विज्ञान कक्षा प्ग् ;सै(ांतिकद्ध नमूना प्रश्नपत्राμप् समय: 3 घंटे अध्िकतम अंक: 75 बहुविकल्पीय प्रश्न 1ण् 25°ब्ए 38°ब् और 66°ब् को केलविन पैमाने पर परिवतिर्त करने पर, सही उत्तर होगाμ ;ंद्ध 298 ज्ञए 311 ज्ञ और 339 ज्ञ ;इद्ध 298 ज्ञए 300 ज्ञ और 338 ज्ञ ;बद्ध 273 ज्ञए 278 ज्ञ और 543 ज्ञ ;कद्ध 298 ज्ञए 310 ज्ञ और 338 ज्ञ ;1द्ध 2ण् निम्नलिख्िात में से सही कथन का चयन कीजिएμ ;ंद्ध ठोस का बिना द्रव अवस्था से गुशरे वाष्प में परिवतर्न वाष्पन कहलाता है। ;इद्ध वाष्प का बिना द्रव अवस्था से गुशरे ठोस में परिवतर्न उफध्वर्पातन कहलाता है। ;बद्ध वाष्प का बिना द्रव अवस्था से गुशरे ठोस में परिवतर्न हिमीकरण कहलाता है। ;कद्ध ठोस का द्रव में परिवतर्न उफध्वर्पातन कहलाता है। ;1द्ध 3ण् आइरन से बनी एक वस्तु पर जंग लगना कहलाता हैμ ;ंद्ध संक्षारण और यह एक भौतिक परिवतर्न एवं रासायनिक परिवतर्न भी है। ;इद्ध विलयन और यह एक भौतिक परिवतर्न है। ;बद्ध संक्षारण और यह एक रासायनिक परिवतर्न है। ;कद्ध विलयन और यह एक रासायनिक परिवतर्न है। ;1द्ध 4ण् निम्नलिख्िात में से कौन से समांग प्रकृति के हैं? ;पद्ध बपर्फ ;पपद्ध लकड़ी ;पपपद्ध मृदा ;पअद्ध वायु ;ंद्ध ;पद्ध और;पपपद्ध ;इद्ध ;पपद्ध और;पअद्ध ;बद्ध ;पद्ध और;पअद्ध ;कद्ध ;पपपद्ध और;पअद्ध ;1द्ध 5ण् परासरण की वुफछ परिभाषाएँ नीचे दी गइर् हैं। इन्हें ध्यानपूवर्क पढि़ए और सही परिभाषा चुनिएμ ;ंद्ध अध्र्पारगम्य झिल्ली से होकर, जल के अणुओं का अिाक सांद्रता वाले क्षेत्रा से निम्न सांद्रण वाले क्षेत्रा की ओर जाना। ;इद्ध विलायक के अणुओं का अिाक सांद्रता से निम्न सांद्रता की ओर जाना। ;बद्ध पारगम्य झिल्ली से होकर विलायक अणुओं का अिाक सांद्रता से निम्न सांद्रता वाले विलयन की ओर जाना। ;कद्ध अध्र्पारगम्य झिल्ली से होकर विलेय अणुओं का निम्न सांद्रता वाले विलयन से अिाक सांद्रता वाले विलयन की ओर जाना। ;1द्ध 6ण् निम्नलिख्िात मंे से किसमें जल के चालन के लिए विशेष उफतक होते हैं? ;ंद्ध थैलोपफाइटा ;इद्ध ब्रायोपफाइटा ;बद्ध टेरिडोपफाइटा ;कद्ध कवक ;1द्ध 7ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सा मापदंड सजीवों के वगीर्करण का नहीं है? ;ंद्ध जीव की देह - रचना ;इद्ध अपना भोजन स्वयं उत्पादन करने की क्षमता ;बद्ध झिल्ली से घ्िारा वेंफद्रक और कोश्िाकांग ;कद्ध पादप की उफँचाइर् ;1द्ध 8ण् निम्नलिख्िात में से किसी व्यक्ित के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूणर् क्या नहीं है? ;ंद्ध स्वच्छ स्थान पर रहना ;इद्ध अच्छी आथ्िार्क परिस्िथति ;बद्ध सामाजिक समानता और समन्वय ;कद्ध बड़े और सुसज्िजत मकान में रहना ;1द्ध 9ण् क्रोमोसोम किसके बने होते हैं? ;ंद्ध केवल डी.