जयपुर से पत्रा श्िाक्षण बिंदु हम गए हैं / हमने देखा 1.पढ़ो और सुनो 2.पढो और समझो प्रणाम: पिता जी को प्रणाम। गुरू जी को प्रणाम। माता जी को प्र्रणाम। नमस्कार: चाचा जी को नमस्कार। भैया को नमस्कार। प्यार ः छोटे - भाइर् - बहनों को प्यार । 3.समान अथर्वाले शब्दों को रेखा खींचकर मिलाओ 5.तालिका के प्रत्येक भाग से शब्द चुनकर वाक्य बनाओ ;कद्ध;खद्ध 6. नमूने के अनुसार वाक्य बदलो नमूना हम रोश बाशार जाते हैं। हम कल बाशार गए। 1.बच्चे रोश बाजार जाते हैं। 2.शीला रोश नौ बजे सोती है। 3.सुरेश रोश सुबह पाँच बजे उठता है। 4.वह रोश टहलने जाता है। 7. प्रश्नों के उत्तर दो 1.यह पत्रा कहाँँ से आया है? 2.जयपुर में कौन - कौन से दशर्नीय स्थल हैं? 3.महेश ने आमेर में क्या - क्या देखा? 4.जयपुर की वेध्शाला का निमार्ण किसने किया? 5.कला संग्रह में क्या - क्या रखा हुआ है? 6.राजस्थान का विशेष व्यंजन क्या है? योग्यता विस्तार ऽ विद्याथीर् अपने किसी मित्रा/रिश्तेदार को बड़े दिन या दशहरे की छु‘ियों में आने का निमंत्राण देते हुए पत्रा लिखें और लिपफाप़्ाफा तैयार करें।़

RELOAD if chapter isn't visible.