रासायनिक समन्वय तथा एकीकरण 22.2 मानव अंतःड्डावी तंत्रा अंतःड्डावी ग्रंथ्िायां और शरीर के विभ्िान्न हाइपोथैलेमसभागों में स्िथत हामोर्न ड्डवित करने वाले पिनियल ऊतक/कोश्िाकाएं मिलकर अंतःड्डावी तंत्रा पीयूष ग्रंथ्िा का निमार्ण करते हैं। पीयूष ग्र्रंथ्िा, पिनियल ग्रंथ्िा, थाइराॅयड, एड्रीनल, अग्नाशय, थायराॅइड एवं पैराथायराॅइड, थाइमस और जनन ग्र्रंथ्िायां पैराथायराॅइड ;नर में वृषण और मादा में अंडाशयद्ध हमारे शरीर के सुनियोजित अंतःड्डावी अंग हैं ;चित्रा 22.1द्ध। इनके अतिरिक्त कुछ अन्य अंग जैसे कि जठर - आंत्राीय मागर्, यकृत, अग्न्याशयवृक्क, हृदय आदि भी हामोर्न का उत्पादन करते हैं। मानव शरीर की सभी प्रमुख अध्िवृक्क ग्रंथ्िा अंतःड्डावी ग्रंथ्िायों तथा हाइपोथैलेमस की संरचना और उनके कायर् का संक्ष्िाप्त विवरण अगले भाग में दिया गया है। अंडाशय 22.2.1 हाइपोथैलेमस ;मादा मेंद्ध वृषण ;नर मेंद्ध जैसा कि आप जानते हैं कि हाइपोथैलेमस, डाइनसिपेफलॅान ;अग्रमस्ितष्क पश्चद्ध का आधर भाग है और यह शरीर के विविध् प्रकार के कायोर्ं का नियंत्राण करता है। इसमें चित्रा 22.1 अंतःस्रावी ग्रंथ्िायों की स्िथति हामोर्न का उत्पादन करने वाली कइर् तंत्रिाकाड्डावी कोश्िाकाएं होती हैं जिन्हें न्यूक्ली कहते हैं। ये हामोर्न पीयूष ग्रंथ्िा से स्रवित होने वाले हामोर्न के संश्लेषण और ड्डाव का नियंत्राण करते हैं। हाइपोथैलेमस से ड्डावित होने वाले हामोर्न दो प्रकार के होते हैं - मोचक हामोर्न ;जो पीयूष ग्रंथ्िा से हामोर्न से ड्डाव को प्रेरित करते हैंद्ध और निरोध्ी हामोर्न ;जो पीयूष ग्रंथ्िा से हामोर्न को रोकते हैंद्ध। उदाहरणाथर्ः हाइपोथैलेमस से निकलने वाला गोनेडोट्रोपिफन मुक्तकारी हामोर्न के ड्डाव पीयूष ग्रंथ्िा में गोनेडोट्रोपिफन हामोर्न के संश्लेषण एवं स्राव को प्रेरित करता है। वहीं दूसरी ओर हाइपोथैलेमस से ही स्रवित सोमेटोस्टेटिन हामोर्न, पीयूष ग्रंथ्िा से वृि हामोर्न के स्राव का रोध्क है। ये हामोर्न हाइपोथैलेमस की तंत्रिाकोश्िाकाओं से प्रारंभ होकर, तंत्रिाकाक्ष होते हुए तंत्रिाका सिरों पर मुक्त कर दिए जाते हैं। ये हामोर्न निवाहिका परिवहन - तंत्रा द्वारा पीयूष ग्रंथ्िा तक पहुंचते हैं और अग्र पीयूष ग्रंथ्िा के कायोर्ं का नियमन करते हैं। पश्च पीयूष ग्रंथ्िा का तंत्रिाकीय नियमन सीध्ेे हाइपोथैलेमस के अध्ीन होता है ;चित्रा 22.2द्ध। रासायनिक समन्वय तथा एकीकरण मेलानोसाइट प्रेरक