एन.ए. के ;इद्ध केवल प्रोटीन के ;बद्ध डी.एन.ए. तथा प्रोटीन के ;कद्ध केवल आर.एन.ए. के ;1द्ध 10ण् एक कण त त्रिाज्या वाले वृत्तीय पथ पर घूम रहा है। आध्े चक्कर के बाद उसका विस्थापन होगाμ ;ंद्ध शून्य ;इद्ध π त ;बद्ध 2 त ;कद्ध 2π त ;1द्ध 11ण् )णात्मक कायर् की स्िथति में बल और विस्थापन के मध्य कोण होता हैμ ;ंद्ध 0° ;इद्ध 45° ;बद्ध 90° ;कद्ध 180° ;1द्ध 12ण् ध्वनि की गति से अध्िक गति से गतिशील वस्तु की गति को कहते हैंμ ;ंद्ध अवश्रव्य गति ;इद्ध ध्वनि गति ;बद्ध पराश्रव्य गति ;कद्ध पराध्वनिक गति ;1द्ध 13ण् एक संगीत सभा में वाद्यों को बजाने से पहले, एक सितार वादक अपने सितार का ख्िांचाव अनुवूफल बनाने का प्रयास करता है और तारों को ठीक से पकड़ कर खींचता है। ऐसा करके वह व्यवस्िथत कर रहा हैμ ;ंद्ध केवल ध्वनि की तीव्रता ;इद्ध केवल ध्वनि का आयाम ;बद्ध अन्य संगीत वाद्यों के साथ सितार के तारों की आवृिा ;कद्ध ध्वनि की प्रबलता ;1द्ध 14ण् ओशोन परत के अपक्षय का कारण हैμ ;ंद्ध मोटर वाहनों का अत्यिाक उपयोग ;इद्ध औद्योगिक इकाइयों का अत्यिाक उपयोग ;बद्ध फ्रलुओरीन और क्लोरीन युक्त मानव निमिर्त यौगिकों का अत्यिाक उपयोग ;कद्ध वृक्षों की अत्यिाक कटाइर् ;1द्ध 15ण् देश की खाद्य समस्या के हल के लिए निम्नलिख्िात में से कौन आवश्यक है? ;ंद्ध अनाज का उत्पादन बढ़ाना और उसका भंडारण करना ;इद्ध लोगों को अनाज आसानी से उपलब्ध् होना ;बद्ध अनाज खरीदने के लिए लोगों के पास ध्न होना ;कद्ध उपयुर्क्त सभी ;1द्ध 16ण् निम्नलिख्िात में से कौन - सा पोषक पदाथर् उवर्रकों में उपलब्ध् नहीं होता? ;ंद्ध नाइट्रोजन ;इद्ध पफाॅस्पफोरस ;बद्ध आइरन ;कद्ध पोटेश्िायम ;1द्ध लघुउत्तरीय प्रश्न 17ण् एक विद्याथीर् बपर्फ और जलयुक्त एक बीकर को गमर् करता है। वह बीकर की सामग्री के ताप का मापन समय के पफलन के रूप में करता है। निम्नलिख्िात में से कौन - सा सही परिणाम को दशार्ता है? अपने चयन के लिए औचित्य दीजिए। 100°ब्100°ब् 100°ब् 100°ब् 0°ब् 0°ब् 0°ब् 0°ब् समय ;मिनटद्ध ;ंद्ध समय ;मिनटद्ध ;इद्ध समय ;मिनटद्ध ;बद्ध समय ;मिनटद्ध ;कद्ध ;1 ़ 1 त्र 2द्ध 18ण् एक तत्व ध्वानिक और उच्च तन्यता वाला है। आप इस तत्व को किस श्रेणी मंे वगीर्कृत करंेगे? आप इस तत्व में कौन से अन्य गुणों की अपेक्षा करते हैं? ;) ़1) त्र 2द्ध 19ण् निम्नलिख्िात चित्रों से आप ग्ए ल् और र् परमाणुओं की संयोजकता, परमाणु क्रमांक और द्रव्यमान संख्यासंबंध्ी क्या सूचनाएँ प्राप्त