गण्िात कक्षा ग्प् समय: 3 घंटा पूणा±क:100 प्रश्नपत्रा के विभ्िान्न आयामों के लिए अंकों का भारण ;ॅमपहीजंहमद्ध निम्नलिख्िात हैः 1ण् प्रश्नों के प्रकार ;ज्लचमद्ध अंकों का भारण ;पद्ध वस्तुनिष्ठ प्रश्न रू ;10द्ध 10 × 1 त्र 10 ;पपद्ध लघुउत्तरीय रू ;12द्ध 12 × 4 त्र 48 ;पपपद्ध दीघर्उत्तरीय रू ;7द्ध 7 × 6 त्र 42 वुफल प्रश्न रू ;29द्ध 100 2ण् विभ्िान्न विषयों ;जवचपबेद्ध का भारण क्रमांक विषय ;जवचपबेद्ध वस्तुनिष्ठ प्रश्न ;डण्ब्ण्फण्द्ध लघुउत्तरीय ;ैण्।द्ध दीघर्उत्तरीय ;स्ण्।द्ध योग 1ण् समुच्चय . 1;4द्ध . 1;4द्ध 2ण् संबंध एवं पफलन . . 1;6द्ध 1;6द्ध 3ण् त्रिाकोणमितीय पफलन 2;2द्ध 1;4द्ध 1;6द्ध 4;12द्ध 4ण् गण्िातीय आगमन का सि(ांत . 1;4द्ध . 1;4द्ध 5ण् समिश्र संख्याएँ और द्विघात समीकरण 2;2द्ध 1;4द्ध .. 3;6द्ध 6ण् रैख्िाक असमिकाएँ 1;1द्ध 1;4द्ध . 2;5द्ध 7ण् क्रमचय और संचय . 1;4द्ध . 1;4द्ध 8ण् द्विपद प्रमेय . . 1;6द्ध 1;6द्ध 9ण् अनुक्रम तथा श्रेणी . 1;4द्ध . 1;4द्ध 10ण् सरल रेखाएँ 2;2द्ध 1;4द्ध 1;6द्ध 4;12द्ध 11ण् शंवुफ परिच्छेद . . 1;6द्ध 1;6द्ध 12ण् त्रिाविमीय ज्यामिति का परिचय . 1;4द्ध . 1;4द्ध 13ण् सीमा और अवकलज 1;1द्ध 1;4द्ध . 2;5द्ध 14ण् गण्िातीय विवेचन 1;1द्ध 1;4द्ध . 2;5द्ध 15ण् सांख्ियकी . 1;4द्ध 1;6द्ध 2;10द्ध 16ण् प्रायिकता 1;1द्ध . 1;6द्ध 2;7द्ध योग 10;10द्ध 12;48द्ध 7;42द्ध 29;100द्ध प्रतिदशर् ;ैंउचसमद्ध प्रश्नपत्रा गण्िात कक्षा ग्प् सामान्य अनुदेश ;पद्ध प्रश्नपत्रा में तीन भाग ।ए ठ तथा ब् हैं। प्रत्येक भाग का प्रत्येक प्रश्न अनिवायर् है। ;पपद्ध भाग। ;वस्तुनिष्ठ प्रश्नद्ध में 1 अंक वाले 10 प्रश्न हैं। ;पपपद्ध भाग ठ ;लघुउत्तरीयद्ध में 4 अंक वाले 12 प्रश्न हैं। ;पअद्ध भाग ;दीघर्उत्तरीयद्ध में 6 अंक वाले 7 प्रश्न हैं। भाग . । 11 1ण् यदि जंद θ त्र 2 तथा जंद φ त्र 3ए तो;θ ़ φद्ध का मान क्या है? 2ण् समिश्र संख्या्र के लिए कोणांक्र ़ कोणांक ्र ए ्र ≠ 0 का मान क्या है? 3ण् तीन सवर्सम पासे पेंफके जाते हैं। उनमें से प्रत्येक पर एक ही संख्या प्राप्त होने की प्रायिकता क्या है? प्रश्न संख्या 4 और 5 में रिक्त स्थानों की पूतिर् कीजिएः 4ण् रेखा 2ग ़ 3ल दृ 6 त्र 0 का ग.