लेन - देनों का अभ्िालेखन .2 4 अध्िगम उद्दे}य इस अध्याय के अध्ययन के उपरांतः ऽ विश्िाष्ट उद्देश्य वाली पुस्तकों की आवश्यकता का उल्लेख कर पाएंगे। ऽ रोकड़ बही में लेन - देनों का अभ्िालेखन कर उनकी खतौनी खाता बही में कर पाएंगे। ऽ खुदरा रोकड़ बही तैयार कर पाएंगे। ऽ विश्िाष्ट उद्देश्य वाली पुस्तकों में लेन - देन का अभ्िालेखन कर उनकी खतौनी खातों में कर पाएंगे। ऽ विभ्िान्न खातों को संतुलित कर पाएंगे। अध्याय 3 में आपने सीखा कि व्यापारिक लेन - देनों को सवर्प्रथम रोजनामचे में प्रविष्ट किया जाता है तदुपरांत उसकी खतौनी खाता बही में की जाती है। एक छोटा व्यापारी संभवतः सारे लेन - देनों को एक ही पुस्तक - रोजनामचे में अभ्िालिख्िात कर सकता है। परंतु जब व्यवसाय का विस्तार हो जाता है तो लेन - देनों की संख्या में भी वृि हो जाती है ऐसे में सभी सौदों की रोजनामचा प्रविष्िट एक बोझिल कायर् हो जाएगा। इसलिए व्यावसायिक लेन - देनों के पफुतीर्ले, दक्ष व विशु( अभ्िालेखन के लिए रोजनामचे का वगीर्करण विश्िाष्ट रोजनामचों में कर दिया गया है। कइर् व्यापारिक सौदों की प्रकृति पुनरावृति की होती है। इसलिए उन्हें आसानी से इन विश्िाष्ट रोजनामचों में अभ्िालिख्िात किया जा सकता है। क्योंकि इस प्रत्येक रोजनामचे को उस विश्िाष्ट लेन - देन के लिए ही बनाया जाता है। उदाहरणाथर् सभी रोकड़ संबंधी सौदों के लिए एक पृथक पुस्तक उधर बिक्री सौदों के लिए पृथक व उधर खरीद के लेन - देनों का अभ्िालेखन एक अलग पुस्तक में किया जा सकता है। इन विशष्ट रोजनामचों को दैनिक पुस्तवेंफ अथवा सहायक पुस्तवेंफ कहा जाता है। वह लेन - देन जिनका अभ्िालेखन किसी सहायक पुस्तक में नहीं होता उसवफो अन्य रोजनामचे में प्रविष्ट किया जाता है जिसे मुख्य रोजनामचा कहते हैं। लेखांकन कायर् में इन विश्िाष्ट रोजनामचों का प्रयोग न केवल समय की बचत करता है बल्िक श्रम के विभाजन में भी सहायक है। इस अध्याय में हम निम्न विश्िाष्ट उद्देश्य पुस्तकों की चचार् करेंगेः 1ण् रोकड़ बही 2ण् क्रय ;रोजनामचाद्धपुस्तक 3ण् क्रय वापसी ;रोजनामचाद्धपुस्तक 4ण् विक्रय ;रोजनामचाद्धपुस्तक 5ण् विक्रय वापसी ;रोजनामचाद्धपुस्तक 6ण् मुख्य रोजनामचा 4ण्1 रोकड़ बही रोकड़ बही वह पुस्तक है जिसमें नकद प्राप्ितयों व भुगतानों से संबंध्ित सभी लेन - देनों का अभ्िालेखन किया जाता है। इसे अवध्ि विशेष में नकद अथवा बैंकस्थ रोकड़ के प्रारंभ्िाक शेष से आरंभ किया जाता है। साधरणतः यह प्रति मास बनाइर् जाती है। यह एक लोकपि्रय पुस्तक है इसलिए व्यापार चाहे छोटा हो या बड़ा, संस्था लाभाजर्न के उद्देश्य वाली हो या गैर लाभकारी सभी रोकड़ बही अवश्य बनाते हैं। यही वह पुस्तक है जो रोजनामचा व खाता - बही दोनों के उद्देश्य पूणर् करती है। क्योंकि रोकड़ बही में लेन - देनों की प्राथमिक प्रविष्िट की जाती है। इसलिए इसे मूल प्रविष्िट की बही भी कहते हंै। प्रायः यह प्रथा है कि जब रोकड़ बही रखी जाती है तो पिफर रोकड़ संबंध्ित लेन - देनों का न हो तो रोजनामचे में ही लेखा किया जाता है और न ही रोकड़ व बैंकस्थ रोकड़ के लिए अन्य कोइर् खाता ही बनाया जाता है। 4ण्1ण्1 एक स्तंभीय रोकड़ बही एक स्तंभीय रोकड़ बही में व्यापार के नकद संबंध्ित सभी सौदों को कालक्रमानुसार ;तिथ्िानुसारद्ध अभ्िालिख्िात किया जाता है, अथार्त् यह नकद प्राप्ितयों तथा भुगतानों का पूणर् प्रलेख है। जब व्यापार द्वारा सभी लेन - देन केवल नकद ही किए जाते हैं तो उस स्िथति में एक स्तंभीय रोकड़ बही बनाइर् जाती है। एक स्तंभीय रोकड़ बही का प्रारूप चित्रा 4ण्1 में प्रदश्िार्त किया गया है। पृ. सं. .................रोकड़ बही नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु चित्रा 4ण्1ः एक स्तंभीय रोकड़ बही का प्रारूप इस रोकड़ बही में लेन - देनों का अभ्िालेखन आगे एक उदाहरण द्वारा स्पष्ट किया गया है। मै. रूपा ट्रेडसर् के लेन - देनों का ध्यानपूवर्क अवलोकन कर देखें कि इनका अभ्िालेखन किस प्रकार किया गया है। तिथ्िा 2005 विवरण राश्िा ;रु.द्ध नवम्बर 01 हस्तस्थ रोकड़ 30ए000 04 गुरमीत द्वारा प्राप्त नकद 12ए000 08 बीमा की वाष्िार्क किस्त का भुगतान 6ए000 13 पफनीर्चर का क्रय 13ए800 16 माल का नकद विक्रय 28ए000 17 मुदित से माल नकद खरीदा 17ए400 20 स्टेशनरी का क्रय 1ए100 24 रुकमणी को रोकड़ पूणर् भुगतान 12ए500 27 कमल को नकद माल बेचा 18ए200 30 मासिक किराए का भुगतान किया 2ए500 30 वेतन का भुगतान किया 3ए500 30 बैंक में नकद जमा करवाए 8ए000 रूपा टेªडसर् रोकड़ बही नाम जमा तिथ्िा विवरण ब.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण ब.पृ.सं राश्िा रु 2005 01 नवंबर 04 नवंबर 16 नवंबर 27 नवंबर 01 दिसंबर शेष आ/ला गुरमीत विक्रय विक्रय शेष आ/ला 30ए000 12ए000 28ए000 18ए200 2005 08 नवंबर 13 नवंबर 17 नवंबर 20 नवंबर 24 नवंबर 30 नवंबर 30 नवंबर 30 नवंबर 30 नवंबर बीमा पफनीर्चर क्रयस्टेशनरीरुकमणीकिरायावेतनबैंकशेष आ/ले 6ए000 13ए800 17ए400 1ए100 12ए500 2ए500 3ए500 8ए000 23ए400 88ए200 88ए200 23ए400 एक स्तंभीय रोकड़ बही की खतौनी जैसा कि चित्रा 4ण्1 से स्पष्ट है कि रोकड़ बही का बाँया पक्ष रोकड़ की प्राप्ितयों को दशार्ता है तथा दांया पक्ष नकद भुगतानों को इसलिए रोकड़ बही के नाम पक्ष में दशार्ए गए सभी खातों को खाता बही में क्रमशः जमा किया जाएगा क्योंकि उनका संबंध् नकद की प्राप्ित से है। इसलिए हमारे उदाहरण में गुरमीत से प्राप्त नकद, रोकड़ बही में नाम पक्ष में लिखने का तात्पयर् गुरमीत से नकद प्राप्त करना है। खाता बही में गुरमीत के खाते के जमा पक्ष में खतौनी की जाएगी। बिल्कुल इसी प्रकार रोकड़ बही के जमा पक्ष में लिखे गए खातों को खाता बही में नाम पक्ष में लिखा जाएगा क्योंकि उनका संबंध् रोकड़ के भुगतान से है। अब ध्यान दीजिए कि खाता बही में अन्य प्रविष्िटयों की खतौनी किस प्रकार हुइर् है। रूपा टेªडसर् की पुस्तवेंफ गुरमीत का खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 04 नवंबर रोकड़ 12ए000 विक्रय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 16 नवंबर 27 नवंबर रोकड़ रोकड़ 28ए000 18ए200 बीमा खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 08 नवंबर रोकड़ 6ए000 लेन - देनों का अभ्िालेखन . 2 101 पफनीर्चर खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 13 नवंबर रोकड़ 13ए800 विक्रय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 17 नवंबर रोकड़ 17ए400 स्टेशनरी खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 20 नवंबर रोकड़ 1ए100 रुकमणी का खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 24 नवंबर रोकड़ 12ए500 किराया खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 नवंबर रोकड़ 2ए500 102 लेखाशास्त्रा - वित्तीय लेखांकन वेतन खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 नवंबर रोकड़ 3ए500 बैंक खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 नवंबर रोकड़ 8ए000 4.1.2 द्विस्तंभीय रोकड़ बही इस प्रकार की रोकड़ ंेत्य्रक पक्ष में राश्िा के लिए दो - दो स्तंभ होते हैं। आजकल अध्िकतर बहीमपेव्यापारिक संगठनों में बैंक संबंध्ी लेन - देनों की संख्या कापफी बड़ी संख्या में होती है। कइर् बार तो यह प्रयास भी होता है कि सभी प्राप्ितयों अथवा भुगतानों को बैंेक के माध्यम से ही किया जाए। इसलिए व्यवसायी बैंक में चालू खाता खोलते हैं। इस खाते पर बैंक द्वारा कोइर् ब्याज नहीं दिया जाता बल्िक अपनी सेवाओं के बदले वह व्यापारी से कुछ शुल्क वसूल करता है जिसे बैंक प्रभार/बैंक शुल्क के नाम से जाना जाता है। बैंक में रोकड़/चेक जमा कराने के लिए एक प्रपत्रा/पफामर् भरना पड़ता है। जिसे जमा पचीर् कहते हैं। ;चित्रा 4ण्2द्ध जिसका प्रतिपणर् बैंक जमा अध्िकारी अपने हस्ताक्षर मुदि्रत कर जमाकतार् को रसीद के रूप में वापस लौटा देता है। बैंक खाता धरक को रकम निकालने/आहरित के लिए खाली चेक भी जारी करता है। ;चित्रा 4ण्3द्ध खाता धरक जिस भी व्यक्ित अथवा व्यापार को भुगतान करना चाहता है। चेक के च्ंल जव के आगे बने खाली स्थान पर उसका नाम लिख देता है। चेक के प्रारूप में धरक ;ठमंतमतद्ध शब्द मुदि्रत होता है, जिसका अथर् है कि भुगतान हेतु जिस व्यक्ित का नाम चेक में लिखा है उसे किया जाए अथवा चेक के धरक को। यदि धरक ;ठमंतमतद्ध शब्द को काट दिया जाता है, तो इसका अथर् है कि भुगतान केवल उसी व्यक्ित को किया जाएगा जिसका नाम चेक में लिखा है अथवा उसके द्वारा आदेश्िात व्यक्ित को समुचित छानबीन के बाद। सामान्यतः चेक को व्यवहार में रेखांकित किया जाता है। रेखांकित चेक का भुगतान उस व्यक्ित को बैंक के काउन्टर पर नहीं किया जाता। इसका भुगतान बैंक के माध्यम से ही खाते में किया जाता है। एक चेक को रेखांकित तब माना जाता है जब चेक के मुख्यपृष्ठ पर बांयीं ओर दो समानान्तर रेखाएँ खीच दी जाती हैं। विभ्िान्न प्रकार के रेखांकन अलग - अलग तरह से चेक को सुरक्षा प्रदान करते हैं जिन्हें आगे चित्रा ;4ण्4द्धमें देखा जा सकता है। चित्रा 4ण्2 रू जमा पचीर् का प्रारूप यदि किसी चेक को ।ध्ब च्ंलमम वदसल रेखांकित किया गया है तो उसमें लिखी गइर् राश्िा को केवल उसी व्यक्ित के खाते में जमा किया जाएगा जिसका नाम चेक में लिखा गया है। जब दो समानान्तर रेखाओं के बीच किसी बैंक विशेष का नाम लिखा गया हो तो इसे विश्िाष्ट रेखांकन कहा जाता है क्योंकि उस स्िथति में चेक का भुगतान उस व्यक्ित के विशेष बैंक ;जिसका नाम लिखा हैद्ध वाले खाते में ही होगा। चित्रा 4ण्3 रू चेक का प्रारूप सामान्य व्यवहार में ऐसा प्रचलन बहुत कम है लेकिन यदि किसी चेक का रेखांकन ।ध्ब च्ंलमम वदसल के रूप में नहीं किया गया है तो ऐसे चेक का हस्तांतरण आहत्तार् अथवा भुगतान प्राप्तकत्तार् के द्वारा किसी अन्य व्यक्ित को भी किया जा सकता है। एक धरक ;ठमंतमतद्ध चेक का भुगतान केवल काउंटर पर प्रस्तुती द्वारा ही प्राप्त किया जा सकता है। एक आदेश्िात चेक ;व्तकमत बीमुनमद्ध का भुगतान बेचान ;मदकवतेमउमदजद्ध एवं प्रस्तुतीकरण करने पर हो जाता है। बेचान से तात्पयर् यह है कि विश्िाष्ट व्यक्ित के नाम से चेक भुगतान करने का आदेश उस पर स्पष्ट रूप से लिख्िात होना तथा बेचान करने वाले के हस्ताक्षर उस चेक के पृष्ठ भाग पर अंकित होना। जब बैंक संबंध्ित लेन - देनों की संख्या अध्िक हो तो यह सुविधजनक होता है कि रोकड़ बही में उनके अभ्िालेखन की व्यवस्था एक अलग स्तंभ के रूप में ही कर ली जाए इससे बैंक खाते की स्िथति के विषय में भी समय - समय पर सूचना प्राप्त करना सरल हो जाता है। रोकड़ लेन - देनों की तरह बैंक से संबंध्ित लेन - देन की भी सभी बैंक प्राप्ितयों को बाँइर् ओर व बैंक भुगतानों को दाहिने तरपफ बैंक स्तंभ में लिखा जाता है। जब बैंक में रोकड़ जमा कारवाइर् जाती है या बैंक से रोकड़ निकाली जाती है दोनों ही स्िथतियों को रोकड़ बही में अभ्िालिख्िात किया जाता है। ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि इन सौदों के दोनों ही पक्ष रोकड़ बही में प्रस्तुत होते हैं। जब बैंक में रोकड़ जमा करवाइर् जाती हैे। ताएक ही समय में उसे रोकड़ बही के बैंक स्तंभ में बाँइर् ओर अभ्िालिख्िात किया जाता है तथा राश्िा स्तंभ में दाँइर् ओर ;भुगतान पक्षद्ध तथा बैंक से रोकड़ निकालने के लिए इसके विपरीत प्रविष्िट की जाती है। इस प्रकार की प्रविष्िटयों के आगे ‘ब्’ शब्द लिखा जाता है जिसका अथर् है ‘विपयर्य’। ‘ब्’ शब्द को रो.ब.पृ.सं. स्तंभ में लिखा जाता है जिसका अथर् है कि इस प्रविष्िट की खतौनी खाता बही में उपलब्ध् नहीं है। बैंक स्तंभ को छोड़कर रोकड़ इस स्तंभ की तरह ही संतुलित किया जाता है। हालांकि बैंक स्तंभ में कभी - कभी अध्िविकषर् के कारण जमा शेष की स्िथति भी हो सकती है। अध्िविकषर् की स्िथति तब आती है जब बैंक खाते से जमा राश्िा से अध्िक आहरण कर लिया जाता है। प्राप्त चेकों से संबंध्ित प्रविष्िटयों को रोकड़ बही के बैंक स्तंभ में ही किया जाना चाहिए। जब एक चेक प्राप्त होता है। तो इसे उसी दिन बैंक में जमा कर सकते हंै यदि चेक उसी दिन बैंक में जमा कर दिया गया तो चेक की राश्िा को प्राप्ित पक्ष में बैंक स्तंभ में लिखा जाता है, लेकिन यदि चेक को किसी अन्य दिन बैंक में जमा करवाया जाए तो उस स्िथति में चेक प्राप्ित के दिन उसे रोकड़ प्राप्ित की तरह रोकड़ स्तंभ के प्राप्ित में प्रविष्ट करेंगे और जिस दिन उसे बैंक मंे जमा करवाया जाएगा उस प्रविष्िट का अभ्िालेखन विपयर्य लेन - देन की तरह किया जाएगा अथार्त् उसे रोकड़ स्तंभ के भुगतान व बैंक स्तंभ की प्राप्ित की ओर ब् लिखकर प्रविष्ट किया जाएगा यदि किसी ग्राहक से प्राप्त चेक अनादरित ;क्पेीवनदवतमकद्ध हो जाता है तो बैंक सूचना प्राप्त होते ही चेक वापस कर व्यापार बैंक खाते के नाम में प्रविष्िट कर देता है। रोकड़ बही में चेक के अनादरण की सूचना मिलने पर भुगतान पक्ष में प्रविष्िट की जाती है तथा वह व्यक्ित जिससे वह चेक प्राप्त हुआ था उसका नाम विवरण स्तंभ में लिखा जाता है। यह प्रविष्िट चेक प्राप्ित के पूवर् की स्िथति को बहाल करती है। चेक अनादरण से तात्पयर् चेक की राश्िा भुगतान न होने पर चेक को लौटाना है, जो कि सामान्यतः भुगतान देने वाले ग्राहक के बैंक खाते में पयार्प्त ध्न न होने के कारण होता है। यदि बैंक व्यापार के खाते को ब्याज, कमीशन अथवा अपने द्वारा दी गइर् सेवाओं हेतु शुल्क के लिए नाम करता है। तो इसकी प्रविष्िट रोकड़ बही में भुगतान पक्ष के बैंक स्तंभ में की जाएगी। और यदि बैंक व्यापार खाते को ब्याज अथवा लाभंाश आदि के संकलन के लिए जमा करता है। तो इसकी प्रविष्िट रोकड़ बही में प्राप्ित पक्ष के बैंक स्तंभ में की जाएगी। द्विस्तंभीय रोकड़ बही का प्रारूप चित्रा संख्या 4ण्5 में दशार्या गया है। चित्रा 4ण्4 रू रेखांकन के प्रकार रोकड़ बही नाम जमा तिथ्िा विवरण ब.पृ.सं रोकड़ रु बैंक रु तिथ्िा विवरण ब.पृ.सं रोकड़ रु बैंक रु चित्रा 4ण्5 रू द्विस्तंभीय रोकड़ बही का प्रारूप आइये अब एक उदाहरण की सहायता से द्विस्तंभीय रोकड़ बही में लेन - देनों का अभ्िालेखन सीखेंः निम्नलिख्िात सौदे टूल इंडिया से संबंध्ित: तिथ्िा विवरण राश्िा रु 2005 01 सितंबर बैंक शेष 42ए000 01 सितंबर रोकड़ शेष 15ए000 04 सितंबर चेक द्वारा माल का क्रय 12ए000 08 सितंबर नकद ध्नराश्िा पर माल का विक्रय 6ए000 13 सितंबर चेक द्वारा मशीनरी खरीदी 5ए500 16 सितंबर माल बेचने पर चेक प्राप्त ;उसी दिन बैंक में जमा कियाद्ध 4ए500 17 सितंबर नकद पर मृदुला से माल खरीदा 17ए400 20 सितंबर चेक पर स्टेशनरी का क्रय 1ए100 24 सितंबर रोहित को चेक से भुगतान किया 1ए500 27 सितंबर बैंक से नकद आहरण 10ए000 30 सितंबर चेक से किराये का भुगतान 2ए500 30 सितंबर वेतन का भुगतान 3ए500 उपरोक्त लिख्िात व्यावसायिक देन - देनों को द्विस्तंभीय रोकड़ बही में इस प्रकार दशार्या जाएगाः रोकड़ बही नाम जमा तिथ्िा विवरण ब.पृ.सं रोकड़ रु बैंक रु तिथ्िा विवरण ब.पृ.सं रोकड़ रु बैंक रु 2005 सितंबर 01 08 16 27 अक्टूबर 01 शेष आ/ले विक्रय विक्रय बैंक शेष आ/ले ब् 15ए000 6ए000 10ए000 42ए000 4ए500 2005 सितंबर 04 13 17 20 24 27 30 30 30 क्रय मशीन क्रय स्टेशनरी रोहित रोकड़ किराया वेतन शेष आ/ला ब् 17ए400 3ए500 10ए100 12ए000 5ए500 1ए100 1ए500 10ए000 2ए500 13ए900 31ए000 46ए500 31ए000 46ए500 10ए100 13ए900 द्वि - स्तंभीय रोकड़ बही की खतौनी जब रोकड़ बही में ही बैंक स्तंभ बना लिया जाता है। तो खाता बही में बैंक खाता नहीं बनाया जाता। क्योंकि यह बैंक स्तंभ ही बैंक खाते के उद्देश्य की पूतिर् करता है। जब रोकड़ बही से खाता बही में खतौनी की जाती है तो वह प्रविष्िटयां जिनके आगे ‘ब्’ लिखा रहता है, छोड़ दी जाती हैं। यह प्रविष्िटयां क्योंकि रोकड़ व बैंक खातों में नाम व जमा से संबंध्ित होने के कारण अपना द्विपक्षीय प्रभाव रोकड़ बही के दो स्तंभो पर ही डालती हैं। आइये अब उन लेन - देनों की खतौनी के विषय में जानें जिनका अभ्िालेखन द्विस्तंभीय रोकड़ बही से व्यक्ितगत खातों में होता है। क्रय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 04 सितंबर बैंक 12ए000 17 सितंबर रोकड़ 17ए400 विक्रय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 08 सितंबर रोकड़ 6ए000 16 सितंबर बैंक 4ए500 मशीनरी खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 13 सितंबर बैंक 5ए500 स्टेशनरी खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 20 सितंबर बैंक 1ए100 रोहित का खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 24 सितंबर बैंक 1ए500 किराया खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 सितंबर बैंक 2ए500 वेतन खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 सितंबर रोकड़ 3ए500 4ण्1ण्3 खुदरा रोकड़ बही प्रत्येक व्यापारिक प्रतिष्ठान को बड़ी संख्या में कइर् छोटे - छोटे भुगतान करने पड़ते हैं जैसे यात्रा भत्ता, ढुलाइर् भाड़ा, डाक व्यय टेलिपफोन व अन्य व्यय ;जिनको सामूहिक रूप से विविध् व्यय नामक खाते में लिखा जाता हैद्ध साधरणतया यह व्यय बार - बार करने पड़ते हैं यदि इन सभी व्ययों का संचालन प्रध् ान रोकडि़या करे एवं वह उनकी प्रविष्िट मुख्य रोकड़ बही में करे तो यह संपूणर् प्रिया बहुत बोझिल हो जाएगी। इस समस्या से बचने के लिए बड़े - बड़े व्यापारिक प्रतिष्ठान सामान्यतः एक अन्य रोकडि़ये ;खुदरा रोकडि़याद्ध की नियुक्ित करते हैं तथा सभी खुदरा खचोर्ं को एक अलग रोकड़ पुस्तक में लिखा जाता है। इस प्रकार खुदरा रोकडि़या द्वारा बनाइर् गइर् पुस्तक को खुदरा रोकड़ बही कहते हैं। खुदरा रोकडि़या पेशगी अगि्रम प्राप्ित के आधर पर काम करता है। इस प्रणाली के अन्तगर्त एक निश्िचत राश्िा, मान लिजिए 2ए000 रु. खुदरा रोकडि़या को एक निश्िचत अवध्ि के आरंभ में दी गइर् है। इस राश्िा को हम पेशगी/अगि्रम प्राप्ित कहते हंै। खुदरा रोकडि़या छोटी राश्िा के व्ययों का भुगतान इस राश्िा में से करता रहता है और जब इसका एक बड़ा भाग जैसे कि 1ए780 रु. खचर् हो जाने पर वह मुख्य रोकडि़ये से इन व्ययों का पुनभुर्गतान प्राप्त कर लेता है और इस प्रकार आने वाले समय के खचो± के लिएपिफर अगि्रम राश्िा प्राप्त कर लेता है। खुदरा रोकडि़ए को यह भुगतान छोटे खचोर् की आवृिा के आधर पर साप्ताहिक, पाक्ष्िाक अथवा मासिक हो सकता है। ;कुछ मामलों में खुदरा रोकड़ प्रणाली मुख्य रोकड़ पुस्तक से ही संचालित होती है। ऐसे मामलों में खुदरा रोकड़ बही स्वतंत्रा रूप से नहीं बनाइर् जाती।द्ध खुदरा रोकड़ बही में सामान्यतः भुगतान पक्ष ;जमाद्ध की ओर कइर् स्तंभ होते हैं। प्रत्येक व्यय की मद के लिए एक स्तंभ आबंटित किया जाता है। लेकिन यह स्तंभ केवल अध्िकांशतः होने वाले साधरण व्ययों के लिए ही होते हैं। भुगतान पक्ष के अंतिम स्तंभ को ‘‘विविध् व्ययों’’ का नाम दिया जाता है, जिसके बाद वाले स्तंभ को टिप्पणी नाम से जाना जाता है। विविध् व्यय वाले स्तंभ में उन सभी व्ययों को प्रविष्ट कियाजाता है जिनके लिए पृथक स्तंभ उपलब्ध् नहीं हैं। टिप्पणी स्तंभ में व्यय की प्रकृति के विषय में लिखा जाता है। अवध्ि के अंत में विविध् स्तंभों का योग निकाला जाता है। योग स्तंभ से वुफल व्यय की उस राश्िा का पता चलता है जिसका पुनभुर्गतान होना है। प्राप्ित पक्ष की ;नामद्ध ओर केवल एक ही स्तंभ होता है। तिथ्िा, रसीद संख्या तथा विवरण संबंध्ी स्तंभ प्राप्ित एंव भुगतान दोनों तरपफ होते हैं। बाॅक्स - 1 खुदरा रोकड़ बही के लाभ 1ण् प्रधन रोकडि़ये के समय व प्रयास की बचतः प्रधन रोकडि़ये को छोटे - छोटे व्ययों के वितरण की आवश्यकता नहीं रहती इसलिए वह अपना ध्यान बड़े रोकड़ लेन - देनों पर केन्िद्रत कर सकता है जिससे प्रधान रोकडि़ये केसमय व मेहनत की भी बचत होती है तथा वह अपने कत्तर्व्यों का भली भांति निवार्ह कर सकता है। 2ण् रोकड़ व्ययों पर कुशल नियंत्राणः कायर् विभाजन के कारण रोकड़ पर नियंत्राण सरल हो जाता है। प्रधन रोकडि़या बड़े भुगतानों पर सीध्े व छोटे भुगतानों पर खुदरा रोकडि़ये के कायर् की समीक्षा कर पूरे रोकड़ भुगतानों पर अपना नियंत्राण रख सकता है। इस प्रकार रोकड़ में धेखाध्ड़ी व गबन की संभावनाएं भी कम हो सकती हैं 3ण् अभ्िालेखन में सुविधः सभी छोटे - छोटे व्ययों का अभ्िालेखन मुख्य रोकड़ बही में करना उसे भारी व असुविधजनक बना सकता है। साथ ही सारता के सि(ांत के अनुसार भी मुख्य रोकड़ बही में अनावश्यककम महत्त्व के विवरणों का लेखांकन आवश्यक नहीं है। इस प्रकार रोकड़ बही केवल महत्त्वपूणर् व उपयोगी सूचनाओं को ही प्रदश्िार्त करेगी। छोटे व्ययों का इस प्रकार अभ्िालेखन उनकी खतौनी को भी सुविधजनक बनाता है। क्योंकि संबंध्ित खाते में केवल उस व्यय स्तंभ के योग की ही प्रविष्िट की जाती है। इस प्रकार यह प्रत्येक छोटे - छोटे लेन - देन की खतौनी में लगने वाले समय की भी बचत करता है। सारांश में यह कहा जा सकता है खुदरा रोकड़ बही लागत कम नियंत्रिात करने का तरीका है। उदाहरण के लिए, मै. समायरा ट्रेडसर् के खुदरा रोकडि़ये श्री मोहित को 1 मइर्, 2005 को प्रमुख रोकडि़ये से 2ए000 रुपये प्राप्त हुए। माह के लिए, खुदरा व्ययों का ब्यौरा इस प्रकार हैः तिथ्िा ब्यौरा राश्िा रु मइर्, 2005 02 आॅटो का किराया 55 03 कुरियर सेवा 40 04 डाक टिकट 105 05 रबर/कटर/पेंसिल/पैड 225 06 स्पीड पोस्ट व्यय 98 08 टैक्सी किराया ;105 रु.़ 90 रु.द्ध 195 08 जलपान 85 10 आॅटो का किराया 60 12 रजिस्टडर् डाक व्यय 42 13 टेलीग्राम 34 14 ढुलाइर् 25 16 कंप्यूटर स्टेशनरी 165 19 बस का किराया 24 19 एस.टी.डी. व्यय 87 20 कायार्लय सपफाइर् रोगाणुमुक्ित सहित ;36 रु.़ 24 रु.