करते हैं? आप अपना उत्तर एक सारणी के रूप में दीजिए। ;1 ़ ) ़ )त्र 2द्ध ;ग्द्ध ;ल्द्ध ;र्द्ध 20ण् एक तत्व ग् के परमाणु के बा“यतम कोश में एक इलेक्ट्राॅन उपस्िथत है। यदि बा“यतम कोश से एकइलेक्ट्राॅन को हटा दिया जाए तो बनने वाले आयन पर आवेश की प्रकृति एवं मान क्या होगा? ;1 ़ 1 त्र 2द्ध 21ण् प्याज के छिलके की कोश्िाकाओं और त्ठब् को अल्पपरासारी विलयन में अलग - अलग रखा गया।निम्नलिख्िात में से क्या होगा, अपने उत्तर का कारण समझाइए। ;ंद्ध दोनों प्रकार की कोश्िाकाएँ पूफल जाएँगी। ;इद्ध त्ठब् सरलतापूवर्क पफट जाएगी जबकि प्याज के छिलके की कोश्िाकाएँ वुफछ सीमा तक पफटने का प्रतिरोध करेंगी। ;बद्ध ं और इ दोनों सही हैं। ;कद्ध त्ठब् और प्याश के छिलके की कोश्िाकाएँ समान रूप से व्यवहार करेंगी।;) ़ 1) त्र 2द्ध 5 10 15 202522ण् जाइलम के विभ्िान्न घटकों के नाम लिख्िाए और एक जीवित घटक का चित्रा बनाइए। ;1़1त्र 2द्ध 23ण् निम्नलिख्िात जीवों को यथाथर् सीलोम ;अथार्त् अगुहिक, वूफटप्रगुहिक और प्रगुहिकद्ध की अनुपस्िथति/उपस्िथति के आधर पर वगीर्कृत कीजिएμ स्पांजिला प्लैनेरिया वुचेरेरिया नेरीस वेंफचुआ मछलियाँ समुद्री ऐनीमोन यकृत पणार्भ कृमि ऐस्केरिस बिच्छू पक्षी घोड़ा ;2द्ध 24ण् कोश्िाका का कौन - सा कोश्िाकांग अिाकांश ियाओं को नियंत्रिात करता है? ;2द्ध 25ण् मानव शरीर में पाइर् जाने वाली विभ्िान्न प्रकार की पेश्िायों के नामांकित चित्रा बनाइए। ;2द्ध 26ण् निम्नलिख्िात वेग - समय आरेख एक साइकिल चालक की गति को दशार्ता है। साइकिल चालक का ;पपद्ध त्वरण, ;पपद्ध वेग, और ;पपपद्ध15 सेवंफड में तय की गइर् दूरी ज्ञात कीजिए। समय ;ेद्ध ;) ़) ़ 1 त्र 2द्ध 27ण् एक गेंद को 10 उ उफँचाइर् से गिराया जाता है। यदि भूमि तल से टकराने के बाद गेंद की उफजार् 40» कम हो जाती है, तो गेंद वापस कितनी उफँचाइर् तक उछलेगी? ;2द्ध 28ण् ध्वनि का आयाम स्िथर रखते हुए, एक तरंग के लिए तरंग विक्षोम और निम्न पिच से उच्च पिच तक ध्वनि परिवतर्न के लिए समय को प्रदश्िार्त करने वाला आरेख बनाइए। ;2द्ध 29ण् दिल्ली मंे लाइकेन क्यों नहीं पाइर् जाती, जबकि ये मनाली या दाजिर्लिंग में सामान्यतः उगती हैं।;2द्ध 30ण् लाइकेन, पादपविहीन चट्टानों के सबसे पहले उगने वाले जीव कहलाते है। ये मृदा निमार्ण में किस प्रकार सहायक होते हैं?;2द्ध 31ण् ळड पफसल क्या होती है? ऐसी एक पफसल का नाम बताइए जो भारत मंे उगाइर् जाती है। ;1़1त्र 2द्ध 32ण् यदि किसी गाँव में वषर् भर कम वषार् हुइर् है तो अच्छी पफसल प्राप्ित के लिए आप किसानों को कौन - से उपाय सुझाएँगे?;2द्ध 