अक्ष पर अंतःखण्ड ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण् है। 1बवे ग 5ण् सपउ − 2 का मानण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण्ण् के बराबर है।ग→0 ग प्रश्न संख्या 6 और 7 में बताइए कि प्रदत्त कथन सत्य है या असत्य हैः 1 6ण् ग ़≥2ए ∀झ ग 0 ग 7ण् रेखाएँ 3ग ़ 4ल ़ 7 त्र 0 और 4ग ़ 3ल ़ 5 त्र 0 एक दूसरे पर लम्ब हैं। प्रश्न संख्या 8 तथा 9 में दिए चार विकल्पों में से सही विकल्प चुनिएः 8ण् समीकरण बवे2 θ ़ ेपदθ ़ 1 त्र 0ए का हल निम्नलिख्िात में से किस अंतराल में स्िथत हैः ⎛ ππ⎞ π π ⎞ 35 ⎞ 57 ⎞⎛ 3 ⎛ππ⎛ππ;।द्ध ⎜− ए⎟ ;ठद्ध ⎜ ए⎟ ;ब्द्ध ⎜ ए ⎟ ;क्द्ध ⎜ ए ⎟⎝ 44 ⎠⎝44 ⎠⎝44 ⎠⎝44 ⎠ प्रश्नपत्रा का प्रारूप 319 9ण् यदि ्रत्र 2 ़ 3प, तो्र⋅ ्रका मान ;।द्ध 7 ;ठद्ध8 ;ब्द्ध 2 − 3प ;क्द्ध 1 10ण् कथन फ्यदि कोइर् संख्या 6 से भाज्य है, तो वह 3 से भाज्य है।य् का प्रतिधनात्मक कथन क्या है? भाग . ठ 11ण् यदि।′∪ ठ त्र न्ए तो समुच्चयों के बीजगण्िात के प्रयोग से ;द्वाराद्ध सि( कीजिए कि। ⊂ ठए जहाँ प्रतीक।′ समुच्चय। के पूरक को तथा न् सावर्त्रिाक समुच्चय को निदिर्ष्ट करते हैं। 1 13 12ण् यदि बवे गत्र तथा बवे लत्र 14 ए जहाँ गएलन्यून कोण हैं, तो सि( कीजिए कि7 गदृ लत्र 60°ण् 13ण् गण्िातीय आगमन के सि(ांत का प्रयोग करते हुए सि( कीजिए कि सभी द∈ छ के लिए 23द दृ 1ए 7 से भाज्य है। 14ण् ्रत्र दृ 4 ़ प43 को ध््रुवीय रूप ;चवसंत वितउद्ध में लिख्िाए। 15ण् रैख्िाक असमिका निकाय 3गदृ 7 झ 2 ;गदृ 6द्ध और 6 दृ ग झ 11 दृ2गको हल कीजिए तथा हल को संख्या रेखा पर निरूपित कीजिए। इबबंइ ़़ ़16ण् यदि ं़ इ़ ब≠ 0 और एए समांतर श्रेणी ;।ण्च्ण्द्ध में हैं, तो सि( कीजिएंइब 111कि, एएभी समांतर श्रेणी में हैं।ंइब17ण् गण्िात के किसी प्रश्नपत्रा मंे 10 प्रश्न हैं, जो दो भागों, भाग प् तथा भाग प्प् में विभाजित हैं। इनभागों में से प्रत्येक भाग में 5 प्रश्न है। किसी विद्याथीर् को प्रत्येक भाग में से कम से कम दो प्रश्नचुनकर वुफल 6 प्रश्न हल करने हैं। एक विद्याथीर् प्रश्नों का चयन कितने प्रकार से कर सकता है? 18ण् उस रेखा का समीकरण ज्ञात कीजिए जो बिंदु ;μ3, μ2द्ध से होकर जाती है तथा गदृअक्ष एवं ल.