चालनी नलिका ;कद्ध वाहिकाएँ ;1द्ध 10ण् एक गतिमान ¯पड के विस्थापन और तय की गइर् दूरी का संख्यात्मक अनुपात होता है ;ंद्ध सदैव 1 से कम ;इद्ध सदैव 1 के बराबर ;बद्ध सदैव 1 से अध्िक ;कद्ध 1 के बराबर या कम ;1द्ध 11ण् गति के तीसरे नियम के अनुसार, िया और प्रतिियाμ ;ंद्ध सदैव एक ही वस्तु पर कायर्रत होती हैं ;इद्ध सदैव भ्िान्न वस्तुओं पर विपरीत दिशाओं में िया करती हैं ;बद्ध का समान परिमाण और दिशा होती है ;कद्ध किसी एक वस्तु पर एक दूसरे के अभ्िालंब कायर् करती हैं ;1द्ध 12ण् गुरुत्वीय त्वरण का मानμ ;ंद्ध भूमध्य रेखा पर सबसे कम होता है ;इद्ध ध््रुवों पर सबसे कम होता है ;बद्ध भूमध्य रेखा और ध्ु्रवों पर समान होता है ;कद्ध ध््रुवों से भूमध्य रेखा की ओर बढ़ता है ;1द्ध 13ण् दो वस्तुओं के मध्य गुरुत्वाकषर्ण बल थ् है। यदि उनके मध्य की दूरी परिवतिर्त किए बिना उनके द्रव्यमान आध्े कर दिए जाते हैं, तो गुरुत्वाकषर्ण बल हो जाएगाμ थ् ;ंद्ध 4 थ् ;इद्ध ;बद्ध थ् ;कद्ध 2थ् ;1द्ध 2 14ण् अध्िक मात्रा में उवर्रकों और पीड़कनाश्िायों के उपयोग की सलाह नहीं दी जाती है, क्योंकि ;ंद्ध ये पारिहितैषी होते हैं ;इद्ध वुफछ समय पश्चात् ये खेतों को बंजर बना देते हैं ;बद्ध ये मृदा से उपयोगी घटकों को हटा देते हैं ;कद्ध ये मृदा की उवर्रता नष्ट कर देते हैं ;1द्ध 15ण् सही वाक्य बताइएμ ;पद्ध संकरण का अथर् है आनुवंश्िाक रूप से असमान पादपों के बीच क्राॅसिंग कराना ;पपद्ध दो किस्मों के बीच किए जाने वाले संकरण को अंतरास्पीशीजी संकरण कहते हैं ;पपपद्ध वांछित लक्षण के जीन पादप में डालने पर आनुवंश्िाक रूप से रूपांतरित पफसल प्राप्त होती है ;पअद्ध दो स्पीशीज के पादपों के बीच संकरण को अंतरावैराइटी संकरण कहते हैं। ;ंद्ध ;पद्ध तथा ;पपपद्ध ;इद्ध ;पपद्ध तथा ;पअद्ध ;बद्ध ;पपद्ध तथा ;पपपद्ध ;कद्ध ;पपपद्ध तथा ;पअद्ध ;1द्ध 16ण् खाद से संबंध्ित सही वाक्य बताइएμ ;पद्ध खाद में अध्िक मात्रा मंे काबर्निक पदाथर् तथा अल्प मात्रा में पोषक होते हैं ;पपद्ध यह बलुइर् मृदा की जल ग्रहण क्षमता को बढ़ाती है ;पपपद्ध यह चिकनी मिट्टी से जल - आध्िक्य को निकालने मंे सहायक होती है ;पअद्ध इसका अध्िक उपयोग पयार्वरण को प्रदूष्िात करता है, क्योंकि यह पशुओं के मल से निमिर्त होती है ;ंद्ध ;पद्ध तथा ;पपपद्ध ;इद्ध ;पद्ध तथा ;पपद्ध ;बद्ध ;पपद्ध तथा ;पपपद्ध ;कद्ध ;पपपद्ध तथा ;पअद्ध ;1द्ध लघुउत्तरीय प्रश्न 17ण् ‘परासरण एक विशेष प्रकार की विसरण प्रिया