चैथा पाठ ओस हरी घास पर बिखेर दी हैं ये किसने मोती की लडि़याँ? कौन रात में गूँथ गया है ये उज्ज्वल हीरों की कडि़याँ? जुगनू से जगमग जगमग ये कौन चमकते हैं यों चमचम? नभ के नन्हें तारों से ये कौन दमकते हैं यों दमदम? लुटा गया है कौन जौहरी अपने घर का भरा खशाना?पत्तों पर, पूफलों पर, पग पग बिखरे हुए रतन हैं नाना। बड़े सबेरे मना रहा है कौन खुशी में यह दीवाली? वन उपवन में जला दी है किसने दीपावली निराली? जी होता, इन ओस कणों को अंजलि में भर घर ले आउँफ? इनकी शोभा निरख निरख कर इन पर कविता एक बनाउँफ। μ सोहनलाल द्विवेदी गूँथना - पिरोना रतन - रत्न उज्ज्वल - चमकता हुआ, उजला नाना - अनेक जुगनू - एक कीड़ा ;रात में उड़ने निराली - सुंदर, मनोहर पर इसकी दुम से रोशनी अं - दोनों हथेलियों को जलि निकलती हैद्ध मिलाने से बनने वाली नभ - आकाश, आसमान मुद्रा जौहरी - रत्नों की जाँच - परख करने जी - मन वाला शोभा - सौंदयर् खशाना - रफपया, सोना - चाँदी रखने निरख - निरख - देख - देखकर का स्थान, कोश, ध्नागार बहुमूल्य - कीमती, मूल्यवान 1.कविता से ;कद्ध कविता में रतन किसे कहा गया है और वे कहाँ - कहाँ बिखरे हुए हैं? ;खद्ध ओस कणों को देखकर कवि का मन क्या करना चाहता है? 2.कविता से आगे ;कद्ध पता करो कि सुबह के समय खुले स्थानों पर ओस की बूँदें वैफसे बन जाती हैं? इसे अपने श्िाक्षक को बताओ। ;खद्ध क्या ओस, कोहरा और वषार् में कोइर् संबंध् है? इसके बनने और होने के कारणों का पता लगाओ और उसे अपने ढंग से लिखकर श्िाक्षक को दिखाओ। ;गद्ध सूरज निकलने के वुफछ समय बाद ओस कहाँ चली जाती है? इसका उत्तर तुम अपने मित्रों, बड़ों, पुस्तकों और इंटरनेट की सहायता से प्राप्त करो और श्िाक्षक को बताओ। दूवार्ध्24 3.तुम्हारी कल्पना फ्इनकी शोभा निरख - निरख कर,इन पर कविता एक बनाउँफ।य् कवि ओस की सुंदरता पर एक कविता बनाना चाहता है। यदि तुम कवि के स्थान पर होते, तो कौन - सी कविता बनाते? अपने मनपसंद विषय पर कोइर् कविता बनाओ। 4 मौसम की बात ;कद्ध तुम्हारे विचार से यह किस मौसम की कविता हो सकती है? ;खद्ध तुम्हारे प्रदेश में कौन - कौन से मौसम आते हैं? उसकी सूची बनाओ। ;गद्ध तुम्हें कौन सा मौसम सबसे अध्िक पसंद है और क्यों? 5 अंजलि में फ्जी होता इन ओस कणों को अंजलि में भर घर ले आऊँय् कवि ओस को अपनी अंजलि में भरना चाहता है। तुम नीचे दी गइर् चीशों में से किन चीशों को अपनी अंजलि में भर सकते हो? सही ;3द्ध का चिÉ लगाओμ रेत ओस ध्ुआँ हवा पानी तेल लड्डू गेंद 6 उलट - पेफर फ्हरी घास पर बिखेर दी हैं ये किसने मोती की लडि़याँ?य् ऊपर की पंक्ितयों को उलट - पेफर कर इस तरह भी लिखा जा सकता हैμ फ्हरी घास पर ये मोती की लडि़याँ किसने बिखेर दी हैं?य् इसी तरह नीचे लिखी पंक्ितयों में उलट - पेफर कर तुम भी उसे अपने ढंग से लिखो। ;कद्ध फ्कौन रात में गँूथ गया है ये उज्ज्वल हीरों की कडि़याँ?य् ;खद्ध फ्नभ के नन्हें तारों में ये कौन दमकते हैं यों दमदम?य् ओसध्25 7.शब्दों की पहेली फ्ये उज्ज्वल हीरों की कडि़याँय् ऊपर की पंक्ित में उज्ज्वल शब्द में ‘ज’ वणर् दो बार आया है परंतु यह आध ;ज् द्ध है। तुम भी इसी तरह के वुफछ और शब्द खोशो। ध्यान रहे, उस शब्द में कोइर् एक वणर् ;अक्षरद्ध दो बार आया हो, मगर आध - आध। इस काम में तुम शब्दकोश की सहायता ले सकते हो। देखें, कौन सबसे अध्िक शब्द खोश पाता है। 8.कौन ऐसा नीचे लिखी चीशों जैसी वुफछ और चीशों के नाम सोचकर लिखोμ ;कद्ध जुगनू जैसे चमकीले ......................................;खद्ध तारों जैसे झिलमिल ......................................;गद्ध हीरों जैसे दमकते ......................................;घद्ध पूफलों जैसे सुंदर ......................................9.बूझो मतलब फ्जी होता, इन ओस कणों को अंजलि में भर घर ले आउँफय् ‘घर’ शब्द का प्रयोग हम कइर् तरह से कर सकते हैं। जैसेμ ;कद्ध वह घर गया। ......................................;खद्ध यह बात मेरे मन में घर कर गइर्। ......................................;गद्ध यह तो घर - घर की बात है। ......................................;घद्ध आओ, घर - घर खेलें। ......................................‘बस’ शब्द का प्रयोग कइर् तरह से किया जा सकता है। तुम ‘बस’ शब्द का प्रयोग करते हुए अपने मन से वुफछ वाक्य बनाओ। ;संकेतμबस, बस - बस, बस इतना साद्ध दूवार्ध्26 10.रूप बदलकर चमकμचमकनाμचमकानाμचमकवाना ‘चमक’ शब्द के वुफछ रूप ऊपर लिखे हैं। इसी प्रकार नीचे लिखे शब्दों का रूप बदलकर सही जगह पर भरो - दमक, सरक, बिखर, बन ;कद्ध शरा सा रगड़ते ही हीरे ने ....................................... शुरू कर दिया। ;खद्ध तुम यह कमीश किस दशीर् से ....................................... चाहते हो? ;गद्ध साँप ने ध्ीरे - ध्ीरे ....................................... शुरू कर दिया। ;घद्ध लकी को मूखर् ....................................... तो बहुत आसान है। ;घद्ध तुमने अब ख्िालौने ....................................... बंद कर दिए? ओसध्27

RELOAD if chapter isn't visible.