अक्ष पर 4: 3 के अनुपात में अंतः खण्ड काटती है। 19ण् च्;0ए 0ए 0द्ध और फ;4ए दृ1ए दृ2द्ध को मिलाने वाले रेखाखंड 1ः 2 के अनुपात मंे बा“य रूप से विभाजित करने वाले बिंदु त् के निदेर्शांक ज्ञात कीजिए और सत्यापित ;अमतपलिद्ध कीजिए कि बिंदु च् रेखा खण्ड त्फ का मध्य बिंदु है। 3 − ग 20ण् ;िगद्ध त्र कागके सापेक्ष, प्रथम सि(ांत से अवकलन कीजिए।34 ग़ 21ण् विरोधोक्ित वििा से सत्यापित कीजिए कि चत्र 3 एक अपरिमेय संख्या है। 22ण् निम्नलिख्िात आँकड़ों के लिए माध्य के सापेक्ष माध्य विचलन ज्ञात कीजिएः गप 10 30 50 70 90 पि 4 24 28 16 8 भाग ब् 23ण् मान लीजिए कि ;िगद्ध त्र ग2 तथा ह;गद्ध त्र ग )णेत्तर वास्तविक संख्याओं के समुच्चय में परिभाष्िात, दो पफलन है। निम्नलिख्िात ज्ञात कीजिएः ि⎛⎞;पद्ध ; ि़ हद्ध ;4द्ध ;पपद्ध ; िदृ हद्ध ;9द्ध ;पपपद्ध ;हिद्ध ;4द्ध ;पअद्ध ⎜⎟;9द्ध ह⎝⎠ ;ेपद 7 ग ़ेपद5 द्ध ़;ेपद 9 ग ़ेपद3 द्ध गग24ण् सि( कीजिए कि त्रजंद 6 ग ;बवे7 ग ़बवे5 द्ध ़;बवे 9 ग ़बवे3 द्ध गग 3⎛ग 3 ⎞10 25ण् ⎜−2 ⎟के प्रसार मंे प्रारम्भ से चैथा पद तथा अंत से पाँचवा पद ज्ञात कीजिए।⎝3 ग ⎠26ण् एक रेखा इस प्रकार है कि, रेखाओं 5गदृ ल ़ 4 त्र 0 तथा 3ग़ 4ल दृ 4 त्र 0के मध्य स्िथत इसका अंतःखंड, बिन्दु ;1, 5द्ध पर समद्विभाजित होता है। रेखा का समीकरण ज्ञात कीजिए। 22 27ण् दीघर्वृत्त ग ़ल त्र1 के दीघर् एवं लघु अक्षों की लम्बाइयाँ, नाभ्िायों के निदेर्शांक, शीषर्,169 144 उत्केन्द्रता तथा नाभ्िालंब जीवा की लम्बाइर् ज्ञात कीिजए। 28ण् निम्नलिख्िात आँकड़ों के लिए, माध्य, प्रसरण और मानक विचलन ज्ञात कीजिएः 29ण् इस बात की प्रायिकता क्या है किः ;पद्ध किसी सामान्य वषर् ;लीप वषर् के अतिरिक्तद्ध में 53 रविवार हैं।;पपद्ध किसी लीप वषर् में 53 शुक्रवार हैं।वगर् - अंतराल 30 . 40 40 . 50 50 . 60 60 . 70 70 . 80 80 . 90 90 .100 बारंबारता 3 7 12 15 8 3 2 ;पपपद्ध किसी लीप वषर् में 53 रविवार और 53 सोमवार हैं। प्रश्नपत्रा का प्रारूप 321 अंकदेय योजना ;स्कीमद्ध गण्िात कक्षा ग्प् भाग . । प्र. सं उत्तर अंक π 1ण् 4 1 2ण् शून्य 1 1 3ण् 36 1 4ण् 3 1 1 5ण् 2 1 6ण् सत्य 1 7ण् असत्य 1 8ण् क् 1 9ण् । 