है’। टिप्पणी कीजिए। ;2द्ध 18ण् निम्नलिख्िात रसायनों के सूत्रा दीजिए और इनमें से प्रत्येक के लिए संयोजी तत्वों के द्रव्यमानों काअनुपात परिकलित कीजिए। ;ंद्ध अमोनिया ;इद्ध काबर्न मोनोक्साइड ;बद्ध हाइड्रोजन क्लोराइड ;कद्ध एल्युमिनियम फ्रलुओराइड ;1 ़1 त्र 2द्ध 19ण् निम्नलिख्िात यौगिकों के आण्िवक सूत्रा लिख्िाएμ ;ंद्ध एल्युमिनियम ;प्प्प्द्ध नाइट्रेट ;इद्ध वैफल्िशयम ;प्प्द्ध पफाॅस्पेफट ;बद्ध मवर्फरी ;प्प्द्ध क्लोराइड ;कद्ध मैग्नीश्िायम ;प्प्द्ध ऐसीटेट ;) ़ ) ़ ) ़ ) त्र 2द्ध 20ण् हीलियम परमाणु के संयोजकता कोश में 2 इलेक्ट्राॅन होते हैं, परंतु इसकी संयोजकता 2 नहीं है।समझाइए। ;2द्ध 21ण् यदि एक व्यक्ित नमक का सांद्र विलयन पी लेता है और वुफछ समय पश्चात् उल्िटयाँ करने लगताहै तो इस दशा के लिए कौन - सी परिघटना उत्तरदायी है? स्पष्ट कीजिए। ;2द्ध 22ण् निम्नलिख्िात ियाओं को ऐच्िछक पेशी या अनैच्िछक पेशी के आधर पर विभेदित कीजिए। ;ंद्ध मेंढक का वूफदना ;इद्ध हृदय का ध्ड़कना ;बद्ध हाथ से लिखना ;कद्ध आपकी आँत में चाॅकलेट की गति है ;) ़ ) ़ ) ़ ) त्र 2द्ध 23ण् जलवंुफभी जल की सतह पर तैरती रहती है। समझाइए। ;2द्ध 24ण् कौन - सा जीवाणु पेप्िटक व्रण ;अल्सरद्ध का कारण है? इस रोगजनक की खोज सवर्प्रथम किसने की? ;1 ़ 1 त्र 2द्ध 25ण् कारण बताइएμ ;ंद्ध विभाज्योतकी कोश्िाकाओं में एक सुस्पष्ट वेंफद्रक और सघन कोश्िाकाद्रव्य तो होता है, परंतु रसधानी नहीं होती है। ;इद्ध दृढ़ोतकी उफतकों में अंतराकोशकीय स्थान नहीं होते हैं। ;बद्ध जब हम नाशपाती चबाते हैं तो उसके वुफरवुफरे तथा दानेदार होने का अनुभव होता है। ;कद्ध तेज हवा के चलने पर पेड़ की टहनियाँ हिलती हैं और मुक्त रूप से मुड़ जाती हैं। ;) ़ ) ़ ) ़ ) त्र 2द्ध 26ण् एक मोटरसाइकिल चालक एकसमान चाल 30 ाउ ीदृ1 से स्थान । से स्थान ठ तक जाता है औरएकसमान चाल 20 ाउ ीदृ1 से स्थान । पर लौट आता है। मोटरसाइकिल चालक की औसत चालज्ञात कीजिए। ;2द्ध 27ण् कंक्रीट के पफशर् पर लुढ़कने वाली 50 ह द्रव्यमान की गंेद के लिए वेग विरु( समय आरेख नीचे दिखाया गया है। गेंद के त्वरण और पफशर् द्वारा लगने वाले घषर्ण बल को परिकलित कीजिए।