अध्याय 10 गुरुत्वाकषर्ण बहुविकल्पीय प्रश्न 1ण् चंद्रमा के पृष्ठ के निकट मुक्त रूप से गिरते विभ्िान्न द्रव्यमानों के दो पिंडोंμ ;ंद्ध के वेग किसी भी क्षण समान होंगे ;इद्ध के विभ्िान्न त्वरण होंगे ;बद्ध पर समान परिमाण के बल कायर् करेंगे ;कद्ध के जड़त्वों में परिवतर्न हो जाएँगे 2ण् गुरुत्वीय त्वरण का मानμ ;ंद्ध विषुवत वृत्त तथा ध््रुवों पर समान होता है ;इद्ध ध््रुवों पर न्यूनतम होता है ;बद्ध विषुवत वृत्त पर न्यूनतम होता है ;कद्ध ध््रुवों से विषुवत वृत्त की ओर बढ़ता है 3ण् दो ¯पडों के बीच गुरुत्वाकषर्ण बल थ् है। यदि दोनों ¯पडों के द्रव्यमान उनके बीच की दूरी को समान रखते हुए आध्े कर दिए जाएँ, तो गुरुत्वाकषर्ण बल हो जाएगाμ ;ंद्ध थ्ध्4 ;इद्ध थ्ध्2 ;बद्ध थ् ;कद्ध 2 थ् 4ण् कोइर् लड़का डोरी से बंध्े पत्थर को किसी क्षैतिज वृत्ताकार पथ में घुमा रहा है। यदि डोरी टूट जाए, तो वह पत्थरμ ;ंद्ध वृत्ताकार पथ में गति करेगा ;इद्ध वृत्ताकार पथ के वेंफद्र की ओर सरल रेखा के अनुदिश गति करेगा ;बद्ध वृत्ताकार पथ पर किसी सरल रेखीय स्पशीर् के अनुदिश गति करेगा ;कद्ध लड़के से दूर वृत्ताकार पथ के अभ्िालंबवत् सरल रेखा के अनुदिश गति करेगा 5ण् किसी ¯पड को बारी - बारी से विभ्िान्न घनत्वों के तीन द्रवों में रखा जाता है। वह ¯पड कए कतथा1 2 1 2 3 क घनत्वों के द्रवांे में क्रमशऋ ए तथा भाग को द्रव से बाहर रखते हुए तैरता है। घनत्वों3 911 7 के विषय में कौन - सा कथन सही है? ;ंद्ध क1झ क2झ क3 ;इद्ध क1झ क2ढ क3 ;बद्ध क1ढ क2झ क3 ;कद्ध क1ढ क2ढ क3 6ण् संबंध थ् त्र ळड उध्क2 में राश्िा ळ ;ंद्ध परीक्षण स्थल पर ह के मान पर निभर्र करती है ;इद्ध का उपयोग दो द्रव्यमानों में से एक पृथ्वी होने पर ही किया जाता है ;बद्ध पृथ्वी की सतह पर अिाकतम होता है ;कद्ध प्रकृति का सावर्त्रिाक नियतांक है 7ण् गुरुत्वाकषर्ण के नियम में गुरुत्वाकषर्ण बल ;ंद्ध केवल पृथ्वी तथा ¯बदु द्रव्यमान के बीच होता है ;इद्ध केवल सूयर् तथा पृथ्वी के बीच होता है ;बद्ध द्रव्यमान रखने वाले किन्हीं भी दो ¯पडों के बीच होता है ;कद्ध केवल दो आवेश्िात ¯पडों के बीच होता है 8ण् गुरुत्वाकषर्ण के नियम में राश्िा ळ का मानμ ;ंद्ध केवल पृथ्वी के द्रव्यमान पर निभर्र करता है ;इद्ध केवल पृथ्वी की त्रिाज्या पर निभर्र करता है ;बद्ध पृथ्वी के द्रव्यमान एवं त्रिाज्या दोनों पर निभर्र करता है ;कद्ध पृथ्वी के द्रव्यमान एवं त्रिाज्या पर निभर्र नहीं करता है 9ण् दो कण वुफछ दूरी पर रखे हैं। यदि दोनों कणों के द्रव्यमान दोगुने कर दिए जाएँ तथा इनके बीच की दूरी अपरिवतिर्त रखें, तो इनके बीच का गुरुत्वाकषर्ण बल 1 ;ंद्ध 4 गुना हो जाएगा ;इद्ध 4 गुना हो जाएगा 1 ;बद्ध 2 हो जाएगा ;कद्ध अपरिवतिर्त रहेगा 10ण् वायुमंडल पृथ्वी से जकड़ा हुआ हैμ ;ंद्ध गुरुत्व बल द्वारा ;इद्ध पवन द्वारा ;बद्ध बादलों द्वारा ;कद्ध पृथ्वी के चुंबकीय क्षेत्रा द्वारा 11ण् एकांक दूरी पर स्िथत दो एकांक द्रव्यमानों के बीच आकषर्ण बल कहलाता हैμ ;ंद्ध गुरुत्वीय विभव ;इद्ध गुरुत्वीय त्वरण ;बद्ध गुरुत्वीय क्षेत्रा ;कद्ध सावर्त्रिाक गुरुत्वीय नियतांक 65गुरुत्वाकषर्ण 12ण् त् त्रिाज्या की पृथ्वी के वेंफद्र पर किसी ¯पड का भारμ ;ंद्ध शून्य होता है ;इद्ध अनंत होता है ;बद्ध पृथ्वी के पृष्ठ पर भार का त् गुना होता है ;कद्ध पृथ्वी के पृष्ठ पर भार का गुना होता है1 त्2 13ण् किसी ¯पड का वायु में भार 10 छ है। जल मंे पूरा डुबाने पर इसका भार केवल 8 छ है। ¯पड द्वारा विस्थापित जल का भार होगाμ ;ंद्ध 2 छ ;इद्ध 8 छ ;बद्ध 10 छ ;कद्ध 12 छ 14ण् कोइर् लड़की 60 बउ लंबे, 40 बउ चैडे़ तथा 20 बउ उफँचे किसी बाॅक्स पर तीन ढंग से खड़ी होती है। बाॅक्स द्वारा लगाया गया दाबμ ;ंद्ध तब अध्िकतम होगा जब आधर लंबाइर् व चैड़ाइर् से बना है ;इद्ध तब अध्िकतम होगा जब आधर चैड़ाइर् व उफँचाइर् से बना है ;बद्ध तब अध्िकतम होगा जब आधर उफँचाइर् व लंबाइर् से बना है ;कद्ध उपरोक्त तीनों प्रकरणों में समान होगा 15ण् कोइर् सेब किसी वृक्ष से पृथ्वी पर पृथ्वी व सेब के बीच गुरुत्वाकषर्ण बल के कारण गिरता है। यदि पृथ्वी द्वारा सेब पर आरोपित बल का परिमाणथ्1 है तथा सेब द्वारा पृथ्वी पर आरोपित बल का परिमाण थ्है, तोμ2 ;ंद्ध थ्2 की तुलना में थ्1 बहुत अध्िक होता है ;कद्ध थ्की तुलना में थ्बहुत अध्िक होता है;बद्ध थ्की तुलना में थ्केवल थोड़ा अध्िक होता है;कद्ध थ्1 व थ्2 बराबर होते हैं 12 21 लघुउत्तरीय प्रश्न 16ण् सूयर् के चारों ओर किसी ग्रह की परिक्रमा करने के लिए आवश्यक अभ्िावेंफद्र बल का स्रोत क्या है? यह बल किन कारकों पर निभर्र करता है? 17ण् पृथ्वी पर, किसी उफँचाइर् से कोइर् पत्थर पृथ्वी के पृष्ठ के समांतर दिशा में पेंफका जाता है तथा उसी क्षण कोइर् अन्य पत्थर उसी उफँचाइर् से उफध्वार्ध्र नीचे गिराया जाता है। इनमें से कौन - सा पत्थर पृथ्वी पर पहले पहुँचेगा और क्यों? 18ण् मान लीजिए पृथ्वी का गुरुत्व बल अचानक शून्य हो जाता है, तो चंद्रमा किस दिशा में गति करना आरंभ कर देगा ;यदि उसे अन्य आकाशीय ¯पड प्रभावित न करेंद्ध? 66 प्रश्न प्रदश्िार्का

RELOAD if chapter isn't visible.