हामोर्न, मेलानोसाइट्स ;मेलानीन युक्त कोश्िाकाओंद्ध पर ियाशील होता है तथा त्वचा की वणर्कता का नियमन करता है। आॅक्सीटाॅसिन हमारे शरीर की चिकनी पेश्िायों पर कायर् करता है और उनके संकुचन को प्रेरित करता है। मादाओं में यह प्रसव के समय गभार्शयी पेश्िायों के संकुचन और दुग्ध् ग्रंथ्िायों से दूध् के ड्डाव को प्रेरित करता है। वेसोप्रेसिन मुख्यतः वृक्क की दूरस्थ संवलित नलिका से जल एवं आयनों के पुनरावशोषण को प्रेरित करता है, जिससे मूत्रा के साथ जल का ”ास ;डाइयूरेसिसद्ध कम हो। अतः इसे प्रतिमूत्राल हामोर्न या एंटी - डाइयूरेटिक हामोर्न ;।क्भ्द्ध भी कहते हैं।14 22.2.3 पिनियल ग्रंथ्िा पिनियल ग्रंथ्िा अग ्रमस्ितष्क के पृष्ठीय ;ऊपरीद्ध भाग में स्िथत होती है। पिनियल ग्रंथ्िा मेलेटोनिन हामोर्न ड्डावित करती है। मेलेटोनिन हमारे शरीर की दैनिक लय ;24 घंटेद्ध के नियमन का एक महत्वपूणर् कायर् करता है। उदाहरण के लिए यह सोने - जागने के चक्र एवं शरीर के तापक्रम को नियंत्रिात करता है। इन सबके अतिरिक्त मेलेटोनिन उपापचय, वणर्कता, मासिक ;आतर्वद्ध चक्र प्रतिरक्षा क्षमता को भी प्रभावित करता है। 22.2.4 थाइराॅइड ग्रंथ्िा थाइराॅइड ग्रंथ्िा श्वास नली के दोनों ओर स्िथत दो पालियों से बनी होती है ;चित्रा 22.3द्ध। दोनों पालियाँ संयोजी ऊतक के पतली पल्लीनुमा इस्थमस से जुड़ी होती है। प्रत्येक थाइराॅइड ग्रंथ्िा पुटकों और भरण ऊतकों की बनी होती हंै। प्रत्येक थाइराॅइड पुटक एक गुहा को घेरे पुटक कोश्िाकाओं से निमिर्त होता है। ये पुटक कोश्िाकाएं दो हामोर्न, टेट्राआयडोथाइरोनीनस ;ज्4द्ध अथवा थायरोक्सीन तथा ट्राइर्आइडोथायरोनीन ;ज्3द्ध का संश्लेषण करती हैं। थाइराॅइड हामोर्न के सामान्य दर से संश्लेषण के लिए आयोडीन आवश्यक है। हमारे भोजन में आयोडीन की कमी से अवथाइराॅइडता एवं थाइराॅइड ग्रंथ्िा की वृि हो जाती है, जिसे साधरणतया गलगंड कहते हैं। गभार्वस्था के समय अवथाइराॅइडता के कारण गभर् में विकसित हो रहे बालक की वृि विकृत हो जाती है। इससे बच्चे की अवरोध्ित वृि ;िटेनिज्मद्ध या वामनता तथा मंदबुि, त्वचा असामान्यता, मूक बध्िरता आदि हो जाती हैं। वयस्क स्ित्रायों में स्वर नली थायराॅइड श्वास नली ;अद्ध पैराथायराॅइड थायराॅइड ;बद्ध चित्रा 22.3 थायराॅइड की स्िथति की आरेखी प्रस्तुति ;अद्ध पृष्ठ दृश्य ;बद्ध अध्र दृश्य जीव विज्ञान अवथाइराइडता मासिक चक्र को अनियमित कर देता है। थाइराॅइड ग्रंथ्िा