;1 ़ 1 त्र 2द्ध समय 28ण् एक 500 ह के सीलबंद पैकेट का आयतन 350 बउ3 है। यह पैकेट नमक के संतृप्त घोल मंे तैरेगा या डूबेगा, यदि विलयन का घनत्व 1ण्2 ह बउदृ3 है? ;1 ़ 1 त्र 2द्ध 29ण् पहाडि़यों पर कौन - सी सीढ़ीदार खेती अध्िक प्रचलित है? ;2द्ध 30ण् उवर्र मृदा मंे “्यूमस प्रचुर मात्रा में होती है। क्यांे? ;2द्ध 31ण् उन्नत पफसल के वुफछ उपयोगी लक्षणों की सूची बनाइए। ;2द्ध 32ण् हरी खाद के निमार्ण से संबंध्ित निम्नलिख्िात कथनों को सही क्रम मंे व्यवस्िथत कीजिए ;ंद्ध हरे पादप मृदा मंे अपघटित होते हैं। ;इद्ध खाद बनाने के लिए पादप उगाए जाते हैं अथवा पफसली पादपों के भागों को काम में लिया जाता है। ;बद्ध पादपों को जोतकर उन्हें मृदा में मिला दिया जाता है। ;कद्ध अपघटन के पश्चात् यह हरी खाद बन जाती है। ;) ़ ) ़ ) ़ ) त्र 2द्ध 33ण् मध्ुमक्खी की इटली की एक किस्म ऐपिस मेलिपेफरा को भारत में शहद के उत्पादन हेतु लाया गया। अन्य किस्मों की तुलना में इसकी विश्िाष्टताओं का वणर्न कीजिए। ;2द्ध दीघर्उत्तरीय प्रश्न 34ण् विद्याथ्िार्यों के एक समूह ने जूतों का एक पुराना डिब्बा लिया और उसे चारों ओर से काले कागश से ढक दिया। उन्होंने डिब्बे के प्रतिदशर् युक्त काँच का पात्रा प्रकाश का ड्डोत एक सिरे पर उसमें छिद्र करके प्रकाश का एक स्रोत ;टाचर्द्ध लगा दिया और बीकर/गिलास आँखमें रखे नमूने को देखने के लिए दूसरे सिरे पर एक और छिद्र बनाया, जैसाकि चित्रा में दिखाया है। उन्हें देखकर आश्चयर् हुआ कि गिलास में लिया गया दूध् प्रदीप्त हो गया था। उन्होंने यही ियाकलाप नमक का विलयन लेकर किया। लेकिन पाया कि प्रकाश उसे बिना प्रदीप्त किए उसमें से गुजर गया। ;ंद्ध समझाइए कि दूध प्रतिदशर् प्रदीप्त क्यों हो गया? इसमें प्रयुक्त परिघटना का नाम दीजिए। ;इद्ध नमक विलयन के साथ समान परिणाम प्राप्त नहीं होते हैं। समझाइए। ;बद्ध क्या आप ऐसे दो विलयनों के नाम सुझा सकते हैं जो दूध विलयन के समान प्रभाव दशार्ते हैं। ;2 ़ 2 ़1 त्र 5द्ध अथवा एक प्रयोग में विद्याथ्िार्यों से जल में शक्कर का 10ः विलयन बनाने के लिए कहा गया। रमेश ने 10ह शक्कर को 100ह जल में घोला, जबकि सारिका ने 10ह शक्कर को जल में घोलकर 100ह विलयन प्राप्त किया। ;ंद्ध क्या ये दोनों विलयन समान सांद्रता के हैं? ;इद्ध दोनों विलयनों के द्रव्यमान » की तुलना कीजिए। ;1 ़ 4त्र 5द्ध 35ण् एक ही मौहल्ले में रहने वाले वुफछ बच्चे अन्य बच्चों की अपेक्षा अिाक बार बीमार क्यों पड़ते हैं? ;5द्ध अथवा एक स्वस्थ व्यक्ित के लिए आवश्यक कोइर् चार कारक बताइए। ;5द्ध 36ण् शक्ित को परिभाष्िात कीजिए। आप ाॅ और ाॅ ी में अंतर किस प्रकार करेंगे? यदि एक गेंद का वेग तीन गुना कर दिया जाता है, तो निम्नलिख्िात में अनुपात क्या होगा? ;ंद्ध