द्ध 60 22 जलपान 45 23 पफोटो काॅपी व्यय 47 28 कुरियर सेवा 40 29 माल उतराइर् व्यय 40 30 बस का किराया 15 खुदरा रोकड़ बही से खतौनी खुदरा रोकड़ बही का शेष एक अवध्ि विशेष के बाद निकाला जाता है। कुल प्राप्ितयों व कुल भुगतानों में अंतर ही खुदरा रोकडि़ये के पास उपलब्ध् शेष है। इस शेष को अगली अवध्ि पर हस्तांतरित कर दिया जाता है और खुदरा रोकडि़या को वास्तविक रूप से व्यय की गइर् राश्िा का भुगतान कर दिया जाता है। खाता बही में एक खुदरा रोकड़ खाता खोला जाता है। रोकड़ बही को स्वतंत्रा रूप से संतुलित किया जाता है। प्रत्येक व्यय को उसके संबंध्ित खाते में उस स्तंभ के योग के रूप में नाम की ओर ‘‘खुदरा रोकड़ खाता’’ लिखकर खतौनी की जाती है तथा खुदरा रोकड़ खाते को व्ययों के कुल योग की राश्िा से ‘‘खुदरा रोकड़ बही के व्यय’’ लिखकर जमा की ओर खतौनी की जाती है। खुदरा रोकड़ खाते को वुफल व्यय की राश्िा से जमा किया जाता है तथा विवरण स्तंभ में ‘‘अवध्ि के विविध् व्यय’’ लिखा जाता है। इस प्रकार खुदरा रोकड़ खाते को संतुलित किया जाता है। खुदरा रोकड़ खाते में साधरणतः नाम की ओर शेष रहता है जो कि खुदरा रोकडि़ये के पास उपलब्ध् राश्िा प्रदश्िार्त करता है। खुदरा रोकड़ पुस्तक से खतौनी नीचे दिखाइर् गइर् है। माह की खुदरा रोकड़ बही इस प्रकार तैयार की जाएगी:समायरा ट्रेडसर् की पुस्तकें ;खुदरा रोकड़ पुस्तकद्ध प्राप्त राश्िारु तिथ्िा विवरण बीजक सं. भुगगतान की गइर् राश्िा भुगतानों का विश्लेषण मइर् 2005 रु. डाक व्यय दूरभाष एवं तार परिवहन स्टेशनरी विविध्व्यय 2ए000 01 020304050608081012131416191920222328293031जून01 01 रोकडि़या प्राप्तआॅटो का किरायाकुरियर सेवाडाक टिकटेंरबर/कटर/पेंसिलेंस्पीड पोस्ट व्ययटैक्सी का किराया ;105 रु.़ 90 रु.द्ध जलपानआटो का किरायारिजिस्टडर् डाक व्ययटेलिग्रामढुलाइर्कंप्यूटर स्टेशनरीबस का किरायौज्क् शुल्ककायार्लय सपफाइर्रोगाणुमुक्ित सहित;36 रु.़ 24 रु.द्ध जलपानपफोटो काॅपी व्ययकुरियर सेवामाल उतराइर् व्ययबस का किरायाशेष आ/लेशेष आ/लारोकड़ प्राप्त 55401052259819585604234251652487604547404015 40105984240 3487 55195602415 225165 852560454740 1ए487513 325 121 349 390 302 2ए000 2ए000 5131ए487 समायरा ट्रेडसर् की पुस्तकें रोजनामचा तिथ्िा विवरण ब.पृ.सं नाम राश्िा रु जमा राश्िा रु 2005 01 मइर् ख्ुादरा रोकड़ खाता नाम रोकड़ खाते से ;खुदरा रोकडि़ये को नकद प्राप्ितद्ध 2ए000 325 2ए000 31 मइर् डाक व्यय खाता नाम दूरभाष एवं तार खाता नाम 121 परिवहन खाता नाम 349 स्टेशनरी खाता नाम 390 विवध् व्यय खाता नाम खुदरा रोकड़ खाते से 302 ;खुदरा व्यय खुदरा रोकड़ पुस्तक में हस्तांतरितद्ध 1ए487 1ए487 1ए487 खुदरा रोकड़ खाता नाम रोकड़ खाता से ;खुदरा रोकडि़ये को रोकड़ भुगतानद्ध खुदरा रोकड़ खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 2005 01 मइर् रोकड़ 2ए000 31 मइर् ख्ुादरा रोकड़ बही 1ए487 के अनुसार खुदरा रोकड़ 31 मइर् शेष आ/ले 513 2ए000 2ए000 01 जून शेष आ/ला 513 01 जून रोकड़ 1ए487 लेन - देनों का अभ्िालेखन . 2 113 समायरा ट्रेडसर् की पुस्तकें डाक व्यय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 31 मइर् खुदरा रोकड़ 325 दूरभाष एवं तार खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 31 मइर् खुदरा रोकड़ 121 परिवहन खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 31 मइर् खुदरा रोकड़ 349 स्टेशनरी खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 31 मइर् खुदरा रोकड़ 390 विवध् व्यय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 31 मइर् खुदरा रोकड़ 302 4ण्1ण्4 रोकड़ बही का संतुलन रोकड़ बही के बाँइर् ओर ;नाम पक्ष मेंद्ध रोकड़ प्राप्ितयों व दाँइर् ओर ;जमा पक्ष मेंद्ध रोकड़ भुगतान को तिथ्िानुसार प्रविष्ट किया जाता है। जब व्यापारी रोकड़ बही बनाते हैं तो खाता बही में अलग से रोकड़ खाता नहीं खोला जाता। यहाँ ध्यान देने योग्य बात यह है कि रोकड़ बही में सदैव नाम शेष होगा क्योंकि रोकड़ भुगतानों कि राश्िा कभी भी रोकड़ प्राप्ितयों की प्रारंभ्िाक हस्तस्थ रोकड़ से अध्िक नहीं हो सकती। इनरोकड़ प्राप्ित प्रविष्िटयों का ड्डोत प्रलेख रोकडि़ये द्वारा जारी की गइर् रसीद की अनुलिपी होती है। रोकड़भुगतानों के लिए बीजक, रसीद प्रपत्रा आदि प्रलेखों को ड्डोत प्रलेख माना जाता है, क्योंकि इनके आधर पर भुगतान किया गया है। रोकड़ पुस्तक में भुगतान हो जाने के बाद इन सभी प्रलेखों को जो कि ‘प्रमाणक’ नाम से लोकपि्रय हैं एक क्रम संख्या देकर अलग से पफाइल में भविष्य में सत्यापन हेतु संभालकर रखा जाता है। उदाहरण 1 मैससर् कुन्ितया ट्रेडसर् के निम्ननिलिख्िात सौदों को एक स्तंभीय रोकड़ बही में दशार्एंः तिथ्िा ब्यौरा राश्िा रु 2005 01 सितंबर हस्तस्थ रोकड़ 40ए000 02 सितंबर बैंक में ध्नराश्िा 16ए000 04 सितंबर पुनीत से पूणर् भुगतान के रूप में 12,000 रु. प्राप्त हुए 11ए700 05 सितंबर रुकमणी की पूणर् भुगतान के रूप में 7,000 रु. का भुगतान किया 6ए850 06 सितंबर सुध्ीर को नकद माल बेचा 14ए800 06 सितंबर स्वामी की पत्नी की बीमा पाॅलिसी पर त्रौमासिक बीमा किस्त का भुगतान 2ए740 07 सितंबर कायार्लय पफनीर्चर का क्रय 8ए000 07 सितंबर स्टेशनरी खरीदी 1ए700 07 सितंबर ढुलाइर् भाड़ा 120 10 सितंबर कमल का भुगतान करने पर 200 रु. का बट्टा प्राप्त 6ए800 11 सितंबर गुरमीत से नकद प्राप्त, 500 रु. का बट्टा 14ए100 12 सितंबर व्यक्ितगत उपयोग के लिए आहरित राश्िा 5ए000 14 सितंबर बिजली बिल का भुगतान 1ए160 17 सितंबर नकद ध्नराश्िा पर माल का विक्रय 23ए000 21 सितंबर कमल से माल का नकद क्रय 17ए000 24 सितंबर टेलीपफोन व्यय का भुगतान 2ए300 26 सितंबर डाक व्यय का भुगतान 520 28 सितंबर मासिक किराए का भुगतान 4ए200 29 सितंबर मासिक मजदूरी और वेतन का भुगतान 8ए250 29 सितंबर नकद पर माल का क्रय 11ए000 30 सितंबर नकद पर माल का विक्रय 15ए600 लेन - देनों का अभ्िालेखन . 2 115 हल कुन्ितका ट्रेडसर् की पुस्तक रोकड़ बही नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 01 सितंबर 04 सितंबर 06 सितंबर 11 सितंबर 17 सितंबर 30 सितंबर 01अक्टूबर शेष आ/ला पुनीत विक्रय गुरमीत विक्रय विक्रय शेष आ/ले 40ए000 11ए700 14ए800 14ए500 23ए000 15ए600 2005 02 सितंबर 05 सितंबर 06 सितंबर 07 सितंबर 07 सितंबर 07 सितंबर 10 सितंबर 12 सितंबर 14 सितंबर 21 सितंबर 24 सितंबर 28 सितंबर 29 सितंबर 29 सितंबर 30 सितंबर 30 सितंबर बैंक रुकमणीआहरण कायार्लय पफनीर्चर स्टेशनरी ढुलाइर्कमल आहरण बिजली व्ययक्रय टेलीपफोन व्यय डाक व्ययकिराया मजदूरी एवं वेतनक्रय शेष आ/ला 16ए000 6ए850 2ए740 8ए000 1ए700 120 6ए800 5ए000 1ए160 17ए000 2ए300 520 4ए200 8ए250 11ए000 27ए960 1ए19ए600 1ए19ए600 27ए960 उदाहरण 2 निम्नलिख्िात लेन - देनों को द्विस्तंभीय रोकड़ बही में दशार्एं तथा संतुलित करें। तिथ्िा ब्यौरा राश्िा रु 2005 01 अगस्त रोकड़ शेष 15ए000 बैंकस्त शेष 10ए000 03 अगस्त चेक द्वारा बीमा किस्त का भुगतान 4ए200 08 अगस्त नकद विक्रय 22ए000 नकद बट्टा 750 09 अगस्त नकद क्रय का भुगतान 21ए000 नकद बट्टा 700 09 अगस्त बैंक में ध्नराश्िा जमा की गइर् 15ए000 10 अगस्त चेक द्वारा टेलीपफोन व्यय का भुगतान 2ए300 14 अगस्त व्यक्ितगत उपयोग के लिए बैंक से ध्नराश्िा का आहरण 6ए000 16 अगस्त कायार्लय उपयोग के लिए बैंक से आहरित ध्नराश्िा 14ए500 20 अगस्त जाॅन से चेक द्वारा पूणर् भुगतान प्राप्त हुआ जिसे उसी दिन बैंक में जमा कर दिया गया 10ए700 23 अगस्त माइकल से नकद ध्नराश्िा प्राप्त हुइर् 6ए850 बट्टा दिया 150 24 अगस्त नकद पर स्टेशनरी खरीदी 1ए800 25 अगस्त ढुलाइर् का नकद भुगतान 350 25 अगस्त कुमार से चेक प्राप्त हुआ 4ए500 28 अगस्त कुमार से चेक प्राप्त किया तथा उसी दिन बैंक में जमा कर दिया 4ए500 31 अगस्त 28 अगस्त को जमा चेक अनादृत हुआ और बैंक द्वारा लौटा दिया गया 31 अगस्त चेक द्वारा किराए का भुगतान 4ए000 31 अगस्त चैकीदार को नकद मजदूरी का भुगतान 3ए000 31 अगस्त डाक व्यय का नकद भुगतान 220 हल रोकड़ बही नाम जमा तिथ्िा विवरण ब.पृ.सं रोकड़ रु बैंक रु तिथ्िा विवरण ब.पृ.सं रोकड़ रु बैंक रु 2005 2005 अगस्त अगस्त 01 शेष आ/ले 15ए000 10ए000 03 बीमा 4ए200 08 विक्रय 22ए000 09 क्रय 21ए000 09 रोकड़ ब् 15ए000 09 बैंक ब् 15ए000 16 बैंक ब् 14ए500 10 टेलीपफोन व्यय 2ए300 20 जाॅन 10ए700 14 आहरण 6ए000 23 माइकल 6ए850 16 रोकड़ ब् 14ए500 25 कुमार 4ए500 24 स्टेशनरी 1ए800 28 रोकड़ ब् 4ए500 25 ढुलाइर् 350 31 शेष आ/ला 6ए000 28 बैंक ब् 4ए500 31 कुमार 4ए500 31 किराया 4ए000 31 मजदूरी 3ए000 31 डाक 220 सितंबर 01 शेष आ/ले 31 शेष आ/ला 16ए980 4ए700 62ए850 40ए200 62ए850 40ए200 16ए980 4ए700 उदाहरण 3 मै. लेजर जोन के जनवरी 2005 के माह के निम्नलिख्िात लेन - देनों को बैंक स्तंभ रोकड़ बही में लिखें और उनकी खतौनी संबंध्ित खातों में करेंः तिथ्िा ब्यौरा राश्िा रु 01 जनवरी हस्तस्थ रोकड़ 4ए000 बैंक अध्िविकषर् 3ए200 04 जनवरी मजदूरी का भुगतान 400 05 जनवरी नकद विक्रय 7ए000 07 जनवरी चेक द्वारा माल का क्रय 2ए000 09 जनवरी नकद पर पफनीर्चर खरीदा 2ए200 11 जनवरी रोहित को नकद भुगतान 2ए000 13 जनवरी नकद विक्रय 4ए500 14 जनवरी बैंक में ध्नराश्िा जमा की 7ए000 16 जनवरी बैंक अध्िविकषर् पर ब्याज 200 20 जनवरी चेक से टेलीपफोन के बिल का भुगतान 600 25 जनवरी बेचे गए माल का भुगतान चेक से प्राप्त ;उसी दिन जमा कियाद्ध 3ए000 27 जनवरी किराये का भुगतान 800 29 जनवरी व्यक्ितगत उपयोग के लिए आहरित ध्नराश्िा 500 30 जनवरी वेतन का भुगतान 1ए000 31 जनवरी बैंक द्वारा एकत्रिात ब्याज 1ए700 118 लेखाशास्त्रा - वित्तीय लेखांकन हल नाम लेजर जोन की पुस्तकें रोकड़ बही जमा तिथ्िा विवरण ब.पृ.सं रोकड़ रु बैंक रु तिथ्िा विवरण ब.पृ.