1 10ण् यदि कोइर् संख्या 3 से भाज्य नहीं है, तो वह 6 से भाज्य नहीं है। 1 भाग . ठ 11ण् ठ त्र ठ ∪φ त्र ठ ∪ ;। ∩ ।′द्ध1 त्र ;ठ ∪ ।द्ध ∩ ;ठ ∪ ।′द्ध त्र ;ठ ∪ ।द्ध ∩ ;।′∪ ठद्ध त्र ;ठ ∪ ।द्ध ∩ न् ;प्रदत्त हैद्ध1 1 त्रठ ∪ । 2 1⇒ । ⊂ ठण् 2 1 14 312ण् बवे ग त्र ⇒ ेपद ग त्र 1बवे − 2 ग त्र1 −त्र 7 49 7 1 13 169 3 बवे ल त्र 14 ⇒ ेपद ल त्र 1 −त्र 31 196 14 1 बवे;ग दृ लद्ध त्र बवेग बवेल ़ ेपदग ेपदल 2 1 ⎛⎞13 33 31⎛⎞4 ⋅त्र 1त्र ⎜⎟⎜⎟़ 7 ⎝⎠14 714 ⎝⎠ 2 π 1⇒ ग दृ ल त्र 32 1 13ण् मान लीजिए कि, च्;दद्ध रू श्23द दृ 1 संख्या 7 से भाज्य हैश्2 1 च्;1द्ध त्र 23 दृ 1 त्र 8 दृ 1 त्र 7ए जो 7 से भाज्य है ⇒ च्;1द्ध सत्य है 2 मान लीजिए कि, च्;ाद्ध सत्य है, अथार्त्श्23ा दृ 1ए 7 से भाज्य है,श् ∴ 23ा दृ 1 त्र 7ंए ं ∈ र् 1 ज्ञात है कि 23; ा ़ 1द्ध दृ 1 त्र23ा ण् 23 दृ 1 1 1 त्र;23ा दृ 1द्ध 8 ़ 7 त्र 7ं ण् 8 ़ 7 त्र 7;8ं ़ 1द्ध 2 1⇒ च्;ा ़ 1द्ध सत्य है, अतः च्;दद्ध सत्य है ∀द∈ छ 2 1 14ण् मान लीजिए कि दृ 4 ़ प 4 3 त्र त ;बवेθ ़ प ेपदθद्ध 2 1⇒त बवेθ त्रदृ 4ए त ेपदθ त्र 43 ⇒ त2 त्र 16 ़ 48 त्र 64 ⇒ त त्र 8ण् 1 2 1π 2πजंदθ त्रदृ3 ⇒ θ त्र π दृ त्र 1 33 2 प्रश्नपत्रा का प्रारूप 323 ⎛ 2π 2π⎞ 1∴ ्रत्र दृ 4 ़ प43त्र 8 ⎜बवे ़पेपद ⎟⎝ 33 ⎠ 2 15ण् प्रदत्त ;दी हुइर्द्ध असमिकाएँ निम्नलिख्िात हैंः 3गदृ 7 झ 2;गदृ 6द्ध ण्ण्ण् ;पद्ध और 6 दृ ग झ 11 दृ 2गण्ण्ण् ;पपद्ध ;पद्ध⇒ 3गदृ 2गझ दृ 12 ़ 7 या गझ दृ5 ण्ण्ण् ;।द्ध 1 ;पपद्ध⇒ दृग़ 2ग झ 11 दृ 6 या गझ 5 ण्ण्ण् ;ठद्ध 1 ;।द्ध तथा ;ठद्ध से प्रदत्त निकाय का हल गझ 5 है। 1 1 इबबंइ ़़़ 16ण् दिया है कि एए समांतर श्रेणी ;।ण्च्ण्द्ध में है।ंइ ब इब बं ़़ 1 ∴1़़ए1 ़ ए1 ़ ंइ भी समांतर श्रेणी में हैं। 1 ंइ ब 2 ंइबंइबंइब ़़ ़़ ़़ ⇒ एए समांतर श्रेणी में हैं।ंइब 1 क्योंकिए ं़ इ़ ब≠ 0 111 1⇒ एएभी समांतर श्रेणी में है। 1ंइब2 17ण् संभावित चयन निम्नलिख्िात हैंः चयन भाग प् भाग प्प् ;पद्ध 24 ;पपद्ध 33 1द्व;पपपद्ध 4 2 ∴ प्रश्नों के चयन के वुफल प्रकार 155 5555 त्र ;ब् ×ब् ़ब् ×ब् ़ब् ×ब् द्ध 12 4 33 4 2 2 त्र10 × 5 ़ 10 × 10 ़ 5 × 10 त्र 200 18ण् मान लीजिए किग.