18 मइर् ट्रेन के लंबे सप़फर के बाद हम देर रात को‘ायम पहुँचे। वलियम्मा का घर स्टेशन से बहुत दूर नहीं है। स्टेशन से हमने दो आॅटो - रिक्शाॅ किए और वलियम्मा के घर पहुँचे। तब तक मुझे इतनी नींद आ रही थी कि नहा कर, वुफछ खाए - पिए बिना ही, मैं सो गइर्। अभी मैं सोइर् ही थी कि अम्मा ने जगा दिया। पिफर हम तैयार हुए, अपना सामान उठाया और बस अंे के लिए निकल पडे़। अब वलियम्मा का पूरा परिवार भी हमारे साथ था। हम दस लोग थे और बहुत सारा सामान भी था। नानी के घर तक अप्पा ने कंडक्टर से सभी के लिए टिकट खरीदे और हम बस में चढ़ गए। हमंे बैठने की सीट मिल गइर्, पर बाद में बस में इतने लोग चढ़ गए कि बस ठसाठस भर गइर्। दो लोगों की सीट पर चार - चार लोगों को बैठना पड़ा! वुफछ लोगों को हमने भी अपनी सीटों पर बिठा लिया। काप़फी लंबा सप़फर था। बस जब आख्िारी स्टाॅप पर रुकी, तब तक मेरे पैर अकड़ गए थे। मुझसे खड़ा भी नहीं हुआ जा रहा था। मैं खुश थी कि आख्िारकार हम अम्मूमा के गाँव पहुँच ही गए। पर नहीं, सप़फर अभी भी बाकी था। बस ने हमें जहाँ उतारा, वहाँ एक तरप़फ पानी ही पानी था। अम्मा ने दूर पानी के पार इशारा किया, जहाँ अम्मूमा का घर था और कहा, फ्वो देखो! हमें वहाँ पहुँचना है।य् फ्पर हम वहाँ वैफसे पहुँचंेगे?य् मैंने सोचा। अभी मैं यह सोच ही रही थी कि पानी के पार वैफसे जाएँगे कि तभी एक बड़ी - सी नाव किनारे पर रुकी। अम्मा बोलीं, फ्लो, प़फरी आ गइर्।य् पैै़फरी में से बहुत सारे लोग उतरे। स्वूफल के बच्चे, औरतें, आदमी, सभी अपना - अपना सामान लिए थे। अम्मा ने बताया कि वहाँ पर पानी के दूसरी तरप़फ जाने के लिए केवल पै़फरी का ही इस्तेमाल होता है। जैसे ही प़ैफरी खाली हुइर्, चढ़ने वालों की भीड़ लग गइर्। सभी को चढ़ने से पहले किराया भरना था। देखते ही देखते प़ैफरी भर गइर् और पानी पर चल पड़ी। मैं तो रेलिंग के पास ही खड़ी आस - पास देखती रही। प़ैफरी तेशी से पानी पर पिफसल रही थी, जिससे आस - पास का पानी उछल रहा था। किनारे पर नारियल के पेड़ कतार में लगे थे। वहीं किनारे पर, कहीं लोग नहा रहे थे और कहीं मछली पकड़ रहे थे। वुफछ लोग कपड़े भी धे रहे थे। आस - पास सूरज ढलने से पहले ही प़ैफरी अपने ठिकाने ;टापूद्ध पर पहुँच गइर् और हम भी पहुँच गए, अम्मूमा के घर, इतने लंबे पर मशेदार सप़फर के बाद! झ् ओमना ट्रेन से उतरने के बाद कइर् वाहनों में बैठी। क्या तुम्हें उनके नाम याद हैं? झ् तुम किन - किन वाहनों में बैठे हो? झ् तुम्हें सबसे श्यादा मशा किस वाहन में सप़फर करने पर आया? झ् ओमना अहमदाबाद से 16 मइर् को चली थी। अम्मूमा के घर पहुँचने में उसे कितने घंटे लगे? झ् क्या तुम कभी लंबे सप़फर पर गए हो? कहाँ गए थे? झ् उस सप़फर पर तुम किन - किन वाहनों पर बैठे थे? उनके नाम लिखो। अध्यापक के लिएμकेरल के कइर् भागों में, एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए प़ैफरी और अन्य तरह की नावों का इस्तेमाल होता है। चचार् करो, ये क्यों प्रयोग होती हैं? तुम बच्चों से उनकी नाव की सवारी के बारे में भी पूछ सकते हो, जिसकी उन्होंने सवारी की थी। नानी के घर तक झ् तुम्हारे सप़फर में कितना समय लगा था? झ् ओमना के अप्पा ने ट्रेन, बस और प़ै़फर के लिए टिकट खरीदा। बताओफरी के सपऔर किन - किन वाहनों में जाने के लिए टिकट खरीदना पड़ता है? झ् वुफछ जगहों पर अंदर जाने के लिए टिकट खरीदना पड़ता है। क्या तुम ऐसी किसी जगह के बारे में जानते हो? उनके नाम लिखो। झ् रेल - टिकट देखो। नीचे दी गइर् बातों को टिकट में ढूँढ़कर, उन पर अलग - अलग रंगों से गोला लगाओ। आस - पास तुम टिकट देखकर और क्या - क्या बातें पता लगा सकते हो? लिखो। झ् झ् झ् रेलवे टाइम - टेबल से हमें बहुत - सी जानकारी मिलती है, जैसे ट्रेन किस स्टेशन पर किस समय पहुँचेगी, किस समय स्टेशन छोड़ेगी, कितनी दूरी तय करेगी, आदि। हम किसी भी रेलवे स्टेशन से रेलवे टाइम - टेबल खरीद सकते हैं। ओमना ने जिस ट्रेन में सप़फर किया, उसके टाइम - टेबल का वुफछ अंश देखो, समझो और नीचे दिए गए प्रश्नों के उत्तर दो। 6335 नगरकोल एक्सप्रैस व्रफम स्टेशन पहुँचने स्टेशन छोड़ने दूरी दिन स का नाम का समय का समय ;कि.मी.द्ध 1 गाँध्ीधम μ 5ः15 0 1 2 अहमदाबाद 11ः30 11ः50 301 1 3 वड़ोदरा 14ः03 14ः10 401 1 4 सूरत 16ः15 16ः20 530 1 5 वलसाड़ 17ः23 17ः25 598 1 6 भ्िावंडी रोड 21ः10 21ः12 772 1 7 मडगाँव 07ः35 07ः45 1509 2 8 उदिपी 12ः06 12ः18 1858 2 9 कोशीकोड 17ः45 17ः50 2165 2 10 त्रिाचूर 21ः05 21ः10 2280 2 11 एरनावुफलम टाउन 22ः35 22ः40 2356 2 12 को‘ायम 23ः50 23ः55 2418 2 13 त्रिावेंद्रम सेंट्रल 03ः05 03ः10 2578 3 14 नगरकोइल 04ः45 00ः00 2649 3 नानी के घर तक झ् तालिका में उन सभी स्टेशनों के नाम पर गोला लगाओ, जिनका नाम ओमना की डायरी में आया है। झ् ट्रेन किस स्टेशन से चली थी? झ् ट्रेन अहमदाबाद स्टेशन पर कितनी देर रुकी? झ् ट्रेन सप़फर के कौन - से दिन मडगाँव पहुँची? झ् सुनील और एन कोशीकोड स्टेशन पर उतरे और ओमना को‘ायम स्टेशन पर। कोशीकोड स्टेशन के कितने घंटे बाद को‘ायम स्टेशन आता है? झ् ट्रेन ने शुरू के स्टेशन से अंत तक कितने किलोमीटर का सप़फर पूरा किया? झ् ओमना ने ट्रेन से कितने किलोमीटर का सप़फर पूरा किया? झ् क्या तुम एक डायरी रखना पसंद करोगे? एक डायरी या काॅपी लो। डायरी में रोश किसी एक सप्ताह तक की खास बातें और उनके बारे में अपने विचार लिखो। अपनी और अपने दोस्तों की डायरी मिलकर पढ़ो। अध्यापक के लिएμहो सके तो रेलवे टाइम - टेबल बच्चों को दिखाएँ। उसे पढ़ने में उनकी मदद करें। रेलवे टाइम - टेबल से गण्िात और भूगोल की बहुत सारी मशेदार वि्रफयाएँ की जा सकती हैं।

RELOAD if chapter isn't visible.