सं रोकड़ रु बैंक रु 2005जनवरी 01 05 13 14 25 31 अक्टूबर 01 शेष आ/लेविक्रयविक्रय रोकडविक्रयब्याज शेष आ/ले ब् 4ए0007ए0004ए500 7ए0003ए0001ए700 2005 जनवरी 01 04 07 09 11 14 16 20 27 29 30 01 शेष आ/लेमजदूरीक्रयपफनीर्चररोहितबैंक अध्िविकषर्ब्याजटेलीपफोनकिरायाआहरणवेतनशेष आ/ला ब् 400 2ए200 2ए000 7ए000 800 500 1ए000 1ए600 3ए200 2ए000200 6005ए700 15ए500 11ए700 15ए500 11ए700 1ए600 5ए700 मजदूरी खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 04 जनवरी रोकड़ 400 विक्रय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 05 जनवरी रोकड़ 7ए000 13 जनवरी रोकड़ 4ए500 25 जनवरी बैंक 3ए000 क्रय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 07 जनवरी बैंक 2ए000 पफनीर्चर खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 09 जनवरी रोकड़ 2ए200 रोहित का खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 11 जनवरी रोकड़ 2ए000 अध्िविकषर् पर ब्याज ;भुगतानद्ध खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 16 जनवरी बैंक 200 टेलीपफोन व्यय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 20 जनवरी बैंक 600 120 लेखाशास्त्रा - वित्तीय लेखांकन किराया खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 27 जनवरी रोकड़ 800 आहरण खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 29 जनवरी रोकड़ 500 वेतन खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 जनवरी रोकड़ 1ए000 ब्याज ;प्राप्ितद्ध खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 31 जनवरी बैंक 1ए700 उदाहरण 4 मै. एडवांस टेक्नालाॅजी प्रा. लि. के दिसंबर, 2005 माह के सौदों को द्विस्तंभीय रोकड़ बही में लिखेंः तिथ्िा ब्यौरा राश्िा रु 2005 01 दिसंबर 02 दिसंबर हस्तस्थ रोकड़ बैंकस्थ रोकड़ खुदरा रोकडि़ये को रोकड़ दिया 3ए065 6ए780 1ए000 03 दिसंबर पि्रया से चेक प्राप्त 3ए000 04 दिसंबर नकद विक्रय 2ए000 05 दिसंबर बैंक में ध्नराश्िा जमा की 1ए200 06 दिसंबर पि्रया के चेक को बैंक में जमा किया 3ए000 08 दिसंबर चेक दे कर पफनीर्चर खरीदा 6ए500 10 दिसंबर व्यापारिक व्ययों का भुगतान 400 12 दिसंबर नकद विक्रय 9ए000 13 दिसंबर बैंक शुल्क 300 15 दिसंबर बैंक ने लाभांश एकत्रिात किया 1ए200 16 दिसंबर चेक से बिजली बिल का भुगतान किया 600 17 दिसंबर नकद क्रय 2ए000 19 दिसंबर विज्ञापन के लिए भुगतान किया 1ए000 21 दिसंबर माल की बिक्री पर चेक प्राप्त;उसी दिन बैंक में जमा कियाद्ध 6ए000 22 दिसंबर न्यायिक शुल्क का भुगतान 500 23 दिसंबर व्यक्ितगत प्रयोग के लिए बैंक से आहरित राश्िा 2ए000 24 दिसंबर स्थापना व्ययों का भुगतान 340 25 दिसंबर बिल पुस्ितका की छपाइर् के लिए भुगतान 850 26 दिसंबर चेक द्वारा बीमा किस्त का भुगतान 2ए150 27 दिसंबर नकद विक्रय 7ए200 28 दिसंबर चेक द्वारा वेतन का भुगतान 4ए000 29 दिसंबर किराये का भुगतान 3ए000 30 दिसंबर चेक से कमीशन ;चेक उसी दिन बैंक में जमा कियाद्ध 2ए500 31 दिसंबर चेक से दान दिया 800 हल नाम एडवांस टेक्नालाॅजी की पुस्तकें रोकड़ बही जमा तिथ्िा विवरण ब.पृ.सं रोकड़ रु बैंक रु तिथ्िा विवरण ब.पृ.सं रोकड़ रु बैंक रु 2005 2005 दिसंबर दिसंबर 01 शेष आ/ले 3ए065 6ए780 02 खुदरा रोकड़ 1ए000 03 पि्रया 3ए000 05 बैंक ब् 1ए200 04 विक्रय 2ए000 06 बैंक ब् 3ए000 05 रोकड़ ब् 1ए200 08 पफनीर्चर 6ए500 06 12 15 21 27 30 2006 जनवरी 01 रोकड़विक्रयलाभंाशविक्रयविक्रयकमीशनशेष आ/ले ब् 9ए000 7ए200 3ए000 1ए200 6ए000 2ए500 10 13 16 17 19 22 23 24 25 26 28 29 31 31 व्यापारिक व्ययबैंक शुल्कबिजली व्ययक्रयविज्ञापनन्यायिक व्ययआहरणस्थापना व्यय छपाइर्बीमें की किश्त वेतनकिरायादानशेष आ/ला 400 2ए000 1ए000 500 340 850 3ए000 10ए975 300 600 2ए000 2ए150 4ए000 800 4ए330 24ए265 20ए680 24ए265 20ए680 10ए975 4ए330 ;पपद्ध खतौनी खुदरा रोकड़ खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 02 दिसंबर रोकड़ 1ए000 पि्रया का खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 03 दिसंबर रोकड़ 3ए000 विक्रय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 04 दिसंबर 12 दिसंबर 21 दिसंबर 27 दिसंबर रोकड़ रोकड़ बैंक रोकड़ 2ए000 9ए000 6ए000 7ए200 पफनीर्चर खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 08 दिसंबर बैंक 6ए500 व्यापारिक व्यय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 10 दिसंबर रोकड़ 400 बैंक शुल्क खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 13 दिसंबर बैंक 300 लाभांश खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 15 दिसंबर बैंक 1ए200 बिजली व्यय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 16 दिसंबर बैंक 600 क्रय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 17 दिसंबर रोकड़ 2ए000 विज्ञापन खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 19 दिसंबर रोकड़ 1ए000 न्यायिक शुल्क खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 22 दिसंबर रोकड़ 500 आहरण खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 23 दिसंबर बैंक 2ए000 स्थापना व्यय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 24 दिसंबर रोकड़ 340 छपाइर् खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 25 दिसंबर रोकड़ 850 बीमा किस्त खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 26 दिसंबर बैंक 2ए150 वेतन खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 28 दिसंबर बैंक 4ए000 किराया खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 29 दिसंबर रोकड़ 3ए000 कमीशन प्राप्ित खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 दिसंबर बैंक 2ए500 दान खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 31 दिसंबर बैंक 800 4ण्2 क्रय ;रोजनामचाद्ध पुस्तक माल से संबंध्ित सभी उधर क्रय, क्रय रोजनामचे में लिखे जाते हैं। जबकि नकद क्रय किए जाने वाले सभी लेन - देनों को रोकड़ पुस्तक में अभ्िालिख्िात किया जाता है। अन्य उधर क्रय जैसे कि कायार्लय संबंध्ित सामान, पफनीर्चर, भवन आदि यदि उधर खरीदे जाते हैं तो उनका अभ्िालेखन साधरण रोजनामचे में ही किया जाता है और यदि उनकी खरीद नकद होती है तो उन्हें रोकड़ बही में ही लिखा जाता है। इनलेन - देनों में प्राप्त माल आपूतिर्कत्तार्ओं द्वारा दिए गए बीजक व रसीदें इत्यादि ड्डोत प्रलेखों का कायर् करते हैं। बीजक की सहायता से केवल शु( राश्िा को ही लिखा जाता है। व्यापारिक छूट एवं अन्य विवरणों को इस पुस्तक में नहीं लिखा जाता। क्रय पुस्तक के प्रारूप को चित्रा 4ण्6 में प्रदश्िार्त किया गया है। क्रय ;रोजनामचाद्ध पुस्तक तिथ्िा बीजक सं आपूतिर्कत्तार् का नाम ;जमा किये जाने वाला खाताद्ध ब.पृ.सं राश्िा रु चित्रा 4ण्6 रू क्रय ;रोजनामचाद्ध पुस्तक का प्रारूप खरीद पुस्तक के योग की खतौनी मास के अंत में खाता बही के खरीद खाते के नाम पक्ष में की जातीहै। माल आपूतिर्कत्तार्ओं के खातों की खतौनी दैनिक आधर पर की जा सकती है। मै. कनिका ट्रेडसर् के निम्न विवरण पर विचार कर, आइये यह देखें कि खरीद पुस्तक में प्रविष्िटयाँ किस प्रकार की जाती हंै। दिनांक 2005 विवरण 04 अगस्त मैं. नीमा इलेक्ट्रोनिक्स से क्रय ;बीजक सं.3ए250द्ध 20 छोटे - आकार के टी.वी./ 2ए000 प्रत्येक 15 टेप रिकाडर्र / 12ए500 प्रत्येक सभी वस्तुओं पर प्राप्त व्यापारिक छूट / 20» 10 अगस्त मैं. पवन इलेक्ट्राॅनिक्स से खरीदा ;बीजक सं.8ए260 द्ध 10 वीडियो केसेट / 150 प्रति केसेट 20 टेप रिकाडर्र / 1ए650 प्रत्येक खरीद पर व्यापारिक छूट / 10» 18 अगस्त मै. नदर्रन इलेक्ट्राॅनिक्स से खरीदा ;बीजक सं.4256द्ध 15 नादर्रन स्टीरियो / 4ए000 प्रति पीस 20 नादर्रन रंगीन टी.वी./ 1ए450 प्रति पीस व्यापारिक छूट / 12ण्5» 26 अगस्त मैंे. नीमा इलेक्ट्राॅनिक्स से खरीदा ;बीजक सं.3ए294द्ध 10 छोटे आकार के टी. वी./ 1ए000 प्रत्येक 5 रंगीन टी. वी./ 12ए500 प्रत्येक व्यापारिक छूट / 20» 29 अगस्त मै. पवन इलेक्ट्राॅनिक्स से खरीदा ;बीजक सं.8ए281द्ध 20 वीडियो केसेट / 150 प्रति इकाइर् 25 टेप रिकाडर्र / 1ए600 प्रति इकाइर् खरीद पर प्राप्त व्यापारिक छूट / 10» कनिका ट्रेडसर् क्रय ;रोजनामचाद्ध पुस्तक तिथ्िा बीजक सं आपूतिर्कत्तार् का नाम ;जमा किये जाने वाला खाताद्ध ब.पृ.सं राश्िा रु 2005 04 अगस्त 10 अगस्त 18 अगस्त 26 अगस्त 29 अगस्त 31 अगस्त 3250 8260 4256 3294 8281 नीमा इलेक्ट्राॅनिक्स पवन इलेक्ट्राॅनिक्स नादर्न इलेक्ट्राॅनिक्सनीमा इलेक्ट्राॅनिक्स पवन इलेक्ट्राॅनिक्स 1ए82ए000 31ए050 3ए06ए250 54ए000 38ए700 6ए12ए000 क्रय पुस्तक से संब( राश्िा की खतौनी संबंध्ित खातों के जमा पक्ष में प्रतिदिन की जाती है। साधरणतः एक मास की अवध्ि के अंत में क्रय पुस्तक के कुल योग की खतौनी क्रय खाते के नाम पक्ष में की जाती है। हाँ यदि इन लेन - देनों की संख्या बड़ी है तो यह खतौनी अन्य सुविधजनक अन्तराल जैसे दैनिक, साप्ताहिक अथवा पाक्ष्िाक आधर पर भी हो सकती हैै। क्रय पुस्तक से खाता बही में खतौनी को आगे उदाहरण द्वारा समझाया गया है। कनिका इलेक्ट्राॅनिक्स की पुस्तक नीमा इलेक्ट्राॅनिक्स नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 04 अगस्त क्रय 1ए82ए000 26 अगस्त क्रय 54ए000 पवन इलेक्ट्राॅनिक्स नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 10 अगस्त क्रय 31ए050 29 अगस्त क्रय 38ए700 नादर्न इलेक्ट्राॅनिक्स नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 18 अगस्त क्रय 3ए06ए250 क्रय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 31 अगस्त क्रय रोजनामचे के अनुसार विविध् क्रय 6ए12ए000 4ण्3 क्रय वापसी ;रोजनामचाद्ध पुस्तक इस पुस्तक में उधर खरीदे गए माल की वापसी से संबंध्ित लेन - देनों का अभ्िालेखन किया जाता है। कइर् बार विभन्न कारणों से माल के आपूतिर्कारों को खरीदा गया माल वापिस किया जाता है जैसे माल में आवश्यकगुणवत्ता की कमी अथवा दोषपूणर् माल आदि। प्रत्येक क्रय वापसी एक डेबिट नोट ;दो प्रतियों मेंद्ध बनाया जाता है। जिसकी प्रथम प्रति आपूतिर् दाता को भेज दी जाती है, जिसमें वह अपनी पुस्तकों में आवश्यक प्रविष्िट भी कर सके। आपूतिर् दाता भी नोट बनाता है जिसे क्रेडिट नोट कहा जाता है। रोजनामचे में क्रय वापसी केअभ्िालेखन के लिए डेबिट नोट को ड्डोत प्रलेख के रूप में प्रयोग किया जाता है। डेब्िाट नोट में उस विक्रेता का नाम ;जिसे माल वापस किया गया हैद्ध, वापस किए गए माल का विस्तृत विवरण, माल वापसी के कारण आदि का उल्लेख होता है। प्रत्येक डेबिट नोट को तिथ्िावार एवं क्रम संख्या वार लगाया जाता है। क्रय वापसी रोजनामचे का प्रारूप चित्रा 4ण्7 ;अद्ध में प्रदश्िार्त किया गया है। क्रय वापसी ;रोजनामचाद्ध पुस्तक तिथ्िा बीजक सं. आपूतिर्कत्तार् का नाम ;नाम किये जाने वाला खाताद्ध ब.पृ.सं. राश्िा रु चित्रा 4ण्7 ;अद्ध रू क्रय वापसी ;रोजनामचाद्ध पुस्तक का प्रारूप क्रय ;रोजनामचेद्ध पुस्तक पर दिए उदाहरण में आप यह ध्यान देंगे कि नीमा इलेक्ट्राॅनिक्स से 20 छोटे आकार के टी. वी. व 15 टेपरिकाडर्र 1ए82ए000 रु. में खरीदे गए। जबकि सुपुदर्गी पर 2 छोटे टीवी. व एक टेप रिकाडर्र दोषपूणर् पाए गए। जिन्हें बाद में डेबिट नोट सं.03ध्2005 के साथ वापस कर दिया गया। इस स्िथति में क्रय वापसी पुस्तक में निम्न प्रकार से प्रदश्िार्त किया जाएगा। क्रय वापसी के सौदे की खाता बही में खतौनी के लिए माल आपूतिर्कार के व्यक्ितगत खाते को माल वापसी के मूल्य की राश्िा से नाम किया जाएगा व क्रय वापसी खाते को आवध्िक योग से जमा किया जाएगा। बाॅक्स . 