33ण् कृष्िा प(ति मंे उच्च निवेश से उच्च उत्पादन होता है। विवेचना कीजिए, वैफसे?;2द्ध दीघर्उत्तरीय प्रश्न 34ण् स्टील के एक पेंच का द्रव्यमान 4ण्11ह है। इन स्टील के पेंचों के एक मोल का द्रव्यमान ज्ञात कीजिए। इस मान की तुलना पृथ्वी के द्रव्यमान ;5ण्98 × 1024ाहद्ध से कीजिए। दोनों में से कौन अिाक भारी है और कितने गुना? ;1) ़ 2) ़ 1 त्र 5द्ध अथवा प्रकाशसंश्लेषण मंे, काबर्न डाइआॅक्साइड के 6 अणु जल के अणुओं की समान संख्या से अभ्िाियाओं की एक शृंखला के माध्यम से संयोग कर ब्6 भ्12 व्6 आण्िवक सूत्रा वाला ग्लूकोस का एक अणु बनाते हैं, ग्लूकोस के 18 ह का उत्पादन करने के लिए कितने ग्राम जल की आवश्यकता होगी? जल का घनत्व 1 ह बउदृ3 मानते हुए, काम मंे लिए गए जल का आयतन परिकलित कीजिए।;4 ़ 1 त्र 5द्ध 35ण् कारण देकर स्पष्ट कीजिएμ ;ंद्ध शरीर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए संतुलित आहार आवश्यक है। ;इद्ध किसी जीव का स्वास्थ्य उसके आसपास की पयार्वरणीय परिस्िथतियों पर निभर्र होता है। ;बद्ध हमारे चारों ओर के क्षेत्रा में जल कहीं भी रुका नहीं होना चाहिए। ;कद्ध अच्छे स्वास्थ्य के लिए सामाजिक समन्वय और अच्छी आथ्िार्क परिस्िथतियाँ आवश्यक हंै। ;1 ़ 1 ़ 1 ़ 2 त्र 5द्ध अथवा एड्स को रोग न मानकर संलक्षण ;सिंड्रोमद्ध क्यों माना जाता है? ;5द्ध 36ण् ;ंद्ध एक उदाहरण की सहायता से जड़त्व का अथर् समझाइए। ;इद्ध समान आकार परंतु विभ्िान्न पदाथो±, ;रबड़ और आइरनद्ध की बनी दो गेंदें गतिशील रेलगाड़ी के चिकने पफशर् पर रखी हैं। रेलगाड़ी को रोकने के लिए अचानक बे्रक लगाए जाते हैं। क्या गेंदें समानवेग से गमन करेंगी। अपने उत्तर का औचित्य दीजिए। ;2़)़)़1़1 त्र 5द्ध अथवा ;ंद्ध माना उ द्रव्यमान की एक गंेद प्रारंभ्िाक चाल अ से उफध्वार्ध्र उफपर पेंफकी जाती है। इसकी चाल निरंतर कम होती चली जाती है, जब तक कि वह शून्य नहीं हो जाती। इसके बाद गेंद नीचे की ओर गिरना प्रारंभ होती है और भूमि तल से टकराने से पूवर् वह पुनः चाल अ प्राप्त कर लेती है। इसका अथर् हुआ कि गेंद के प्रारंभ्िाक और अंतिम संवेग का परिमाण समान रहता है। पिफर भी यह संवेग के संरक्षण का उदाहरण नहीं है। समझाइए क्यों? ;इद्ध एक 20 ह द्रव्यमान की गोली एक 2 ाह द्रव्यमान वाले पिस्तौल से 150 उ ेदृ1 वेग से दागी जाती है। पिस्तौल का प्रतिक्षेप वेग क्या होगा?;3 ़ 2 त्र 5द्ध 37ण् ;ंद्ध गति के द्वितीय नियम और गुरुत्वाकषर्ण के सावर्त्रिाक नियम की सहायता से गुरुत्व श्हश् के कारण त्वरण के लिए व्यंजक को व्युपित कीजिए। ;इद्ध किसी व्यक्ित का चंद्रमा पर