इसकी प्रारंभ्िाक गतिज उफजार् और अंतिम गतिज उफजार् में ;इद्ध प्रारंभ्िाक संवेग और अंतिम संवेग में ;1़1़1)़1) त्र 5द्ध अथवा चार आदमी 250 ाह के एक बक्से को 1उ उफँचा उठाते हैं और उसे उफपर या नीचे किए बिना पकड़े रहते हैंμ ;ंद्ध आदमी बक्से को उठाने के लिए कितना कायर् करते हैं? ;इद्ध वे बक्से को मात्रा पकड़े रखने के लिए कितना कायर् करते हैं? ;बद्ध इसे पकड़े रखने में वे थक क्यों जाते हैं? ;ह त्र 10 उ ेदृ2द्ध ;2़1) ़ 1) त्र 5द्ध37ण् ;ंद्ध समझाइए प्रतिध्वनि किस प्रकार उत्पन्न होती हैμ ;इद्ध अ उ ेदृ1 चाल से संचरित ध्वनि की प्रतिध्वनि सुनने के लिए सुनने वाले और परावतर्क के मध्य कम से कम कितनी दूरी होनी चाहिए? ;बद्ध किसी भी अध्िक गरम दिन में ध्वनि की चाल बढ़ेगी या घटेगी? औचित्य दीजिए।;1)़)़1़2 त्र 5द्ध अथवा ध्वनि की चाल, उसकी तंरगदैघ्यर् और आवृिा मंे संबंध् स्थापित कीजिए। यदि वायु मंे ध्वनि का वेग 340 उ ेदृ1 है तो ज्ञात कीजिएμ ;ंद्ध तरंगदैघ्यर् जब आवृिा256 भ््र है। ;इद्ध आवृिा जब तरंगदैघ्यर् 0ण्85 उ है। ;2 ़ 1)़1) त्र 5द्ध 38ण् जीवाश्म ईंध्न किस प्रकार वायु को प्रदूष्िात करते हैं? ;5द्ध अथवा मृदा निमार्ण में सूयर् की भूमिका की व्याख्या कीजिए। ;5द्ध उत्तर बहुविकल्पीय प्रश्न 1ण्;बद्ध 2ण्;बद्ध 3ण् ;कद्ध पदाथर् का द्रव्यमानपरमाणुओं की संख्या त्र × छ। × एक अणु में परमाणुओं की संख्या ∴ 4ण् 5ण् 6ण् 7ण् 8ण् 9ण् 10ण् 11ण् 12ण् 13ण् 14ण् 15ण् 16ण् मालेर द्रव्यमान18;ंद्ध 18ह जल त्र × छ × 3 त्र 3छ ।।18 ;इद्ध 18ह आॅक्सीजन त्र 18 × छ × 2 त्र 1ण्12 छ ।।32 18;बद्ध18 ह ब्व् त्र × छ × 3 त्र 1ण्23 छ ;कद्ध18 ह ब्भ्;बद्ध ;इद्ध ;इद्ध ;ंद्ध ;कद्ध ;इद्ध ;कद्ध ;इद्ध ;ंद्ध ;ंद्ध ;ंद्ध ;ंद्ध ;इद्ध 24।।44 18 त्र × छ × 5 त्र 5ण्60छ ।।16 लघुउत्तरीय प्रश्न 17ण् हाँ, यह सही है। दोनों परिघटनाओं मंे कणों का संचलन उच्च सांद्रता क्षेत्रा से निम्न सांद्रता क्षेत्रा की ओर होता है। पिफर भी, परासरण मंे विलायक का संचलन एक अधर् - पारगम्य झिल्ली के माध्यम से होता है जो जल के अणुओं के लिए पारगम्य होती है। 18ण् ;ंद्ध छभ्3 ;इद्ध ब्व् ;बद्ध भ्ब्स ;कद्ध ।सथ्3छरू भ् × 3 ब्रूव् भ्रू ब्स ।सरू थ् × 3 14रू1× 3 12रू 16 1रू 35ण्5 27रू 19 × 3 14रू3 3रू 4 2रू71 9रू 19 19ण् ;ंद्ध ।स;छव्द्ध33 ;इद्धब्ं;च्व्द्ध;बद्धभ्हब्स2 ;कद्धउह ;ब्भ्ब्व्व्द्ध342 32 20ण् हीलियम परमाणु के बाह्यतम कोश में दो इलेक्ट्राॅन हैं और इसका द्विक पूणर् है। अतः इसकी संयोजकता शून्य है। 