2 डेबिट और क्रेडिट नोट उधर बिक्री के अतिरिक्त किन्हीं अन्य कारणों से किसी पाटीर् के खाते को नाम करने हेतु डेबिट नोट नामक दस्तावेज जारी किया जाता है। यदि खरीद माल की पूतिर् अदेशानुसार उपयुक्त नही पाइर् जाती है तो ऐसी दशा मेंदोषपूणर् माल आपूतिर्कत्तार् को वापिस कर दिया जाता है और आपूतिर्कत्तार् को नाम करते हुए एक नोट तैयार किया जाता हैऋ अथवा किसी ग्राहक से अतिरिक्त देय राश्िा प्राप्त करने की दशा में ग्राहक के खाते को नाम करते हुए ऐसा नोट बनाया जाता है। इन दोनो ही अवस्थाओं में यह डेबिट नोट कहलाता है ;देखें चित्रा 4ण्7 ;बद्धद्ध। जब किसी पाटीर् के खाते को उधर क्रय के अतिरिक्त किसी अन्य कारणों के परिणामस्वरूप जमा किये जाने की स्िथति में क्रेडिट नोट तैयार किया जाता है। सामान्यतः इस प्रकार के नोट को लाल स्याही में लिखने का प्रचलन है। विक्रय वापसी की दशा में ग्राहक को क्रेडिट नोट भेजा जाता है। ;देखें चित्रा 4ण्7 ;सद्धद्ध। चित्रा 4ण्7 ;बद्धः डेबिट नोट का प्रारूप चित्रा 4ण्7 ;सद्धः क्रेडिट नोट का प्रारूप क्रय वापसी ;रोजनामचाद्ध पुस्तक तिथ्िा डेबिट नोट सं. आपूतिर्कत्तार् का नाम ;नाम किये जाने वाला खाताद्ध ब.पृ.स राश्िा रु 03ध्2005 नीमा इलेक्ट्राॅनिक्स 13ए200 13ए200 क्रय वापसी खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु क्रय वापसी पुस्तक के अनुसार विविध् क्रय वापसी 13ए200 नीमा इलेक्ट्राॅनिक्स खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु क्रय वापसी 13ए200 4ण्4 विक्रय ;रोजनामचाद्ध पुस्तक पुस्तक व्यापारिक माल के सभी उधर विक्रय सौदों को विक्रय रोजनामचे में अभ्िालिख्िात किया जाता है। नकद विक्रय की रोकड़ बही में अभ्िालिख्िात किया जाता है। विक्रय पुस्तक का प्रारूप क्रय पुस्तक के प्रारूप जैसा ही होता है, जिसका वणर्न पहले किया जा चुका है। विक्रय पुस्तक में प्रविष्िटयां करनेके लिए विक्रय बीजक, पफमर् द्वारा जारी ग्राहकों को जारी विपत्रों आदि को ड्डोत प्रलेखों के रूप में प्रयोग किया जाता है। विक्रय - पुस्तक में विक्रय की तिथ्िा, बीजक संख्या, ग्राहक का नाम एवं बीजक की राश्िा लिखे जाते हैं। विक्रय सौदे के अन्य विवरण भुगतान की शते± आदि का विवरण बीजक में ही उपलब्ध् रहता है। वास्तव में प्रत्येक विक्रय के लिए बिक्री बीजक की दो या दो से अध्िक प्रतियां बनाइर् जाती हैं। खाता लिखने वाला लेखाकार बिक्री बीजक की एक प्रति से ही विक्रय रोजनामचे में प्रविष्िटयाँ करता है। बिक्री रोजनामचे में एक अतिरिक्त स्तंभ ग्राहकों से वसूल बिक्री कर अभ्िालेखन करने के लिए जोड़ा जा सकता है। क्योंकि इस कर का भुगतान एक निश्िचत समयावध्ि के अंत में अथवा मास के अंत में बिक्री पुस्तक का योग बिक्री खाते के जमा पक्ष में प्रविष्ट कर दिया जाता है। ग्राहकों के व्यक्ितगत खातों में इनकी खतौनी दैनिक आधर पर भी की जा सकती है। विक्रय ;रोजनामचाद्ध पुस्तक तिथ्िा बीजक सं. ग्राहक का नाम ;नाम किये जाने वाला खाताद्ध ब.पृ.स राश्िा रु चित्रा 4ण्8: विक्रय ;रोजनामचाद्ध पुस्तक का प्रारूप उदाहरणाथर् मैं. कोयना सप्लाइर्ज ने उधर माल बेचाः ;पद्ध 2ए100 रु. प्रति के 2 जल शोध्क व 130 रु. प्रति की पाँच बाल्िटयां मै. रमन टेªडसर् को ;बीजक सं.178 दि.06 अप्रैल, 2005द्ध ;पपद्ध मै. नूतन एन्टरप्राइजिज को ;बीजक सं.180 दि.09 अप्रैल, 2005द्ध सड़क किनारे रखने के डिब्बे / 4ए200 प्रति डिब्बा ;पपपद्ध मै. रमन टे ªडसर् को 100 बड़ी बाल्िटयां ;बीजक सं.209 दि.28 अप्रैल, 2005द्ध / 850 प्रति बाल्टी उपरोक्त सौदों की प्रविष्िट बिक्री रोजनामचे में निम्न प्रकार से होगीः कोयना सप्लायसर् की पुस्तकें विक्रय ;रोजनामचाद्ध पुस्तक तिथ्िा बीजक सं. ग्राहक का नाम ;नाम किये जाने वाला खाताद्ध ब.पृ.स राश्िा रु 2005 06 अप्रैल 09 अप्रैल 28 अप्रैल 178 180 209 रमन ट्रेडसर्नूतन एंटरप्राइिाश रमन ट्रेडसर् 4ए850 21ए000 85ए000 30 अप्रैल 1ए10ए850 विक्रय रोजनामचे सेे प्रविष्िट खाता बही में सीध्े ग्राहक के खाते के नाम में की जाती है। क्रय रोजनामचे की ही तरह विक्रय रोजनामचे में खातौनी दैनिक आधर पर की जा सकती है। विक्रय रोजनामचे का योग एक अवध्ि ;साधरणतः एक मासद्ध के अंत में किया जाता है। जिसकी खतौनी खाता बही में विक्रय खाते के जमा पक्ष में की जाती है। विक्रय ;रोजनामचेद्ध पुस्तक जिसका उदाहरण उफपर दिया गया है, की खाता बही में खतौनी निम्न प्रकार से की जाएगीः रमन ट्रेडसर् का खाता नूतन एन्टरप्राइिाश का खाता तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 06 अप्रैल 28 अप्रैल विक्रयविक्रय 4ए850 85ए000 तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 01 अप्रैल विक्रय 21ए000 विक्रय खाता तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 अप्रैल विक्रय पुस्तक के अनुसार विवध् विक्रय 1ए10ए850 4ण्5 विक्रय वापसी ;रोजनामचाद्ध पुस्तक इस रोजनामचे का प्रयोग ग्राहकों द्वारा माल की वापसी को अभ्िालिख्िात करने के लिए किया जाता है। जब ग्राहकों द्वारा माल की वापसी होती है तो क्रेडिट नोट तैयार किया जाता है, जिस प्रकार क्रय वापसी की दशा में डेबिट नोट बनाया जाता है। डेबिट नोट और क्रेडिट नोट में अन्तर यही है कि विगतबिक्रीकत्तार् बनाता है और परवतीर् ग्राहक तैयार करता है। डेबिट नोट की तरह क्रेडिट नोट की भी मूल और प्रतिलिपि तैयार की जाती है। जिसमें ग्राहक संबंध्ी विवरण, जैसे कि ग्राहक का नाम, वापस हुए माल का ब्यौरा तथा मूल्य राश्िा लिखी जाती है। प्रत्येक क्रेडिट नोट क्रमानुसार एवं तिथ्िावार तैयार होता है। विक्रय वापसी पुस्तक में प्रविष्िटयों के अभ्िालेखन हेतु मूल विपत्रा समान्यतया क्रेडिट नोट होता है। विक्रय वापसी का प्रारूप चित्रा 4ण्9 में दशार्या गया है। यदि हम उपरोक्त उदाहरण को देखें तो आप पाएंगे कि मै. कोयना सप्लायर की विक्रय ;रोजनामचाद्ध पुस्तक के अनुसार रमन टेªडसर् को जल शोधक 2ए100 ;2ए100 2 त्र 4ए200 रु.द्ध रु. प्रति के अनुसार बेचे गए। जिन में एक जल शोध्क विनिमार्ण दोष के कारण ;क्रेडिट नोट सं.10ध्2005द्ध वापस कर दिया गया। इस स्िथति में बिक्री वापसी ;रोजनामचाद्ध पुस्तक निम्न प्रकार से बनाइर् जाएगीः विक्रय वापसी ;रोजनामचाद्ध पुस्तक तिथ्िा क्रेडिट सं. ग्राहक का नाम ;जमा किये जाने वाला खाताद्ध ब.पृ.स राश्िा रु चित्रा 4ण्9: विक्रय वापसी ;रोजनामचाद्ध का प्रारूप खरीद रोजनामचे की ही तरह विक्रय वापसी रोजनामचे में भी माल वापसी की स्िथति में ग्राहक के खाते को वापस किए गए माल के मूल्य से जमा किया जाएगा तथा विक्रय वापसी खाते की खतौनी अवध्ि विशेष के अंत में किए गए योग से नाम में की जाएगी। विक्रय वापसी ;रोजनामचाद्ध पुस्तक तिथ्िा क्रेडिट सं. ग्राहक का नाम ;जमा किये जाने वाला खाताद्ध ब.पृ.स राश्िा रु 10ध्2005 रमन ट्रेडसर् 2ए100 2ए100 रमन ट्रेडसर् कर खाता तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु विक्रय वापसी 2ए100 विक्रय वापसी खाता तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु विक्रय पुस्तक के अनुसार विवध् विक्रय 2ए100 उदाहरण 5 निम्नलिख्िात लेन - देनों की प्रविष्िट मै. हाइर् - पफाइर् पफैशन्स के क्रय एवं क्रय - वापसी पुस्तकों में करें तथा सितंबर 2005 के लिए खाता तैयार करें। तिथ्िा ब्यौरा 1 सितंबर 8 सितंबर रतना ट्रेडसर् से निम्नलिख्िात माल खरीदा ;बीजक सं.714द्ध 25 कमीजें / 300 रु. प्रति कमीज 20 पैंट / 700 रु. प्रति पैंट व्यापारिक बट्टा 10: मै. बाम्बे पफैशन हाउफस से निम्नलिख्िात उधर माल खरीदा। 10 सितंबर 15 सितंबर 20 सितंबर 24 सितंबर 28 सितंबर ;बीजक सं.327द्धः 10 पफैंसी ट्राउफजर / 500 रु. प्रति ट्राउफजर 20 पफैंसी हैट / 100 रु. प्रति हैट व्यापारिक बट्टा 5: मै. रतना ट्रेडसर् का माल वापसी ;डेबिट नं.102द्ध 3 कमीजें / 300 रु. प्रति कमीज 1 पैंट / 700 रु. प्रति पैंट व्यापारिक बट्टा 10: मै. जोल्टा पफैशन से निम्नलिख्िात माल उधर खरीदा, ;बीजक सं.6781द्धः 10 जैकटें / 1ए000 रु. प्रति जैकट 5 सादी कमीजें / 200 रु. प्रति कमीज व्यापारिक बट्टा 15: मै. ब्राइड पैलेस से निम्नलिख्िात माल उधर खरीदा, ;बीजक सं.1076द्धः 10 पफैंसी लहंगा / 2ए000 रु. प्रति लहंगा व्यापारिक बट्टा 5: मै. बाम्बे पफैशन हाउफस को माल की वापसी ;डेबिट नोट सं.103द्ध 2 पफैंसी ट्राउफजर / 500 रु. प्रति ट्राउफजर 4 पफैंसी हैट / 100 रु. प्रति हैट व्यापारिक बट्टा 5: मै. ब्राइड पैलेस को माल की वापसी ;डेबिट नोट सं.105द्ध 1 पफैंसी लहंगा / 2ए000 रु. प्रति लहंगा व्यापारिक बट्टा 5: हल हाइर् - लाइर्पफ पफैशन्स की पुस्तकें क्रय ;रोजनामचाद्ध पुस्तक तिथ्िा बीजक सं आपूतिर्कत्तार् का नाम ;नाम किये जाने वाला खाताद्ध ब.पृ.सं राश्िा रु 2005 24 सितंबर 08 सितंबर 15 सितंबर 20 सितंबर 714 327 6781 1076 रतना ट्रेडसर् बाम्बे पफैशन हाउफसजोल्टा पफैशनब्राइड पैलेस 19ए350 6ए650 9ए350 19ए000 30 सितंबर 54ए350 क्रय वापसी ;रोजनामचाद्ध पुस्तक तिथ्िा बीजक सं आपूतिर्कत्तार् का नाम ;नाम किये जाने वाला खाताद्ध ब.पृ.सं. राश्िा रु 2005 10 सितंबर 24 सितंबर 28 सितंबर 102 103 106 रतना ट्रेडसर्बाम्बे पफैशन हाउफसब्राइड पैलेस 1ए440 1ए330 1ए900 30 सितंबर 4ए670 ;पपद्ध खतौनी मै. हाइर् - लाइपफ पफैशन्स की पुस्तवेंफ रतना ट्रेडसर् का खाता तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 10 सितंबर क्रय वापसी 1ए440 2005 01 सितंबर क्रय 19ए350 बाम्बे पफैशन हाउफस खाता तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 24 सितंबर क्रय वापसी 1ए330 2005 08 सितंबर क्रय 6ए650 जोल्टा पफैशन खाता तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 15 सितंबर क्रय 9ए350 ब्राइड पैलेस खाता तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 28 सितंबर क्रय वापसी 1ए900 20 सितंबर क्रय 19ए000 क्रय खाता तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 सितंबर क्रय रोजनामचे के अनुसार विवध् क्रय 54ए350 क्रय वापसी खाता तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 सितंबर क्रय वापसी पुस्तक के अनुसार विविध् क्रय वापसी 4ए670 उदाहरण 6 निम्नलिख्िात लेन - देनों को मै. विनीत स्टोसर् विक्रय और विक्रय वापसी पुस्तक में लिखेंः तिथ्िा ब्यौरा 01 दिसंबर मै. रोहित स्टोसर् को उधर माल बेचा ;बीजक सं.325द्ध 30 बाल पुस्तकें / 60 रु. प्रति पुस्तक 20 जानवर संबंध्ी पुस्तकें / 50 रु. प्रति पुस्तक 05 दिसंबर मै. मीरा स्टोसर् को उधर माल बेचा ;बीजक सं.328द्ध 100 ग्रीटिंग काडर् / 12 रु. प्रति काडर् 50 संगीतमय काडर् / 50 रु. प्रति काडर् व्यापारिक बट्टा 5ः 10 दिसंबर मै. मेगा स्टेशनसर् को उधर माल बेचा ;बीजक सं.329द्ध 50 पैड / 20 रु. प्रति पैड 50 कलर पुस्तकें काडर् / 30 रु. प्रति पुस्तक 20 स्याही पैड / 16 रु. प्रति पैड 15 दिसंबर मै. रोहित स्टोसर् से माल की वापसी ;क्रेडिट नोट सं.201द्ध 2 बाल पुस्तकें / 60 रु. प्रति पुस्तक 1 जानवर संबंध्ी पुस्तकें / 50 रु. प्रति पुस्तक 19 दिसंबर मै. आभा ट्रेडसर् को उधर माल बेचा ;बीजक सं.355द्ध 100 काडर् पुस्तकें / 10 रु. प्रति पुस्तक 50 नोट बुक्स / 35 रु. प्रति बुक व्यापारिक बट्टा 5ः 22 दिसंबर मै. मेगा स्टेशनसर् से उधर माल बेचा ;क्रेडिट नोट सं.204द्ध 2 कलर पुस्तकें काडर् / 30 रु. प्रति पुस्तक 26 दिसंबर मै. भारती स्टोसर् को उधर माल बेचा ;बीजक सं.325द्ध 100 ग्रीटिंग काडर् पुस्तकें / 20 रु. प्रति काडर् 100 पफैंसी लिपफापफे / 5 रु. प्रति लिपफापफा 30 दिसंबर मै. आभा ट्रेडसर् से माल की वापसी ;क्रेडिट नोट सं.207द्ध 20 काडर् पुस्तकें / 10 रु. प्रति काडर् 5 नोट बुक्स / 35 रु. प्रति बुक व्यापारिक बट्टा 5ः हल विनीत स्टोसर् की पुस्तकें विक्रय ;रोजनामचाद्ध पुस्तक तिथ्िा बीजक सं. ग्राहक का नाम ;नाम किये जाने वाला खाताद्ध ब.