भार, उसके पृथ्वी पर भार का 16 गुना होता है। वह पृथ्वी पर 15 ाह द्रव्यमान उठा सकता है। उसी बल द्वारा वह व्यक्ित चंद्रमा पर अध्िकतम कितना द्रव्यमान उठा सकता है? ;1़1़1़2त्र5द्ध अथवा ;ंद्ध दो वायुयानों से समान उफँचाइर् श्ीश् से दो पैकेट, एक भूमध्य रेखा पर और दूसरा उत्तरी ध्रुव पर, गिराए जाते हैं। यह मानकर कि सभी परिस्िथतियाँ समान हैं, क्या ये पैकेट पृथ्वी कीसतह तक पहुँचने में समान समय लेंगे? अपने उत्तर का औचित्य बताएँ। ;इद्ध यह देखा गया कि गिरता हुआ सेब पृथ्वी की ओर आकष्िार्त होता है। क्या सेब भी पृथ्वी को आकष्िार्त करता है? यदि हाँ, तो हम पृथ्वी को सेब की ओर गति करता नहीं देखते हैं। क्यों? ;2़1़1़1त्र5द्ध 38ण् एक मोटर कार, जिसके शीशे पूणर् रूप से बंद हैं और ध्ूप में खड़ी हुइर् है। कार के भीतर का तापमान बहुत अध्िक बढ़ जाता है व्याख्या कीजिए। ;5द्ध अथवा जल प्रदूषण के क्या - क्या कारण हैं? विवेचना कीजिए कि आप जल प्रदूषण कम करने में वैफसे सहयोग कर सकते हैं।; 2) ़ 2) त्र 5द्ध उत्तर बहुविकल्पीय प्रश्न 1ण् ;ंद्ध 2ण् ;इद्ध 3ण् ;बद्ध 4ण् ;बद्ध 5ण् ;ंद्ध 6ण् ;बद्ध 7ण् ;कद्ध 8ण् ;कद्ध 9ण् ;बद्ध 10ण् ;बद्ध 11ण् ;कद्ध 12ण् ;कद्ध 13ण् ;बद्ध 14ण् ;बद्ध 15ण् ;कद्ध 16ण् ;बद्ध लघुउत्तरीय प्रश्न 17ण् सही विकल्प ;कद्ध है। क्योंकि बपर्फ और जल साम्य में हैं, ताप शून्य होगा। जब हम मिश्रण को गरम करते हैं, तो दी गइर् उफजार् बपर्फ के पिघलने में काम आती है और बपर्फ की गुप्त उफष्मा के कारण, जब तक पूरी बपर्फ पिघल नहीं जाती, ताप मंे परिवतर्न नहीं होता और अध्िक गरम करने पर जल के ताप में वृि होती है। 18ण् यह तत्व एक धतु है। धतु के अन्य गुण हो सकते हैंμचमक, अघातवध्र्नीयता, उफष्मा चालकता और विद्युत चालकता। 19ण् 20ण् ़ 1 संयोजकता परमाणु व्रफमांक द्रव्यमान संख्या ग् 3 5 11 ल् 2 8 18 र् 3ए5 15 31 21ण् ;इद्धए प्याश के छिलके में कोश्िाका भ्िािा होती है और त्ठब् में कोश्िाका भ्िािा नहीं होती। 22ण् संकेतμजाइलम में वाहिनिकाएँ, वाहिनियाँ मृदूतक और जाइलम रेशे होते हैं। 23ण् स्पांजिला μ अगुहिक समुद्री ऐनीमोन μ ुअगहिक प्लैनेरिया μ अगुहिक यकृत पणार्भ कृमि μ ुअगहिक वुचेरेरिया μ वूफटगुहिक ऐस्केरिस μ वूफटगुहिक नेरीस μ प्रगुहिक वेंफचुआ μ प्रगुहिक वेंफद्रक बिच्छू μ प्रगुहिक पक्षी, मछलियाँ और घोड़ा μ प्रगुहिक कोश्िाकाद्रव्य 24.