मन के भोले - भाले बादल झब्बर - झब्बर बालों वाले गुब्बारे से गालों वाले लगे दौड़ने आसमान में झूम - झूम कर काले बादल। वुफछ जोकर - से तोंद पुफलाए वुफछ हाथी - से सूँड़ उठाए वुफछ उँफटों - से वूफबड़ वाले वुफछ परियों - से पंख लगाए आपस में टकराते रह - रह शेरों से मतवाले बादल। वुफछ तो लगते हैं तूप़्ाफानी वुफछ रह - रह करते शैतानी वुफछ अपने थैलों से चुपके झर - झर - झर बरसाते पानी नहीं किसी की सुनते वुफछ भी ढोलक - ढोल बजाते बादल। 1 रह - रहकर छत पर आ जाते पिफर चुपके ऊपर उड़ जाते कभी - कभी िाद्दी बन करके बाढ़ नदी - नालों में लाते पिफर भी लगते बहत भले हैंुमन के भोले - भाले बादल। कल्पनाथ ¯सह

RELOAD if chapter isn't visible.