वफे वैफंसर अथवा इसमें गँाठों की वृि से थाइराॅइड हारमोर्न के संश्लेषण की दर असामान्य रूप से अिाक जाती है। इस स्िथति को थाइराॅइड अतिियता कहते हैं, जो शरीर की कायिर्की पर प्रतिकूल प्रभाव डालती है। थाइराॅइड हामोर्न आधरीय उपापचयी दर के नियमन में मुख्य भूमिका निभाते हैं। ये हामोर्न लाल रक्त कण्िाकाओं के निमार्ण की प्रिया में भी सहायता करते हैं। थाइराॅइड हामोर्न काबोर्हाइड्रेट्, प्रोटीन और वसा के उपापचय ;संश्लेषण और विखंडनद्ध को भी नियंत्रिात करते हैं। जल और विद्युत उपघट्यों वफा नियमन भी थाइराॅइड हामोर्न प्रभावित करते हैं। थाइराॅइड ग्रंथ्िा से एक प्रोटीन हामोर्न, थाइरोवैफल्िसटोनिन ;ज्ब्ज्द्ध का भी ड्डाव होता है जो रक्त में वैफल्िसयम स्तर को नियंत्राण करता है।15 22.2.5 पैराथाइराॅइड ग्रंथ्िा मानव में चार पैराथाइराॅइड ग्रंथ्िायाँ, थाइराॅइड ग्रंथ्िा की पश्च सतह पर स्िथत होती है। थाइराॅइड ग्रंथ्िा की दो पालियों पर प्रत्येक में एक जोड़ी पैराथाइराॅइड ग्रंथ्िायँा पाइर् जाती हैं ;चित्रा 22.3बीद्ध, जो पैराथाइराॅइड हामोर्न ;च्ज्भ्द्ध नामक एक पेप्टाइड हामोर्न का ड्डाव करती हंै। पीटीएच का ड्डाव रक्त के साथ परिसंचारित कैल्िसयम आयन के द्वारा नियमित होता है। पैराथाइराॅइड हामोर्न रक्त में ब्ं2़ के स्तर को बढ़ाता है। पी टी एच अस्िथयों पर कायर् कर अस्िथ अवशोषण ;विघटन/विखनिजनद्ध प्रक्रम में सहायता करता है। पी टी एच वृक्क नलिकाओं से ब्ं2़ के पुनरावशोषण तथा पचित भोजन से ब्ं2़ के अवशोषण को भी प्रेरित करता है। अतः यह स्पष्ट है कि पी टी एच एक अतिवैफल्िसयम रक्तता हामोर्न ;ीलचमतबंसमउपब ीवतउवदमद्ध है, क्योंकि यह रक्त में ब्ं2़ स्तर को बढ़ाता है। यह थाइरोकैल्िसटोनिन के साथ मिलकर, यह शरीर में ब्ं2़ स्तर को बढ़ाता है। टी सी टी के साथ मिलकर, यह शरीर में ब्ं2़ का संतुलन बनाए रखने में महत्वपूणर् भूमिका निभाता है। 22.2.6 थाइमस ग्रंथ्िा थाइमस ग्रंथ्िा महाध्मनी के उदर पक्ष पर उरोस्िथ के पीछे पेफपफड़ों के बीच स्िथत एक पालीयुक्त संरचना है। थाइमस ग्रंथ्िा प्रतिरक्षा तंत्रा के विकास में महत्वपूणर् भूमिका निभाती है। यह ग्रंथ्िा थाइमोसिन नामक पेप्टाइड हामोर्न का ड्डाव करती है। थाइमोसिन टी - लिंपफोसाइट्स के विभेदीकरण में मुख्य भूमिका निभातेे हैं जो कोश्िाका माध्य प्रतिरक्षा के लिए महत्वपूणर् है। इसके अतिरिक्त थाइमोसिन तरल प्रतिरक्षा ;ीनउवतंस पउउनदपजलद्ध के लिए प्रतिजैविक