संकेतः वेंफद्रक 25जाइलम मृदूतक रेखांकन वेंफद्रक 26ण्;ंद्ध क्योंकि वेग परिवतिर्त नहीं हो रहा है, त्वरण का मान शून्य होगा। ;इद्ध आरेख से, वेग त्र 20 उ े.1 ;बद्ध े त्र चित्रा में परिब( क्षेत्रा 15 सेवंफड में तय की गयी दूरी े त्र न × ज त्र 20 × 15 त्र 300 उ 27ण् गेंद की वुफल उफजार् त्र उ × ह × ी त्र उ × 10 × 10 त्र 100 उ त्र 100 उ ज्ञह × उ2 ेदृ2 और ी का मान = 10 मीटर से - 1. लेेने पर उफजार्, जिससे यह पृथ्वी तल से गेंद पुनः उछलेगी = वुफल उफजार् का 60ः 60म्त्र × 100 उाह उ2 ेदृ2 100∴ उफँचाइर् जहाँ तक गेंद पुनः उछलेगी, म्ीत्रत्र 6उ उह× 28ण् आयाम ;उद्ध 29 संकेतμ यह एक जैव सूचक है तथा मोटर वाहनों से निकलने वाले ैव्2 प्रदूषक के प्रति संवेदनशील है। दिल्ली मंे मोटर वाहनों की संख्या बहुत अिाक है। इसीलिए यहाँ का पयार्वरण बहुत अध्िक प्रदूष्िात है। 30ण् लाइकेन चट्टानों को छोटे कणों में तोड़ने के लिए रासायनिक पदाथो± को निकालता है जिसके पफलस्वरूप मृदा का निमार्ण होता है। 31ण् ऐसी पफसल, जिसे किसी अन्य स्रोत से प्राप्त नए जीन को शामिल करके वांछित गुण प्राप्त करने हेतु विकसित किया गया हो, आनुवांश्िाकतः रूपांतरित ;ळडद्ध पफसल कहलाती है। ळड पफसल का एक उदाहरण बीटी कपास है, जिसे एक जीवाणु से नए जीन को शामिल कर कीट प्रतिरोध्क बनाया गया है। 32ण् कम वषार् वाले क्षेत्रों के किसानों को सुझाव दिए जाते हैं, किμ ;ंद्ध जलाभाव सहिष्णुता वाले और शीघ्र परिपक्व होने वाली किस्मों की पफसलों की खेती करें। ;इद्ध मृदा को अध्िक ह्यूमस की मात्रा से समृ( करें, क्योंकि इससे उसकी जलधरण करने की क्षमता बढ़ती है और वह लंबे समय तक जल को रोक सकती है। 33ण् कृष्िा प(तियों में उच्च निवेश उच्च उत्पादन देता है। इसका अथर् है कि अध्िक ध्न के निवेश से अिाक उत्पादन होता है। किसानों की आथ्िार्क दशा उन्हें विभ्िान्न प्रकार की खेती प(तियों और तकनीकों का उपयोग करने में सक्षम बनाती है। निवेश हेतु किसान की क्रय क्षमता पफसल उगाने के तरीकों और उत्पादन प(तियों को तय करती है। दीघर्उत्तरीय प्रश्न 34ण् एक मोल पेंचों का भार 2ण्475 ×1024ह त्र 2ण्475×1021 ाह पथ्ृवी का द्रव्यमान 5ण्98×10 24 ाह त्र त्र2ण्4×10 3 एक माले पचें ांे का द्रव्यमान 2ण्475 ×10 21ाह पृथ्वी का द्रव्यमान पेंचों के द्रव्यमान से 2ण्4 × 103 गुना है। पृथ्वी, एक मोल पेंचों से 2400 गुना भारी है। अथवा क्लोरेापिफल 6 ब्व्2 ़ 6भ्2व् ब्6़ 6व्2भ्12व्6सूयर् का पक्रश1 मोल ग्लूकोस के लिए 6 मोल जल की आवश्यकता होती है। 180 ह ग्लूकोस को ;6 × 18द्ध ह जल की आवश्यकता होती है। 