पृ.स राश्िा रु 2005 01 दिसंबर 05 दिसंबर 10 दिसंबर 19 दिसंबर 26 दिसंबर 325 328 329 335 340 रोहित स्टोसर् मेगा स्टोसर्मेगा स्टेशनसर्आभा ट्रेडसर्भारती ट्रेडसर् 2ए800 3ए515 2ए820 2ए375 2ए500 31 दिसंबर 14ए010 विक्रय वापसी ;रोजनामचाद्ध पुस्तक तिथ्िा क्रेडिट नोट सं. ग्राहक का नाम ;जमा किये जाने वाला खाताद्ध ब.पृ.स राश्िा रु 2005 15 दिसंबर 22 दिसंबर 30 दिसंबर 31 दिसंबर 201 204 206 रोहित स्टोसर् मेगा स्टेशनसर् आभा ट्रेडसर् 170 150 333 653 ;पपद्ध खतौनी रोहित स्टोसर् खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 01 दिसंबर विक्रय 2800 2005 15 दिसंबर विक्रय वापसी 170 मीरा स्टोसर् का खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 05 दिसंबर विक्रय 3ए515 मेगा स्टेशनसर् का खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 10 दिसंबर विक्रय 2ए820 2005 22 दिसंबर विक्रय वापसी 150 आभा ट्रेडसर् का खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 19 दिसंबर विक्रय 2ए375 30 दिसंबर विक्रय वापसी 333 भारती स्पोटर््स का खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 26 दिसंबर विक्रय 2ए500 विक्रय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 31 दिसंबर विक्रय पुस्तक के अनुसार विविध् विक्रय 14ए010 विक्रय वापसी खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 31 दिसंबर विक्रय वापसी पुस्तक के अनुसार विविध् विक्रय वापसी 653 4ण्6 मुख्य रोजनामचा ऐसे लेन - देन जिनकी प्रथम प्रविष्िट किसी अन्य पुस्तक में नहीं की जाती उन्हें प्रथमतः पुस्तक मंे लिखा जाता है उसे मूल रोजनामचा कहते हैं। इस रोजनामचे में निम्न लेन - देनों का अभ्िालेखन किया जाता है। 1ण् आरंभ्िाक प्रविष्िटः नए लेखांकन वषर् के आरंभ में नइर् लेखा पुस्तवेंफ आरंभ करने के लिए परिसंपिायों, देनदारियों तथा पूँजी आदि के आरंभ्िाक शेष की प्रविष्िट इसी रोजनामचे में की जाती है। 2ण् समायोजन प्रविष्िटयांः उपाजर्न के आधर पर खाता - बही की प्रविष्िटयों को वषर् के अंत में ठीककरने के लिए कइर् बार कुछ समायोजन प्रविष्िटयाँ करनी पड़ती हैं जैसे अदत्त किराए, पूवर्दत्त बीमे, मूल्य ”ास तथा अगि्रम प्राप्त कमीशन आदि। यह सभी प्रविष्िटयां मूल रोजनामचे में अभ्िालिख्िात की जाती हैं। 3ण् शोध्न प्रविष्िटयांः मूल प्रविष्िट की पुस्तकों में अशुियों के शोध्न व उनकी खतौनी खाता बही में करने के लिए भी इसी रोजनामचे का प्रयोग किया जाता है। 4ण् स्थानांतरण प्रविष्िटयांः लेखांकन वषर् के अंत में आहरण खाते के शेष का स्थानांतरण पूँजी खाते में किया जाता है व्यय व आगम खाते जिनका संतुलन कुछ विशेष लेन - देनों को अभ्िालिख्िात करने के कारण नहीं किया गया था। व्यवसाय की ियाओं से संबंध्ित खाते जैसे विक्रय, क्रय, आरंभ्िाक रहतिया, आगम, अध्िलाभ व्यय इत्यादि व आहरण आदि को वषर् के अंत में बंद कर इनका शेष व्यापारिक अथवा लाभ हानि खाते में इसी रोजनामचे में प्रविष्िटयों के द्वारा स्थानांतरित किया जाता है। इन सभी प्रविष्िटयों को ‘‘अंतिम प्रविष्िटयां’’ भी कहा जाता है। 5ण् अन्य प्रविष्िटयां: बिन्दु एक चार में उल्िलख्िात प्रविष्िटयों के अतिरिक्त निम्न लेन - देनों की प्रविष्िट मूल रोजनामचे में की जाती है। ;पद्ध एक चेक के अनादरित होने पर उस लेन - देन से संबंध्ित दी गइर् या प्राप्त की गइर् छूट को निरस्त करने संबंध्ी प्रविष्िट। ;पपद्ध माल के अतिरिक्त अन्य किसी भी वस्तु के उधर क्रय की प्रविष्िट। ;पपपद्ध स्वामी द्वारा व्यवसाय से व्यक्ितगत प्रयोग के लिए आहरित वस्तुओं से संबंध्ित प्रविष्िट। ;पअद्ध विक्रय संवध्र्न के लिए नमूने के तौर पर वितरित माल की प्रविष्िट। ;अद्ध विनिमय साध्य प्रलेख के पृष्ठांकन व अनादरण की प्रविष्िट। ;अपद्ध प्रेषण और संयुक्त उपक्रम संबंध्ी प्रविष्िटयां। ;अपपद्ध चोरी/खराबी/आग से माल की हानि संबंध्ी प्रविष्टयां। स्वयं जाँचिए - 1 सही उत्तर का चयन करें ;अद्धजब पफमर् रोकड़ बही बनाती है तो उसे बनाने की आवश्यकता नहीं हैः ;पद्ध मूल रोजनामचा ;पपद्ध खरीद रोजनामचा ;पपपद्ध क्रय रोजनामचा ;पअद्ध खाता बही में बैंक व रोकड़ खाता ;बद्धद्विस्तंभीय रोकड़ पुस्तक में अभ्िालिख्िात होता हैः ;पद्ध सभी लेन - देन ;पपद्ध नकद व बैंक संबंध्ी लेन - देन ;पपपद्ध केवल नकद लेन - देन ;पअद्ध केवल उधर लेन - देन ;सद्धरोकड़ में खरीदे हुए माल को अभ्िालिख्िात किया जाएगाः ;पद्ध क्रय पुस्तक ;पपद्ध विक्रय पुस्तक ;पपपद्ध रोकड़ बही ;पअद्ध क्रय वापसी पुस्तक ;तद्धरोकड़ बही मे कौन से लेन - देन नहीं लिखे जातेः ;पद्ध नकद प्रकृति के ;पपद्ध उधर प्रकृति के ;पपपद्ध नकद व उधर प्रकृति के ;पअद्ध कोइर् भी नहीं ;थद्ध इन लेन - देनों के कुल योग क्या क्रय पुस्तक में प्रविष्ट किए जाऐंगेः ;पद्ध पफनीर्चर की खरीद ;पपद्ध नकद व उधर खरीद ;पपपद्ध क्रय वापसी ;पअद्ध स्टेशनरी की खरीद ;दद्धविक्रय वापसी रोजनामचे का आवध्िक योग ................. खाते में प्रविष्ट किए जाता है। ;पद्ध विक्रय खाता ;पपद्ध माल खाता ;पपपद्ध क्रय वापसी खाता ;पअद्ध विक्रय वापसी खाता ;ध्द्ध रोकड़ बही में बैंक खाते का जमा शेष प्रदश्िार्त करता है। ;पद्ध अध्िविकषर् ;पपद्ध बैंक में जमा की गइर् रोकड़ ;पपपद्ध बैंक से आहरित रोकड ;पअद्ध कोइर् भी नहीं ;नद्धक्रय वापसी रोजनामचेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेे का आवध्िक योग ................ खाते में प्रविष्ट किया जाता है। ;पद्ध क्रय खाता ;पपद्ध लाभ व हानि खाता ;पपपद्ध क्रय वापसी खाता ;पअद्ध पफनीर्चर खाता ;यद्ध खातों को संतुलित करने का अथर् है ;पद्ध नाम पक्ष का योग ;पपद्ध जमा पक्ष का योग ;पपपद्ध नाम व जमा पक्ष के योग के अंतर की गणना ;पअद्ध कोइर् भी नहीं 4ण्7 खातों का संतुलन खाता बही में खातों को एक निश्िचत अवध्ि के अंत में ही संतुलित किया जाता है। साधरणतः यह समय लेखांकन वषर् के अंत का होता है। यहाँ उद्देश्य व्यवसाय की वास्तविक स्िथति का अनुमान लगाना होता है। खातों के संतुलन से तात्पयर् है, नाम व जमा पक्ष के कुल योग का बराबर होना। इसके लिए प्रथमतः दोनों पक्षों का अलग - अलग योग निकाला जाता है। पिफर दोनों पक्षों के योग के अंतर की गणना की जाती है। तत्पश्चात इस अंतर की राश्िा को उस पक्ष में लिखा जाता है जिसका योग कम था, इस प्रकार दोनों पक्षों का कुल योग बराबर हो जाता है। दोनों पक्षों की राश्िायों के अंतर के आगे शेष ;बध्कद्ध आ/ले लिखते हंै। यह राश्िा जब नए वषर् के खाते मंे लिखी जाती है तो इसके आगे शेष आ/ला ;इध्कद्ध शब्द लिखते हंै। ऐसा व्यवसाय जीवन अवध्ि तक किया जाता है अन्यथा उस समय तक जब तक कि वह खाता पूणर् रूप से बंद न कर दिया जाए। यदि नाम पक्ष का योग जमा पक्ष के योग से अध्िक हो तो अंतर की राश्िा जमा पक्ष की ओर लिखी जाएगी और यदि जमा पक्ष का योग नाम पक्ष के योग से अध्िक हो तो अंतर की राश्िा नाम पक्ष में लिखी जाएगी। यदि यह अंतर नाम पक्ष मंे लिखा जाए तो खाते के ऐसे शेष को नाम शेष व यदि जमा पक्ष मंे लिखा जाए तो क्रमशः जमा शेष कहलाता है। हानियों एवं व्ययों के खाते और अभ्िावृियों एवं आगमों के खातों को संतुलित नहीं किया जाता अपितु उनके शेष को लाभ - हानि खाते में हस्तांतरित कर प्रतिवषर् उन्हें बंद कर दिया जाता है। निम्न उदाहरण द्वारा लेन - देन खातों के अभ्िालेखन, उनकी खाता बही के विभ्िान्न खातों में, खतौनी व खातों के संतुलन की सम्पूणर् प्रिया को दशार्या गया है। तिथ्िा विवरण 2005 01 अप्रैल 1ए00ए000 रु. की पूँजी से व्यापार प्रारंभ किया 02 अप्रैल 40ए000 रु. बैंक में जमा करवाए 02 अप्रैल 6ए000 रु. का पफनीर्चर व 42ए000 रु. की भूमि नकद खरीदे 03 अप्रैल 17ए000 रु. मूल्य के बिजली के तार व पिला का क्रय मैं. मलिका ब्रदसर् से किया जिसका भुगतान चेक द्वारा हुआ 04 अप्रैल मै. हौन्डा कंपनी से बीजक संख्या 544 के अनुसार क्रय किए गए 28 इमरसन हीटर ;1ए000 वाटद्ध / 50 रु. प्रति हीटर 28 ट्यूब / 35 रु. प्रति ट्यूब घटा व्यापार बट्टा 12ण्5ः 04 अप्रैल 2ए300 रु. की नकद स्टेशनरी खरीदी 05 अप्रैल मैं. दयाल टेªडसर् से 6ः की ब्याज दर से 25ए000 रु. का )ण लिया जिसे अगले दिन बैंक मंे जमा करवाया 05 अप्रैल 80 रु. माल की ढुलाइर् व 20 रु. अन्य शुल्क का भुगतान किया 06 अप्रैल मैं. बुरारी लि. से बीजक संख्या 125 के अनुसार क्रय किया 50 यूनिवसर्ल टेबल लैम्प / 80 रु. प्रति टेबल लैम्प 20 बिजली से चलने वाली साधरण केतलियां / 125 रु. प्रति केतली 5 प्रेस / 300 प्रति पे्रस व्यापारिक बट्टा 20ः 07 अप्रैल मै. रमनीक से बीजक सं.871 के अनुसार विक्रय किया 10 इमरसन हीटर ;1000 वाटद्ध / 60 रु. प्रति हीटर 5 टेबल लैम्प / 100 रु. प्रति लैम्प 2 प्रेस / 320 रु. प्रति प्रैस 08 अप्रैल मै. कपाडिया को बीजक संख्या 880 के अनुसार उधर बेचा 15 इमरसन / 60 रु. प्रति हीटर 15 ट्यूब लाइट / 38 रु. प्रति हीटर 10 अप्रैल मै रमनीक से विक्रय वापसी 2 इमरसन हीटरऋ 1 प्रेस 11 अप्रैल 11 अपलै्र12 अप्रैल 15 अप्रैल 16 अप्रैल 18 अप्रैल 19 अप्रैल 20 अप्रैल 21 अप्रैल 21 अप्रैल 23 अप्रैल 23 अप्रैल 24 अप्रैल 25 अप्रैल 25 अप्रैल 26 अप्रैल 27 अप्रैल 4ए000 रु. चेक द्वारा किराए का भुगतान किया मै. रुगटा से नकद भुगतान कर क्रय किया 5 इमरसन हीटर ;1000 वाॅटद्ध / 45 रु. प्रति हीटर मुरारी ल्ि. को माल वापस किया ;पद्ध3 टेबल लैम्प ;युनिवसर्लद्ध ;पपद्ध2 बिजली की केतलियाँ। ;पपद्ध 1 प्रेस। क्वालिटी पफनीर्चर लि. से 8ए000 रु. का पफनीर्चर खरीदा विज्ञापन व्यय के रूप में 12ए000 रु. का भुगतान किया मै. दमन को बीजक संख्या 901 के अनुसार उधर विक्रय किया 10 बिजली की साधरण केतलियां / 130 रु. प्रति केतली मै. कोचर कं. से बीजक सं.205 के अनुसार उधर क्रय किया 25 मिक्सी / 600 रु. प्रति मिक्सी 40 प्रेस ;विशेषद्ध / 540 रु. प्रति प्रैस व्यापारिक बट्टा 20ः मै. रमनीक को बिल नं.925 के अनुसार विक्रय किया 4 मिक्सी / 600 रु. प्रति मिक्सी मै. रमनीक से 3ए700 रु. का चेक उनके द्वारा देय राश्िा के अन्ितम भुगतान के रूप में प्राप्त किया। जिसे दो दिन बाद बैंक में जमा करवाया मै. बुरारी लि. से बीजक सं.157 के अनुसार उधर क्रय किया 10 बिजली की केतलियां / 125 रु. प्रति केतली 20 बिजली के लैम्प / 80 रु. प्रति लैम्प व्यापारिक छूट 20ः मै. नूतन को बीजक संख्या 958 के अनुसार विक्रय 2 मिक्सी / 600 प्रति मिक्सी 14ए500 रु. की बिजली की तारो व प्लगों की नकद बिक्री। दी गइर् नकद छूट 200 रुमै. हितेश से नकद क्रय 5 पंखे / 740 रु. प्रति पंखा 1ए320 रु. के विद्युत शुल्क का भुगतान किया मै. बुरारी लि. को चेक द्वारा भुगतान किया उनसे 320 रु. की छूट प्राप्त की मै. मोहित माटर् से 3ए200 रु. की स्टेशनरी खरीदी मैं. दमन को बीजक सं.981 के अनुसार उधर विक्रय 15 टेबल लैम्प / 100 रु10 इमरसन हीटर ;1000 वाटद्ध / 80 रु28 अप्रैल 5ए000 रु. बैंक मंे जमा करवाए 30 अप्रैल 8ए000 रु. व्यक्ितगत प्रयोग के लिए आहरित किए 30 अप्रैल चेक द्वारा 2ए700 रु. के टेलिपफोन बिल का भुगतान किया 30 अप्रैल चेक द्वारा 1ए600 रु. की बीमा की किस्त का भुगतान किया 30 अप्रैल मै हौन्डा व कंपनी को 2ए450 रु. का भुगतान चेक द्वारा किया रुगता को भी 28ए000 रु. का भुगतान चेक द्वारा किया व उसने हमें 1ए280 रु. छूट दी। क्रय ;रोजनामचाद्ध पुस्तक तिथ्िा बीजक सं. आपूतिर्कत्तार् का नाम ;जमा किये जाने वाला खाताद्ध ब.