के उत्पादन को भी प्रेरित करते हैं। बढ़ती उम्र के साथ थाइमस का अपघटन होने लगता है, पफलस्वरूप थाइमोसिन का उत्पादन घट जाता है। इसी के परिणामस्वरूप वृ(ों में प्रतिरक्षा प्रतििया कमजोर पड़ जाती है। रासायनिक समन्वय तथा एकीकरण अध्िवृक्क वल्वुफटअध्िवृक्क ग्रंथ्िा अध्िवृक्क मध्यांश वृक्क ;बद्ध;अद्ध चित्रा 22.4 ;अद्ध वृक्क एवं अध्िवृक्क ग्रंथ्िा ;बद्ध अध्िवृक्क ग्रंथ्िा के दो भागों का अनुप्रस्थकाट प्रदशर्न 22.2.7 अध्िवृक्क गं्रथ्िा हमारे शरीर में प्रत्येक वृक्क के अग्र भाग में एक स्िथत एक जोड़ी अध्िवृक्क गं्रथ्िायां होती हैं, ;चित्रा 22.4 अद्ध। ग्रंथ्िायां दो प्रकार के ऊतकों से निमिर्त होती हैं। गं्रथ्िा के बीच में स्िथत ऊतक अध्िवृक्क मध्यांश और बाहरी ओर स्िथत ऊतक अध्िवृक्क वल्कुट कहलाता है ;चित्रा 22.4बीद्ध। अध्िवृक्क मध्यंाश दो प्रकार के हामोर्न का स्राव करता है जिन्हें एडिªनलीन या एपिनेÚीन और नाॅरएंडिªनलीन या नारएपिनेÚीन कहते हैं। इन्हें सम्िमलित रूप में कैटेकाॅलमीनस कहते हैं। एडिªनलीन और नाॅरएडिªनलीन किसी भी प्रकार के दबाव या आपातकालीन स्िथति में अध्िकता मेें तेजी से स्रावित होते हैं, इसी कारण ये आपातकालीन हामोर्न या यु( हामोर्न या फ्रलाइट हामोर्न कहलाते हैं। ये हामोर्न सियता ;तेजीद्ध, आँखों की पुतलियों के पफैलाव, रोंगटे खडे़ होना, पसीना आदि को बढ़ाते हैं। दोनों हामोर्न हृदय की ध्ड़कन, हृदय संकुचन की क्षमता और श्वसन दर को बढ़ाते हैं। वैफटेकोलएमीन, ग्लाइकोजन के विखंडन को भी प्रेरित करते हैं, जिसके परिणामस्वरूप रक्त में ग्लूकोज का स्तर बढ़ जाता है। साथ ही ये लिपिड और प्रोटीन के विखंडन को भी प्रेरित करते हैं। अध्िवृक्क वल्कुट को तीन परतों में विभाजित किया जा सकता है - जोना रेटिक्यूलेरिस ;आंतरिक परतद्ध, जोना पफेसिक्यूलेटा ;मध्य परतद्ध और जोना ग्लोमेरूलोसा ;बाहरी परतद्ध। अध्िवृक्क वल्कुट कइर् हामोर्न का ड्डाव करता है - जिन्हें सम्िमलित रूप से कोटिर्कोस्टीराॅइड हामोर्न या कोटिर्काॅइड कहते हैं, जो काॅटिर्कोस्टीराॅइड काबोर्हाइड्रेट के उपापचय में संलग्न होते हैं ग्लूकोकाटिर्काॅइड कहलाते हैं। हमारे शरीर में, काॅटिर्साॅल मुख्य ग्लूकोकाॅटिर्काॅइड है। जल और विद्युत अपघट्यों का संतुलन करने वाले काॅटिर्काॅस्टीराइड, मिनरलोकाॅटिर्काॅइड्स कहलाते हैं। हमारे शरीर में एल्डोस्टीराॅन मुख्य मिनरलोकाॅटिर्काइड है।

RELOAD if chapter isn't visible.