108 1 ह ग्लूकोस को आवश्यकता होगी = ह जल की180108 18 ह ग्लूकोस को आवश्यकता होगी = × 18 ह जल की180 त्र 10ण्8 ह जल द्रव्यमान 10ण्8 ह त्रप्रयुक्त जल का आयतन त्र .3 त्र10ण्8 बउ3 घनत्व 1ह बउ 35ण् ;ंद्ध शरीर की वृि और परिवधर्न के लिए भोजन आवश्यक है। संतुलित आहार, प्रोटीन, काबोर्हाइड्रेट, वसा, खनिज, आदि पदाथो± के लिए उचित मात्रा में आवश्यक कच्ची सामग्री और उफजार् उपलब्ध् कराता है, जो स्वस्थ शरीर की उचित वृि और कायर् करने हेतु की क्षमता के लिए आवश्यक होती है। ;इद्ध स्वास्थ्य शारीरिक, मानसिक और सामाजिक रूप से भली - भाँति कायर् करने की एक अवस्था है। ये अवस्थाएँ आसपास की पयार्वरणीय परिस्िथतियों पर निभर्र करती हैं। उदहारण के लिए, यदि हमारे आसपास का क्षेत्रा गंदगी से भरा पड़ा है, तो संभव है कि हम संक्रमित या बीमार हो जाएँ। ;बद्ध जलवाहित रोग तथा कीटवाहक रुके हुए जल में पनपते हैं जो मानव जाति में रोग पैफलाते हैं। ;कद्ध मनुष्य विभ्िान्न समाजों तथा विभ्िान्न स्थानों जैसे गाँव, शहर में रहता है जो सामाजिक तथा भौतिक पयार्वरण अथार्त दोनों को अनुवूफल बनाने को निधार्रित करता है। व्यक्ितगत स्वास्थ्य के लिए सावर्जनिक स्वच्छता महत्वपूणर् है। अच्छे जीवन स्तर के लिए धन की आवश्यकता होती है। अच्छे स्वास्थ्य के लिए पौष्िटक भोजन की आवश्यकता होती है तथा इसके लिए हमें अिाक धनाजर्न करना होता है। रोगों के उपचार के लिए भी किसी व्यक्ित की आथ्िार्क स्िथति अच्छी होनी चाहिए। अथवा एड्स का विषाणुμ भ्प्टए जो शरीर में जननांगों अथवा रक्ताधन जैसे माध्यमों के द्वारा संपूणर् शरीर की लसीका ग्रंथ्िायों में पैफल जाता है। यह विषाणु शरीर के प्रतिरक्षातंत्रा को बुरी तरह नष्ट कर देता है। इस कारण शरीर अनेक मामूली संक्रमणों से लड़ने की क्षमता खो देता है। इससे मामूली सा जुकाम, निमोनिया अथवा मामूली सा आँत का संक्रमण गंभीर दस्त का रूप ले सकता है। रोग का प्रभाव बहुत गंभीर और जटिल हो सकता है और कभी - कभी यह एड्स के रूप में व्यक्ित की मृत्यु का कारण बन जाता है। अतः एड्स के कोइर् विशेष रोग लक्षण नहीं होते, परंतु इसका परिणाम जटिल रोगों और उनके लक्षणों के रूप में होता है। अतः इसे संलक्षण ;¯सड्रोमद्ध कहते हैं। 36ण् ;ंद्ध जड़त्व को उदाहरण के द्वारा समझाएँ। ;इद्ध हाँ, गेंदें रेलगाड़ी के विस्थापन की दिशा मंे लुड़कना प्रारंभ कर देेंगी। नहीं, वे एक ही चाल से गतिशील नहीं होगी, क्योंकि उनके द्रव्यमान ;जड़त्वद्ध भ्िान्न हैं। हलकी गेंद, भारी गेंद से अिाक वेग से गमन करेगी। अथवा ;ंद्ध हाँ, यह संवेग संरक्षण का उदाहरण नहीं है क्योंकि जब वस्तु पर कोइर् बाह्य बल कायर्रत नहीं होता है तो संवेग संरक्ष्िात रहता है। यहाँ इस प्रकरण में गेंद पर गुरुत्व बल कायर्रत है। 