पृ.स राश्िा रु 2005 04 अप्रैल 06 अप्रैल 19 अप्रैल 21 अप्रैल 30 अप्रैल 544 125 205 157 हौन्डा कंबुरारी लिकोच्चर कं. लिबुरारी लि 2ए450 6ए400 29ए280 2ए280 40ए410 विक्रय ;रोजनामचाद्ध पुस्तक तिथ्िा बीजक ग्राहक का नाम ब.पृ.स राश्िा सं. ;नाम किये जाने वाला खाताद्ध रु 2005 07 अप्रैल 871 रमनीक 1ए740 08 अप्रैल 880 कपाडि़या 1ए470 18 अप्रैल 902 दमन 1ए300 20 अप्रैल 925 रमनीक 2ए400 23 अप्रैल 958 नूतन 1ए200 27 अप्रैल 981 दमन 2ए300 30 अप्रैल 10ए410 क्रय वापसी ;रोजनामचाद्ध पुस्तक तिथ्िा बीजक सं. आपूतिर्कत्तार् का नाम ;नाम किये जाने वाला खाताद्ध ब.पृ.स राश्िा रु 2005 12 अप्रैल 30 अप्रैल बुरारी लि 632 632 विक्रय वापसी ;रोजनामचाद्ध पुस्तक तिथ्िा बीजक सं. ग्राहक का नाम ;जमा किये जाने वाला खाताद्ध ब.पृ.स राश्िा रु 10 अप्रैल रमनीक 440 30 अप्रैल 440 मुख्य रोजनामचा तिथ्िा विवरण ब.पृ.सं. डेबिट राश्िा रु. क्रेडिट राश्िा रु 2005 15 अप्रैल 25 अप्रैल 26 अप्रैल 30 अप्रैल पफनीर्चर खाता क्वालिटी पफनीर्चर खाता ;उधर पर पफनीर्चर खरीदाद्ध नाम 8ए000 320 3ए200 1ए280 8ए000 320 3ए200 1ए280 बुरारी लि. खाता बट्टा खाता ;बट्टा प्राप्तद्ध नाम स्टेशनरी खाता मोहित माटर् खाता ;उधर पर स्टेशनरी की खरीदद्ध नाम कोच्चर खाता बट्टा खाता ;बट्टा प्राप्तद्ध नाम योग 12ए800 12ए800 रोकड़ बही नाम जमा तिथ्िा 2005 अप्रैल 01 02 विवरण पूँजी रोकड़ ब.पृ.सं.रोकड़ बैंक तिथ्िा रुरु2005 अप्रैल 1ए00ए000 02 ब् 40ए000 02 विवरण बैंक पफनीर्चर ब.पृ.सं.रोकड़ रुब् 40ए000 6ए000 बैंक रु 05 06 21 23 23 28 30 मइर् 01 6ः ट्टणरोकड़ रमनीक रोकड़ विक्रय रोकड़ शेष आ/ला ब् ब् ब् 25ए000 3ए700 14ए500 25ए000 3ए700 5ए000 02 03 04 05 06 11 11 16 23 24 25 25 28 30 30 30 30 30 30 30 भूमि क्रय स्टेशनरीविविध् व्यय बैंक किरायाक्रयविज्ञापन बैंक क्रयविजलीशुल्क भारती लिबैंक आहरण टेलिपफोन व्यय बीमा हौन्डा कंकोच्चर एण्ड कंशेष आ/ले ब् ब् ब् 42ए000 2ए300 100 25ए000 225 1ए200 3ए700 3ए700 1ए320 5ए000 8ए000 1ए600 4ए655 17ए000 4ए000 7ए728 2ए700 2ए450 28ए000 10ए222 1ए43ए200 73ए700 1ए43ए200 73ए700 4ए655 10ए222 अभ्िालिख्िात सौदों की खतौनी इस प्रकार की जाएगी। पूँजी खाता तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 अप्रैल शेष आ/ले 1ए00ए000 2005 01 अप्रैल रोकड़ 1ए00ए000 1ए00ए000 1ए00ए000 6ः ट्टण खाता तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 अप्रैल शेष आ/ले 25ए000 2005 05 अप्रैल रोकड़ 25ए000 25ए000 25ए000 रमनीक का खाता तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 2005 07 अप्रैल विक्रय 1ए740 10 अप्रैल विक्रय वापसी 440 20 अप्रैल विक्रय 2ए400 21 अप्रैल रोकड़ 3ए700 4ए140 4ए140 विक्रय खाता तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 23 अप्रैल 30 अप्रैल रोकड़विविध् विक्रय 14ए500 10ए410 24ए910 पफनीर्चर खाता तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 2005 02 अप्रैल रोकड़ 6ए000 30 अप्रैल शेष आ/ले 14ए000 15 अप्रैल क्वालिटी 8ए000 पफनीर्चर 14ए000 14ए000 लेन - देनों का अभ्िालेखन . 2 149 भूमि खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 02 अप्रैल रोकड़ 42ए000 2005 30 अप्रैल शेष आ/ले 42ए000 42ए000 42ए000 क्रय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 03 अप्रैल11 अप्रैल 24 अप्रैल 30 अप्रैल बैंकबैंकरोकड़ विविध् क्रय 17ए000 225 3ए700 40ए410 61ए335 स्टेशनरी खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 04 अप्रैल 26 अप्रैल रोकड़मोहित माटर् 2ए300 3ए200 5ए500 विविध् व्यय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 05 अप्रैल रोकड़ 100 100 150 लेखाशास्त्रा - वित्तीय लेखांकन किराया खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 04 अप्रैल बैंक 4ए000 4ए000 विज्ञापन खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 16 अप्रैल रोकड 1ए200 1ए200 बिजली व्यय खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 25 अप्रैल रोकड़ 1ए320 1ए320 आहरण खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 अप्रैल रोकड़ 8ए000 8ए000 लेन - देनों का अभ्िालेखन . 2 151 टेलीपफोन शुल्क खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 अप्रैल बैंक 2ए700 2005 2ए700 बीमा खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 अप्रैल बैंक 1ए600 1ए600 क्वालिटी पफनीर्चर खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 अप्रैल शेष आ/ले 8ए000 2005 15 अप्रैल पफनीर्चर 8ए000 8ए000 8ए000 मोहित माटर् खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 अप्रैल शेष आ/ले 3ए200 2005 26 अप्रैल स्टेशनरी 3ए200 3ए200 3ए200 152 लेखाशास्त्रा - वित्तीय लेखांकन क्रय वापसी खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 अप्रैल विविध् क्रय वापसी 632 632 हौन्डा कंपनी का खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 अप्रैल बैंक 2ए450 2005 04 अप्रैल क्रय 2ए450 2ए450 2ए450 बुरारी लि. खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 2005 12 अप्रैल क्रय 632 06 अप्रैल क्रय 6ए400 वापसी क्रय 2ए280 25 अप्रैल बैंक 7ए728 21 अप्रैल बट्टा 8ए680 320 8ए680 कोच्चर लि. खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 30 अप्रैल बैंक बट्टा 28ए000 1ए280 2005 19 अप्रैल क्रय 29ए280 29ए280 29ए280 लेन - देनों का अभ्िालेखन . 2 153 विक्रय वापसी खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 2005 30 अप्रैल विवध् विक्रय 440 30 अप्रैल वापसी 440 कपाडि़या का खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 08 अप्रैल विक्रय 1ए470 2005 30 अप्रैल शेष आ/ले 1ए470 1ए470 1ए470 दमन का खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 18 अप्रैल 27 अप्रैल विक्रयविक्रय 1ए300 2ए300 2005 30 अप्रैल शेष आ/ले 3ए600 3ए600 3ए600 नूतन खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 23 अप्रैल विक्रय 1ए200 2005 30 अप्रैल शेष आ/ले 1ए200 1ए200 1ए200 154 लेखाशास्त्रा - वित्तीय लेखांकन बट्टा प्राप्ित खाता नाम जमा तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु तिथ्िा विवरण रो.पृ.सं राश्िा रु 2005 25 अप्रैल बुरारी लि 320 30 अप्रैल कोच्चर 1ए280 1ए600 स्वयं जाँचिए . 2 1ण् रिक्त स्थान में सही शब्द भरिए - ;कद्ध रोकड़ बही एक ............. रोजनामचा है। ;खद्ध मूल रोजनामचे में केवल ............... छूट ही अभ्िालिख्िात की जाती है। ;गद्ध माल के पूतिर्कार से क्रय माल में से यदि कुछ माल वापिस किया जाता है तो उसका अभ्िालेखन ............ रोजनामचे में होगा। ;घद्ध उधर बेची गइर् संपिा का अभ्िालेखन ................. में होगा। ;ड.द्ध द्विस्तंभीय रोकड़ बही में .............. व ............... से संबंध्ित लेन - देनों का अभ्िालेखन किया जाता है। ;चद्ध रोकड़ बही के नाम पक्ष का योग उसके जमा पक्ष के योग से ............. होता है। ;छद्ध रोकड़ बही में ......... संबंध्ी सौदों का लेखा नही किया जाता। ;जद्ध द्विस्तंभीय रोकड़ बही में ............ संबंध्ी लेन - देनों का अभ्िालेखन भी किया जाता है। ;झद्ध रोकड़ बही के बैंक स्तंभ का जमा शेष .............. की स्िथति का प्रदशर्न करता है। ;×ाद्ध खुदरा रोकडि़ये को अवध्ि के आरंभ में दी गइर् रोकड़ .............. कहलाती है। ;टद्ध ............... पर क्रय किए गए माल को क्रय पुस्तक में अभ्िालिख्िात किया जाता है। 2ण् बताइए कि निम्नलिख्िात कथन सत्य है अथवा असत्यः ;कद्ध रोजनामचा गौण प्रविष्िट की पुस्तक है। ;खद्ध यदि किसी प्रविष्िट में एक खाते को नाम व एक से अध्िक खातोें को जमा पक्ष में अभ्िालिख्िात किया जाए तो ऐसी प्रविष्िट को संयुक्त/मिश्रित प्रविष्िट कहते हैं। ;गद्ध उधर पर विक्रय हुए परिसंपिायों का अभ्िालेखन विक्रय पुस्तक में किया जाता है। ;घद्ध क्रय पुस्तक में नकद व उधर क्रय का अभ्िालेखन किया जाता है। ;ड.द्ध विक्रय रोजनामचे में रोकड़ विक्रय की प्रविष्िट की जाती है। ;चद्ध रोकड़ बही में प्राप्ितयों व भुगतान संबंध्ी लेन - देनों का अभ्िालेखन किया जाता है। ;छद्ध खाता बही एक सहायक पुस्तक है। ;जद्ध खुदरा रोकड़ बही में बड़े भुगतानों का अभ्िालेखन किया जाता है। ;झद्ध रोकड़ बही के नाम पक्ष में नकद प्राप्ितयों का अभ्िालेखन किया जाता है। ;×ाद्ध ऐसा लेन - देन जिसका अभ्िालेखन रोकड़ बही के नाम व जमा दोनों पक्षों में हो विपयर्य लेन - देन कहलाते हैं। ;टद्ध खातों के सन्तुलन से तात्पयर् है नाम व जमा पक्ष का योग निकालना ;तद्ध मशीन की उधर खरीद को क्रय रोजनामचे में अभ्िालिख्िात किया जाएगा। इस अध्याय में प्रयुक्त शब्द ò रोकड़ बही ò खुदरा रोकड़ बही ò दैनिक पुस्तकें ò क्रय ;रोजनामचाद्ध पुस्तक ò विक्रय ;रोजनामचाद्ध पुस्तक ò क्रय वापसी ;रोजनामचाद्ध पुस्तक ò विक्रय वापसी ;रोजनामचाद्ध पुस्तक ò खतौनी ò खातों का संतुलन अध्िगम उद्देश्यों के संदभर् में सारांश 1ण् रोजनामचाः मूल प्रविष्िट की आधरभूत पुस्तक। 2ण् रोकड़ बहीः एक ऐसी पुस्तक व्यापार में जिसका प्रयोग समस्त नकद प्राप्ितयों व भुगतानों को अभ्िालिख्िात करने के लिए किया जाता है। 3ण् खुदरा रोकड़ बहीः ऐसी पुस्तक जिसका प्रयोग छोटी राश्िा के नकद भुगतानों के अभ्िालेखन के लिए किया जाता है। 4ण् क्रय रोजनामचाः एक विशेष रोजनामचा जिसका प्रयोग केवल माल उधर के अभ्िालेखन के लिए किया जाता है। 5ण् विक्रय रोजनामचाः एक विशेष रोजनामचा जिसका प्रयोग केवल माल के उधर विक्रय का अभ्िालेखन करने के लिए किया जाता है। 6ण् क्रय वापसी पुस्तकः ऐसी पुस्तक जिसमें क्रय माल की वापसी के सौदों का अभ्िालेखन किया जाता है। 7ण् विक्रय वापसी पुस्तकः ऐसी विशेष पुस्तक जिसमें उधर बेचे माल में से वापस आए माल संबंधी सौदे का अभ्िालेखन किया जाता है। अभ्यास के लिए प्रश्न लघु उत्तरीय प्रश्न 1ण् संक्षेप में बताइये कि किस प्रकार रोकड़ बही एक रोजनामचा व खाता बही दोनों है। 