कारण प्राप्त धरातलीय जल का केवल लगभग 690 घन किमी. ;32»द्ध जल का ही उपयोग किया जा सकता है। नदी में जल प्रवाह इसके जल ग्रहण क्षेत्रा के आकार अथवा नदी बेसिन और इस जल ग्रहण क्षेत्रा में हुइर् वषार् पर निभर्र करता है। आप कक्षा 11 की पुस्तक ‘भारत: भौतिक पयार्वरण’ में पढ़ चुके हैं कि भारत में वषार् में अत्यिाक स्थानिक विभ्िान्नता पाइर् जाती है और वषार् मुख्य रूप से मानसूनी मौसम संकेदि्रत है। आप पुस्तक में पढ़ चुके हैं कि भारत में वुफछ नदियाँ, जैसे - गंगा, ब्रह्मपुत्रा और सिंधु के जल ग्रहण क्षेत्रा बहुत बड़े हैं। गंगा, ब्रह्मपुत्रा और बराक नदियों के जलग्रहण क्षेत्रा में वषार् अपेक्षावृफत अिाक होती है। ये नदियाँ यद्यपि देश के वुफल क्षेत्रा के लगभग एक - तिहाइर् भाग पर पाइर् जाती हैं जिनमें वुफल धरातलीय जल संसाधनों का 60 प्रतिशत जल पाया जाता है। दक्ष्िाणी भारतीय नदियों, जैसे - गोदावरी, वृफष्णा और कावेरी में वाष्िार्क जल प्रवाह का अिाकतर भाग काम में लाया जाता है लेकिन ऐसा ब्रह्मपुत्रा और गंगा बेसिनों में अभी भी संभव नहीं हो सका है। भौम जल संसाधन देश में, वुफल पुनः पूतिर्योग्य भौम जल संसाधन लगभग 432 घन कि.मी. है। तालिका 6.1 दशार्ती है कि वुफल पुनः पूतिर्योग्य भौम जल संसाधन का लगभग 46 प्रतिशत गंगा और ब्रह्मपुत्रा बेसिनों में पाया जाता है। उत्तर - पश्िचमी प्रदेश और दक्ष्िाणी भारत के वुफछ भागों के नदी बेसिनों में भौम जल उपयोग अपेक्षावृफत अिाक है। देश में राज्यवार संभावित भौम जल के उपयोग को चित्रा 6.3 में दशार्या गया है। पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और तमिलनाडु राज्यों में भौम जल का उपयोग बहुत अिाक है। परंतु वुफछ राज्य जैसे छत्तीसगढ़, ओडिशा, केरल आदि अपने भौम जल क्षमता का बहुत कम उपयोग करते हैं। गुजरात, उत्तर प्रदेश, बिहार, त्रिापुरा और महाराष्ट्र अपने भौम जल संसाधनों का मध्यम दर से उपयोग कर रहे हैं। यदि वतर्मान प्रवृिा जारी रहती है तो जल के माँग की आपूतिर् करने की आवश्यकता होगी। ऐसी स्िथति विकास तालिका 6.1: भारत में बेसिन के अनुसार भौम जल क्षमता और उपयोग ;घन कि.मी./वषर्द्ध व्रफसं बेसिन का नाम भौम जल संसाधन वुफल पुनः पूतिर्योग्य उपयोग ;»द्ध भौम जल का स्तर 1 ब्राह्मी और बैतरणी 4ण्05 8ण्45 2 ब्रह्मपुत्रा 26ण्55 3ण्37 3 चंबल तथा सहायक नदियाँ 7ण्19 40ण्09 4 कावेरी 12ण्3 55ण्33 5 गंगा 170ण्99 33ण्52 6 गोदावरी 40ण्65 19ण्53 7 सिंधु 26ण्49 77ण्71 8 वृफष्णा 26ण्41 30ण्39 9 कच्छ और सौराष्ट्र के साथ लूनी नदी 11ण्23 51ण्14 10 मद्रास और दक्ष्िाण तमिलनाडु 18ण्22 57ण्68 11 महानदी 16ण्46 6ण्95 12 मेघना ;बराक व अन्यद्ध 8ण्52 3ण्94 13 नमर्दा 10ण्83 21ण्74 14 उत्तर - पूवर् की नदियाँ 18ण्84 17ण्2 15 पेन्नार 4ण्93 36ण्6 16 सुवणर्रेखा 1ण्82 9ण्57 17 तापी 8ण्27 33ण्05 18 पश्िचमी घाट की नदियाँ 17ण्69 22ण्88 वुफल योग 431ण्42 31ण्97 ड्डोत: जल संसाधन मंत्रालय, भारत सरकार, नइर् दिल्ली, 2006 ीजजचरूधधूतउपदण्दपबण्पदधतमेवनतबमधहूतमेवनतबम1ण्ीजउ जल - संसाधन 61

RELOAD if chapter isn't visible.