21ण् बहिःपरासरण के कारण आँत में निजर्लीकरण हो जाता है। 22ण् ऐच्िछक पेशी द्वाराμ ंए ब अनैच्िछक पेशी द्वाराμ इए क 23ण् संकेतμपूफली हुइर् पणर्वृंत में उपस्िथत वायूतक ;ऐरेंकाइमाद्ध के कारण। 24ण् ;पद्ध हेलिकोबैक्टर पाइलाॅरी ;पपद्ध माशर्ल और वारेन 25ण् संकेतμ ;ंद्ध भंडारण की आवश्यकता नहीं। ;इद्ध क्योंकि ये लिग्िननयुक्त होते हैं। ;बद्ध स्टोन कोश्िाकाओं ;दृढ़ोतकद्ध की उपस्िथति। ;कद्ध कोणोतक ;कोलेनकाइमाद्ध की उपस्िथति। 26ण् माना ।ठ त्र ग गगअतःज त्र और ज त्र 130 220 5वुफल समयत्र ज1 ़ ज2 त्र 60 ग वफुल दरूी औसत चालत्र वफुल समय 2ग दृ1त्र त्र 24ाउ ी 5ग 60 अदृन 80दृ 0 दृ227ण् त्वरण त्र त्रत्र 10उ े ज 8 बल त्र उ×ं त्र 50 × 10 त्र 0ण्5छ 1000 उ 500 28ण् सीलबंद पैकेट का घनत्व त्र त्रत्र 1ण्4 बउ दृ3 ट 350 क्योंकि पैकेट का घनत्व नमक के संतृप्त विलयन के घनत्व से अध्िक है, अतः पैकेट डूब जाएगा। विस्थापित विलयन का द्रव्यमान त्र पैकेट का आयतन × विलयन का घनत्व त्र 350 × 1ण्2 त्र 420 ह 29ण् संकेतμइससे ढाल पर जल की धराओं से होने वाले मृदा अपरदन को रोका जाता है। 30ण् उवर्र मृदा में जीवों की प्रचुरता होती है, जो मृत जैव पदाथर् को अपघटित कर “्यूमस बनाते हैं। “्यूमस से खनिज प्राप्त होते हैं, जो जल का अवशोषण करते हैं और मृदा को सरंध््री बनाते हैं। 31ण् उन्नत पफसलों के उपयोगी लक्षण हैंμ ;ंद्ध अध्िक उपज ;इद्ध उन्नत पोषक गुणवत्ता ;बद्ध जैविक और अजैविक प्रतिबलों ;तनावद्ध का प्रतिरोध् ;कद्ध परिपक्वता में परिवतर्न ;मद्ध अनुवूफलनशीलता की व्यापक परास ;द्धि वांछित शस्य विज्ञानी लक्षण 32ण् ;इद्ध → ;बद्ध → ;ंद्ध → ;कद्ध 33ण् इटली की मध्ुमक्खी की किस्म ऐपिस मेलिपेफरा की विशेषताएँ हैंμ ;ंद्ध यह डंक कम मारती हैं। ;इद्ध इसकी शहद इकट्ठा करने की क्षमता अध्िक होती है। ;बद्ध यह छत्ते में लंबे समय तक रहती है और अिाक प्रजनन करती है। दीघर्उत्तरीय प्रश्न 34ण् संकेतμ ;ंद्ध दूध् का तनु विलयन एक कोलाॅइड है और टिंडल प्रभाव दशार्ता है। ;इद्ध नमक का विलयन एक यथाथर् विलयन है और प्रकाश का प्रकीणर्न नहीं करता। ;बद्ध अपमाजर्क विलयन, सल्पफर विलयन अथवा;ंद्ध नहीं विलये का द्रव्यमान ;इद्ध द्रव्यमान: त्र ×100 विलेय का द्रव्यमान $ विलायक का द्रव्यमान रमेश द्वारा बनाया गया विलयन ⎛ 10 ⎞ 10 द्रव्यमान: त्र ⎜⎟ 100 त्र ×100 त्र 9ण्09ः ⎝10़100 ⎠ 110 सारिका द्वारा बनाया गया