अक्ष तथाल.अक्ष पर अंतःखण्ड क्रमशः 4ंतथा 3ंहैं। गल∴रेखा का समीकरण ़त्र1 है4ं 3ं या 3ग़ 4लत्र 12ं बिंदु ;दृ3ए दृ2द्धए इस रेखा पर स्िथत है ⇒ 12ंत्र दृ17 अतः रेखा का समीकरण 3ग़ 4ल़ 17 त्र 0 है। 19ण् मान लीजिए कि त् के निदेर्शांक ;गए लए ्रद्ध हैं। 1;4द्ध −2;0द्ध त्र−4∴गत्र 12− 1; 1द्ध 2;0द्ध−− त्र1लत्र 12− 1; 2द्ध 2;0द्ध−− ्रत्र 12 त्र2 ∴ त् के निदेर्शांक ;दृ 4ए 1ए 2द्ध हैं।− ⎛− ़ 441 −12 −2⎞पुनःफत् का मध्य बिंदु ⎜ एए ⎠⎟है, अथार्त् ;0ए 0ए 0द्ध है⎝ 2 22 अतः सत्यापित हो गया। 3 −ग 3;गगद्ध− ़Δ 20ण् ;िगद्ध त्र इसलिए ;िग़ Δगद्ध त्र34ग ़Δ गद्ध़ 34; ़ ग 3 गग 3−−Δ −गसपउ −; ़Δगद्ध − ;द्ध Δ→ग 04 ़ गगि ़ ि;गद्ध त्र सपउ त्र गि 34ग़Δ ग 34 Δ→ गग 0 ΔΔग ;3 गगद्ध;34द्ध;34 −़ ग 4 गद्ध ;3 −−Δ ़ ग ़Δ −गद्धत्र सपउ ग 0 Δ ़Δ ़4द्ध Δ→ ;द्ध;3 ग ़4ग 4 गद्ध ;3 ग 1 1 2 1 2 1 1 2 1 1 2 1 2 111 1 1 2 1 1 2 प्रश्नपत्रा का प्रारूप 325 9 ़12 ग− ग−4ग23 ग 4गग 93 −12 ग़4ग2 −12 ग 43 −Δ− Δ−़ ग Δ़ गΔग त्र सपउ त्र ग 0 ;द्ध;3 Δ़4ग़Δ 4 गद्ध ;3 गΔ→ ग ़4द्ध 1 15 ग 15−Δ −सपउ त्र त्र त्र 21Δ→0 ;द्ध;3 ग ़4ग 4 गद्ध ;3 ़4द्ध गग Δ ़Δ ग ;3 ़4द्ध 1 21ण् मान लीजिए कि चअसत्य है, अथार्त् ्चसत्य है, अथार्त्, 3 एक परिमेय संख्या है। 2 ∴ ऐसे दो धन पूणा±कों ंतथा इका अस्ितत्व है कि, ं 13 त्र ए जहाँ ंऔर इअसहभाज्य ;बवचतपउमद्ध संख्याएँ हैंइ 2 ⇒ ं2 त्र 3इ2 ⇒ 3ए ं2 को विभाजित करता है⇒ 3ए ंको विभाजित करता है 1 ∴ ंत्र 3बजहाँ बएक धन पूणा±क है, ∴ 9ब2 त्र 3इ2 ⇒ इ2 त्र 3ब2 ⇒ 3ए इको भी विभाजित करता है 1 ∴ 3ए ंतथा इका एक समापवतर्क ;बवउउवद ंिबजवतद्ध है, जो एक विरोधोक्ित है क्योंकि ंए इअसहभाज्य संख्याएँ हैं। 1 अतः फ्चरू 3 एक अपरिमेय संख्या हैय् सत्य है। 22ण् गपरू 10 30 50 70 90 1 पिरू 4 242816 8 ∴ ∑त्रि80 2पगिरू 40 720 1400 1120 720 ∴ गित्र4000 1पप ∑पप1 द्य कद्य त्रद्य गगद्यरू40 20 0 20 40 ∴ माध्य त्र 50 2पप− द्यि कद्य160 480 0 320 320 ∴ ∑पद्य द्य 1280 1रू कित्र पप प1280 ∴ माध्य विचलनत्र त्र16 180 भाग . ब् 23ण् ;़ि हद्ध ;4द्ध त्र ;ि4द्ध ़ ह;4द्ध त्र ;4द्ध2 ़ 4 त्र 16 ़ 2 त्र 18 ;ि हद्ध ;9द्ध त्र ;ि9द्ध दृ ह;9द्ध त्र ;9द्ध2 दृ 9 त्र 81 दृ 3 त्र 78 ;ण्ि हद्ध ;4द्ध त्र ;ि4द्ध ण् ह;4द्ध त्र ;4द्ध2ण् ;4द्ध त्र ;16द्ध ;2द्ध त्र 32 2ि⎛⎞ ;ि9द्ध ;9द्ध 81 ⎜⎟;9द्ध त्र त्र त्रत्र27 ह⎝⎠ह;9द्ध 93 24ण् ेपद 7ग़ ेपद 5गत्र 2 ेपद 6गबवेग ेपद 9ग़ ेपद 3गत्र 2 ेपद 6गबवे 3ग बवे 7ग़ बवे 5गत्र 2 बवे 6गबवेग बवे 9ग़ बवे 3गत्र 2 बवे 6गबवे 3ग 2 ेपद 6 गबवे ग़2ेपद 6 गबवे 3 ग ∴ बायाँ पक्ष त्र 2 बवे 6 गबवे ग़2 बवे 6 गबवे 3 ग ेपद 6 ग;बवे 3 ग़बवे गद्ध ेपद 6 ग त्र त्र बवे 6 ग;बवे3 ग़बवे गद्ध बवे 6 ग त्र जंद 6ग द दतत25ण् ज्त़1 त्र ब्तग −⋅लका प्रयोग करने पर ⎛⎞7 ⎛⎞ 33ग −3 ज्4 त्र10ब्3 ⎜⎟⎝⎠⋅⎜ ⎟⎝ ⎠ 23 ग 10ण्9ण्8 1 4015 15त्र − ⋅⋅ ग त्र− ग 3ण्2ण्1 34 27 अंतिम पद से 5वाँ पद त्र ;11 दृ 5 ़ 1द्ध त्र प्रारम्भ से 7वाँ पद 1 1 2 1 1 2 1 1 2 1 1 2 1 1 1 1 1 2 1 1 2 1 1 1 1 प्रश्नपत्रा का प्रारूप 327 43ग 310 ⎛⎞⎛⎞6 ∴ ज्7 त्र ब्6 ⎜⎟⎜⎟⋅ 1 3 ग 2⎝⎠⎝⎠ 210ण्9ण्8ण्7 3 त्र ⋅त्र 1890 14ण्3ण्2ण्1 1 26ण् मान लीजिए कि अभीष्ट, रेखा 5ग दृ ल ़ 4 त्र 0 को;ग1ए ल1द्ध पर तथा रेखा 3ग ़ 4ल दृ 4 त्र 0 को;ग2ए ल2द्ध पर प्रतिच्छेद करती है। ∴ 5ग1 दृ ल1 ़ 4 त्र 0 ⇒ल1 त्र 5ग1 ़ 4 43ग−23ग ़ 4ल दृ 4 त्र 0 ⇒ल त्र 2224 ⎛ 43−ग2 ⎞ 1∴ ;ग1ए 5ग1 ़ 4द्ध तथा ⎜ग2ए ⎟प्रतिच्छेद बिंदु है 2⎝ 4 ⎠−2ग1 ़ग2 43ग 5ग 4़़ ∴ 2 त्र1 तथा 41 1त्र5 2 1 ⇒ ग1 ़ ग2 त्र 2 तथा 20ग1 दृ 3ग2 त्र 20 2 26 20हल करने पर, ग1 त्र ए ग2 त्र 123 23 2228 1 ∴ ल1 त्र ल2 त्र 23ए23 2 222 −5 ∴ अभीष्ट रेखा का समीकरण ल दृ 5 त्र 23 ;ग −1द्ध है 126 −1 23 1 या 107ग दृ 3ल दृ 92 त्र 0 है 2 प्रश्नपत्रा का प्रारूप 329 29ण् ;पद्ध किसी सामान्य वषर् में दिनों की वुफल संख्या त्र 365 त्र 52 सप्ताह ़ 1 दिन 1 1 ∴ च्;53 रविवारद्ध त्र 7 1 ;पपद्ध किसी लीप वषर् में दिनों की वुफल संख्या त्र 366 त्र 52 सप्ताह ़ 2 दिन 1 ∴ यह दो दिन, सोमवार एवं मंगलवार, मंगलवार एवं बुधवार, बुधवार एवं शनिवार, शनिवार एवं रविवार या रविवार एवं सोमवार हो सकते हैं। 2 1∴ च्;53 रविवारद्ध त्र 7 2 1 1 ;पपपद्ध च्;53 रविवार और 53 सोमवारद्ध त्र 7 ;पप सेद्ध 12 टिप्पणी

RELOAD if chapter isn't visible.