20 1 त्र;इद्ध उ1 त्र 20 ह त्र ाह1000 50 अ1 त्र 150 उ ेदृ1 उ2 त्र 2 ाह अत्र घ् उअ त्र उअ2फ 1122 1 ∴ × 150 त्र 2 × अ250 150 अ त्र त्र 1ण्5 उ ेदृ1 250 × 237ण् ;ंद्ध न्यूटन का गति का दूसरा नियम, थ् त्र उ × ं थ् त्र उह ळउ ड गुरुत्वाकषर्ण का सावर्त्रिाक नियम थ्त्र त्2 ळउड ळड∴उह त्र 2 एहत्र 2त्त् ;इद्ध हत्र ह और ह त्र हध्6म उपृथ्वी पर 15 ाह द्रव्यमान को उठाने हेतु लगाया जाने वाला बल, थ् त्र उ हण्त्र 15 ह छ ममअतः उसी बल से चंद्रमा पर उठाया जाने वाला द्रव्यमान, 15 ह उ त्र ध्उ त्रथ्ह त्र 90ाह हध् 6 अथवा ;ंद्ध हम जानते हैं कि पृथ्वी की भूमध्य रेखा पर श्हश् का मान ध््रुवों की अपेक्षा कम होगा। अतः भूमध्य रेखा पर ध््रुवों की तुलना में पैकेट मंद गति से गिरेंगे। अतः भूमध्य रेखा पर गिराया जाने वाला पैकेट हवा में अध्िक समय तक रहेगा। ;इद्ध सेब भी पृथ्वी को समान और विपरीत बल से अपनी ओर आकष्िार्त करता है। ;न्यूटन का तीसरा नियमद्ध ∴ उं हं त्र उम् हम् क्योंकि पृथ्वी के द्रव्यमान की तुलना में सेब का द्रव्यमान नगण्य होता है, अतः सेब मंे उत्पन्न त्वरण पृथ्वी में उत्पन्न त्वरण से बहुत अध्िक होगा। 38ण् ध्ूप के अवरक्त विकिरण काँच से गुजर जाते हैं और कार के भीतरी भाग को गरम कर देते हैं। कार की गद्देदार सीटों और भीतरी हिस्सों द्वारा उत्सजिर्त विकिरण काँच से बाहर नहीं निकल पाते, जिससे भीतर संग्रहित उफष्मा भीतर का ताप बढ़ा देती है। इसका कारण है कि सूयर् से आने वाली विकिरण छोटी तरंगदैघ्यर् की होती है और इसके लिए काँच अपारदशर्क होता है। अथवा जल प्रदूषण निम्नलिख्िात कारणों से हो सकता हैμ ;पद्ध अवांछित पदाथर् जैसे, पीड़कनाशी या अन्य विषैले पदाथो± का जल में मिलना। ;पपद्ध जलाशय में वाहितमल का सीध प्रवेश। ;पपपद्ध उफजार् संयंत्रों से निकला गरम जल जो तापमान में वृि करता है और जल में घुली हुइर् आॅक्सीजन की मात्रा घटाता है और इस प्रकार जलीय जीव मर जाते हैं। ;पअद्ध जलाशय में औद्योगिक बहिःस्राव और रेडियोएक्िटव पदाथो± का मिल जाना।जल प्रदूषण रोकने के लिए हम निम्नलिख्िात उपाय कर सकते हैंμ ;पद्ध सीवर लाइनें सीध्ी जलाशय से जुड़ी हुइर् नहीं होनी चाहिए। ;पपद्ध हमें अपना कचरा और घरेलू अपश्िाष्ट जलाशय में नहीं पेंफकना चाहिए। ;पपपद्ध जलाशयों में आविषालु यौगिक डालने पर रोक लगानी चाहिए। ;पअद्ध जलाशयों के असपास कपड़े नहीं धेने चाहिए इससे जलाशयों में अिाक मात्रा में अपमाजर्क पहुंच जाते हैं। ;अद्ध मृदा अपरदन रोकने के लिए नदी के किनारे वृक्ष लगाने चाहिए अन्यथा अपरदन के कारण जलाशयों में गाद ;सिल्टद्ध जम जाती है।

RELOAD if chapter isn't visible.