विलयन 10 द्रव्यमान: त्र ×100 त्र 10ः 100 35ण् संकेतμदुबर्ल प्रतिरक्षातंत्रा के कारण वुफछ बच्चे अकसर बीमार हो जाते हैं। स्वस्थ शरीर के प्रबल प्रतिरक्षातंत्रा प्रणाली के लिए संतुलित आहार और उचित पोषण की आवश्यकता होती है। अथवा एक स्वस्थ व्यक्ित के लिए आवश्यक है किμ ;ंद्ध उसके आसपास का पयार्वरण स्वच्छ होना चाहिए। वायुवाहित और जलवाहित रोग नहीं पैफलते हैं। ;इद्ध व्यक्ितगत स्वच्छता, संक्रामक रोगों को होने से रोकती है। ;बद्ध हमारे शरीर की उत्तम प्रतिरक्षातंत्रा के लिए समुचित, पयार्प्त पोषण और भोजन आवश्यक है। ;कद्ध गंभीर रोगों हेतु प्रतिरक्षीकरण। 36ण् शक्ित की परिभाषाμ ाॅ शक्ित का मात्राक है और ाॅ ी उफजार् का मात्राक है। ;ंद्ध फ अ त्र अ य अ त्र 3अ121 ज्ञम् त्र उअ2 12 19 ज्ञम् त्र उ ;3अद्ध2 त्र उअ2 22 2 19 ज्ञम्1 रू ज्ञम्2 त्र 2 उअ2 रू 2 उअ2 त्र 1रू9 ;इद्ध च त्र उअय च त्र उ × 3अ त्र 3 उअ12च1 रू च2 त्र उअ रू 3उअत्र 1 रू 3 अथवा ;ंद्ध थ् त्र 250 ाह × ह त्र 250 × 10 त्र 2500 छ े त्र 1 उ ॅ त्र थ्ण् े त्र 2500 छ उ त्र 2500 श्र ;इद्ध शून्य, क्योंकि बक्सा पकड़े रहने पर बिलवुफल विस्थापित नहीं होता है। ;बद्ध बक्से को पकड़कर रखने के लिए, व्यक्ित एक बल का प्रयोग कर रहे हैं, जो बक्से पर कायर्रत गुरुत्वाकषर्ण बल के विपरीत और समान है। बल लगाने में व्यक्ित पेशीय प्रयास करते हैं, अतः थक जाते हैं। 37ण् ;ंद्ध प्रतिध्वनि दरूी 2क ;इद्ध समयत्र अथातर्् ज त्र चाल ट चाल × ज चाल × 1 चाल अथवा त्रत्रत्र उ फ समय त्र 0ण्1 े22 ×10 20 ;बद्ध ध्वनि की चाल ताप के साथ बढ़ती है। अतः एक गरम दिन में ध्वनि की चाल अध्िक होती है। अथवा अ त्र अλ ;व्युत्पन्नद्ध ;ंद्ध 340 त्र 256 λ λ त्र 1ण्33 उ ;इद्ध 340 त्र अ ;0ण्85द्धअ त्र 400 भ््रण् 38ण् कोयले और पेट्रोलियम जैसे जीवाश्म ईंध्नों में नाइट्रोजन और सल्पफर की अल्प मात्राएँ होती हैं। जब जीवाश्म ईंध्नों को जलाया जाता है, तो नाइट्रोजन और सल्पफर के आॅक्साइड वुफछ मात्रा में बनते हैं। ये गैसें निश्वसन समस्याओं का कारण बनती हैं और वषार् के समय अम्ल जीवाश्म ईंधनों को जलाने से निलंबित कणों की मात्रा भी बढ़ती है जिससे दृश्यता कम हो जाती है। अथवा संकेतμचट्टानें सूयर् द्वारा गरम होती हैंऋ ये रात के समय सिवुफड़ती हैं, परंतु समान दर से नहीं। परिणामस्वरूप चट्टानों में दरारें पड़ जाती हैं और अंततः छोटे कणों में परिवतिर्त हो जाती हैं।

RELOAD if chapter isn't visible.