2ए विपयर्य प्रविष्िट का क्या उद्देश्य है? 3ण् विश्िाष्ट उद्देश्य पुस्तकें क्या हैं? 4ण् खुदरा रोकड़ बही क्या है? इसे किस प्रकार बनाया जाता है। 5ण् रोजनामचे की प्रविष्िटयों की खतौनी से आप क्या समझते हैं। 6ण् सहायक रोजनामचा बनाने का क्या उद्देश्य है? 7ण् आंतरिक वापसी व बाह्य वापसी में अंतर बताइए। 8ण् खाता बही पृष्ठ संख्या से आप क्या समझते हैं? 9ण् व्यापारिक छूट व नकद छूट में क्या अंतर है? 10ण् रोजनामचे से खाता - बही बनाने की प्रिया लिख्िाए। 11ण् खुदरा रोकड़ बही में अगि्रम राश्िा से आप क्या समझते हैं? निबंधत्मक प्रश्न 1ण् विश्िाष्ट पुस्तकें लिखने की आवश्यकता का वणर्न कीजिए। 2ण् रोकड़ बही से आप क्या समझते हैं? इसके विभ्िान्न प्रकारों का वणर्न कीजिए। 3ण् विपर्यय प्रविष्िट से आप क्या समझते हैं? द्विस्तंभीय रोकड़ बही बनाते समय आप इनकी प्रविष्िट कैसे करेंगे? 4ण् खुदरा रोकड़ बही से आप क्या समझते हैं? खुदरा रोकड़ बही के लाभ लिख्िाए। 5ण् रोजनामचे के विभाजन से होने वाले लाभों का वणर्न कीजिए। 6ण् खातों के सन्तुलन से आप क्या समझते हैं। अंकिक प्रश्न एक स्तंभीय रोकड़ बही 1ण् निम्नलिख्िात दिसंबर 2005 के लेन - देनों की प्रविष्िट एक स्तंभीय रोकड़ बही में करेंः रु01 हस्तस्थ रोकड़ 12ए000 05 भानू से नकद प्राप्ित 4ए000 07 किराये का भुगतान 2ए000 10 मुरारी से नकद माल खरीदा 6ए000 15 माल की नकद बिक्री 9ए000 18 लेखन सामाग्री खरीदी 300 22 राहुल को उधर माल की खरीद का भुगतान 2ए000 28 वेतन का भुगतान 1ए000 30 किराये का भुगतान 500 ;उत्तरः हस्तस्थ रोकड़ 13ए200 रु.द्ध 2ण् नवंबर 2005 माह के निम्न सौदों को एकस्तंभीय रोकड़ बही में लिखेंः रु01 हस्तस्थ रोकड़ 12ए500 04 हरि को नकद भुगतान 600 07 माल की खरीद 800 12 अमित से नकद प्राप्ित 1ए960 16 माल की नकद बिक्री 800 20 मनीष को भुगतान 590 25 ढुलाइर् का भुगतान 100 लेन - देनों का अभ्िालेखन . 2 31 वेतन का भुगतान 1ए000 ;उत्तरः हस्तस्थ रोकड़ 12ए170 रु.द्ध 3ण् निम्नलिख्िात सूचना के आधर पर वषर् 2005 दिसंबर माह की द्विस्तंभीय रोकड़ बही बनाएंः रु 01 हस्तस्थ रोकड़ 7ए750 06 सोनू को भुगतान 45 08 माल का क्रय 600 15 प्रकाश से नकद प्राप्ित 960 20 नकद विक्रय 500 25 एस. कुमार को भुगतान 1ए200 30 किराये का भुगतान 600 ;उत्तरः हस्तस्थ रोकड़ 6ए765 रु.द्ध बैंक स्तंभ रोकड़ बही 4ण् वषर् 2005 के दिसंबर माह के लेन - देनों को बैंक स्तंभ रोकड़ बही में दशार्यें रु01 रोकड़ से व्यवसाय आरंभ किया 80ए000 04 बैंक में नकद जमा कराया 50ए000 10 राहुल से नकद प्राप्त किया 1ए000 15 नकद माल खरीदा 8ए000 22 चेक देकर माल खरीदा 10ए000 25 श्याम को नकद भुगतान 20ए000 30 कायार्लय उपयोग के लिए बैंक से राश्िा आहरित 2ए000 31 चेक से किराये का भुगतान किया 1ए000 ;उत्तरः हस्तस्थ रोकड़ 5ए000 रु., बैंक में रोकउ़ 37ए000 रु.द्ध 5ण् निम्न सूचना के आधर पर दिसम्बर 2005 के लिए द्विस्तंभीय रोकड़ बही बनाइये। दिसंबर 2005 रु01 रोकड़ से व्यावसाय प्रारंभ किया 1ए20ए000 03 बैंक में नकद जमा कराया 50ए000 05 सुष्िमता से माल खरीदा 20ए000 06 दिनकर को माल बेच चेक प्राप्त किया 20ए000 10 सुष्िमता को नकद भुगतान किया 20ए000 14 6 दिसंबर 2005 को चेक प्राप्त कर बैंक में जमा किया 18 रानी को माल बेचा 12ए000 20 ढुलाइर् का भुगतान नकद किया 500 22 रानी से भुगतान नकद प्राप्त किया 12ए000 27 कमीशन प्राप्त की 5ए000 30 व्यक्ितगत प्रयोग के लिए रोकड़ आहरित की 2ए000 ;उत्तरः हस्तस्थ रोकड़ 64ए500 रु., बैंक में रोकड़ 70ए000 रु.द्ध 6ण् मै. अम्िबका ट्रेडसर् के लिए निम्न लेन - देनों को नवम्बर 2005 की रोकड़ बही में अभ्िालिख्िात कीजिए। नवंबर 2005 ;रु.द्ध 01 रोकड़ से व्यवसाय प्रारंभ किया 50ए000 03 आइर्. सी. आइर्. सी. आइर्. बैंक में खाता खोला 30ए000 05 नकद माल खरीदा 10ए000 10 नकद भुगतान कर कायार्लय के लिए मशीन खरीदी 5ए000 15 रोहन को माल का विक्रय कर चेक प्राप्त किया 7ण्000 18 नकद विक्रय 8ण्000 20 रोहन का चेक बैंक में जमा करवाया 7ण्000 22 चेक द्वारा ढुलाइर् का भुगतान किया 500 25 व्यक्ितगत प्रयोग के लिए रोकड़ का आहरण किया 2ए000 30 चेक द्वारा किराये केा भुगतान किया 1ए000 ;उत्तरः हस्तस्थ रोकड़ 11ए000 रु. बैक में रोकड़ 35ए500 रु.द्ध 7ण् निम्न सूचना के आधर पर सितम्बर 2004 के लिए द्विस्तंभीय रोकड़ बही बनाइए। सितंबर 2005 रु01 हस्तस्थ रोकड़ 7ए500 01 बैंक अध्िविकषर् 3ए500 03 मजदूरी का भुगतान किया 200 05 नकद विक्रय 7ए000 10 नकद बैंक में जमा करवाइर् 4ए000 15 माल खरीदा व चेक द्वारा भुगतान किया 2ए000 20 किराए का भुगतान किया 500 25 बैंक से व्यक्ितगत प्रयोग के लिए रोकड़ निकाली 400 30 वेतन का भुगतान किया 1ए000 ;उत्तरः हस्तस्थ रोकड़ 8ए800 रु. बैंक अध्िविकषर् 1ए900 रु.द्ध 8ण् मै. मोहित टेªडसर् के जनवरी 2005 के निम्न लेन - देनों को द्विस्तरीय रोकड़ बही में अभ्िालिख्िात कीजिए। जनवरी 2005 रु01 हस्तस्थ रोकड़ 3ए500 बैंक अध्िविकषर् 2ए300 03 नकद माल क्रय किया 1ए200 05 मजदूरी का भुगतान किया 10 नकद विक्रय 8ए000 15 बैंक में रोकड़ जमा की 6ए000 22 माल के विक्रय से प्राप्त चेक जिसे उसी दिन बैंक में जमा किया 2ए000 25 चेक द्वारा किराया दिया 1ए200 28 व्यक्ितगत प्रयोग के लिए बैंक से रोकड़ आहरित की 1ए000 31 चेक द्वारा भुगतान कर माल खरीदा 1ए000 ;उत्तरः हस्तस्थ रोकड़ 4ए100 रु., बैंक में रोकड़ 2ए500 रु.द्ध 9ण् निम्न लेन - देनों की सहायता से दिसम्बर 2005 के लिए द्विस्तंभीय रोकड़ बही बनाइए। दिसंबर 2005 रु01 हस्तस्थ रोकड़ 17ए500 बैंक में रोकड़ 5ए000 03 माल का नकद क्रय 3ए000 05 जसमीत से चेक प्राप्त किया 10ए000 08 नकद माल का विक्रय 7ए000 10 जसमीत से प्राप्त चेक बैंक में जमा करवाया 12 माल का क्रय कर चेक द्वारा भुगतान किया 20ए000 15 स्थापना व्यय का भुगतान बैंक के माध्यम से किया 1ए000 18 नकद विक्रय 7ए000 20 बैंक में रोकड़ जमा करवाइर् 10ए000 24 व्यापारिक व्यय का भुगतान किया 500 27 कमीशन का चेक प्राप्त किया 6ए000 29 किराए का भुगतान किया 2ए000 30 रोकड़ का आहरण व्यक्ितगत प्रयोग के लिए किया 1ए200 31 वेतन का भुगतान किया 6ए000 ;उत्तरः हस्तस्थ रोकड़ 8ए800 रु. बैंक में रोकड़ 10ए000 रु.द्ध 10ण् मै. रुचि टेªडसर् ने अपनी दिसम्बर 2005 माह की रोकड़ बही का आरंभ हस्तस्थ रोकड़ 1ए354 रुव बैंक चालू खाते का शेष 7ए560 रु. से किया, उनके अन्य लेन देन निम्न हैः रु03 नकद विक्रय 2ए300 05 माल का क्रय व चेक द्वारा भुगतान 6ए000 08 नकद विक्रय 10ए000 12 व्यापारिक व्ययों का भुगतान 700 15 माल के विक्रय से प्राप्त चेक जिसे उसी दिन बैंक मंे जमा करवाया गया20ए000 18 मोटर कार खरीद कर चेक द्वारा भुगतान किया 15ए000 20 मनीषा से चेक प्राप्त कर उसी दिन बैंक में जमा करवाया 10ए000 22 नकद विक्रय 7ए000 25 मनीषा का चेक अनादरित हो बैंक से वापिस लौट आया 28 किराए का भुगतान किया 2ए000 29 टेलिपफोन व्यय का भुगतान चेक द्वारा किया 31 व्यक्ितगत प्रयोग के लिए रोकड़ का आहरण 2ए000 बैंक स्तंभीय रोकड़ बही बनाइए। ;उत्तरः हस्तस्थ रोकड़ 15ए954 रु. व बैंक में रोकड़ 6ए060 रु.द्ध खुदरा रोकड़ बही 11ण् निम्नलिख्िात लेन - देनों से खुदरा रोकड़ बही तैयार करें। अगि्रम राश्िा 2ए000 रु. है। रु01 ढुलाइर् का भुगतान किया 50 02 ैज्क् शुल्क 40 02 बस का किराया 20 03 डाक 30 04 कमर्चारियों के लिए जलपान 80 06 कुरियर शुल्क 30 08 ग्राहक को जलपान 50 10 ढुलाइर् 35 15 मैनेजर का टैक्सी भाड़ा 70 18 लेखन सामग्री 65 20 बस का किराया 10 22 पफैक्स शुल्क 30 25 टेलिग्राम शुल्क 35 27 डाक टिकटें 200 29 पफनीर्चर की मरम्म्त 105 30 ध्ुलाइर् व्यय 115 31 विविध् व्यय 100 ;उत्तरः रोकड़ शेष 925 रु.द्ध 12ण् 30 दिसंबर, 2005 के निम्नलिख्िात साप्ताहिक लेन - देनों को खुदरा रोकड़ पुस्तक में लिखें। साप्ताहिक अगि्रम राश्िा 500 रु. हैः रु24 लेखन सामग्री 100 25 बस का किराया 12 25 ढुलाइर् 40 ृ 26 टैक्सी का किराया 80 27 आकस्िमक क्रय मजदूरी 90 29 डाक 80 ;उत्तरः रोकड़ शेष 98 रु.द्ध ृृअन्य सहायक पुस्तवेंफ 13ण् मै. गुप्ता टेªडसर् के क्रय ;रोजनामचेद्ध पुस्तक में जुलाइर् 2005 के निम्न लेन - देनों का अभ्िालेखन कीजिएः 01 राहुल टेªडसर् से बीजक संख्या 20041 के अनुसार क्रय किया 40 रजिस्टर / 60 रु. प्रति 80 जेल पेन / 15 रु. प्रति 50 काॅपियां / 20 रु. प्रति व्यापारिक बट्टा 10» 15 ग्लोबल स्टेशनसर् से बीजक संख्या 1ए132 के अनुसार क्रय किया 40 इंक पैड /8 रु. प्रति 50 पफाइलें / 10 रु. प्रति 20 रंग भरने की पुस्तवेंफ / 20 रु. प्रति व्यापरिक छूट 5» 23 लांबा पफनीर्चर से बीजक संख्या 3201 के अनुसार खरीदा 2 कुसिर्यां / 600 रु. प्र. कु1 मेज / 1000 रु. प्र. मेज 25 मुबइर् ट्रेडसर् से बीजक संख्या 1111 के अनुसार क्रय किया 10 रिम पेपर 100 रु. प्र. रि400 चित्राकला पेपर /3 रु. प्रति पेपर 20 पेकेट पानी वाले रंग / 40 रु. प्र. पैकेट ;उत्तरः क्रय रोजनामचे का योग 8ए299द्ध 14ण् मै. बंसल इलैक्ट्राॅनिक्स के विक्रय ;रोजनामचेद्ध पुस्तक में निम्न लेन - देन को प्रविष्ट कीजिए। सितम्बर 1 विपत्रा सं.4321 के अनुसार अमित ट्रेडसर् को विक्रय किया 20 जेब के रेडियो / 70 रु. प्र. रे2 श्वेत श्याम टी. वी./ 800 रु. प्र. टी. वी10 विपत्रा 4ए351 के अनुसार अरुण इलेक्ट्राॅनिक्स को विक्रय किया 5;20ष्द्ध के श्वेत श्याम टी. वी./ 3ए000 रु. प्र. टी. वी2;21ष्द्ध के रंगीन टी. वी./ 4ए800 रु. प्र. टी. वी22 विपत्रा संख्या 4ए399 के अनुसार हौन्डा इलेक्ट्राॅनिक्स को विक्रय किया 10 टेप रिकाडर्र / 600 रु. प्रति टेप रिकाडर्र 5 वाॅकमेन / 300 रु. प्रति वाॅकमेन 28 हरीश ट्रेडसर् को विपत्रा संख्या 4ए430 के अनुसार विक्रय किया 610 जूसर मिक्सर / 800 रु. प्रति जूसर मिक्सर ;उत्तरः विक्रय पुस्तक का योग 43ए100 रु.द्ध 15ण् निम्न लेन - देनों की सहायता से जनवरी 2006 के लिए क्रय वापसी ;रोजनामचाद्ध पुस्तक बनाइये। 05 मैं कातिर्क ट्रेडसर् को 1ए200 रु. मूल्य का माल वापस किया 10 साहिल ;प्रा.द्ध लिमिटेड को 2ए500 रु. मूल्य का माल वापस किया। 16ण् मै. बंसल इलेक्ट्रोनिक्स के लिए नवंबर, 2005 के निम्न लेन - देनों की सहायता से विक्रय वापसी ;रोजनामचाद्ध पुस्तक बनाइए 162 लेखाशास्त्रा - वित्तीय लेखांकन 17 मै. कोहिनूर टेªडसर् को सूची मूल्य 2ए000 रु. घटा 10» व्यापारिक छूट, मूल्य का माल वापस किया। 28 मै. हाॅन्डा टेªडसर् को 550 रु. की बाह्य वापसी हुइर्। ;उत्तरः क्रय वापसी पुस्तक का योगद्ध 6ए050 रु.द्ध 04 मैं गुप्ता टेªडसर् ने 1ए500 रु. मूल्य का माल वापस किया 10 मै. हरीश टेªडसर् से 800 रु. मूल्य का माल वापस आया 18 मैं राहुल ट्रेडसर् ने निदेर्शानुसार माल न होने के कारण 1ए200 रु. मूल्य का माल वापस किया 28 सुशील ट्रेडसर् से 1ए000 रु. मूल्य का माल वापस आया ;उत्तरः विक्रय वापसी ;रोजनामचाद्ध पुस्तक का योग 4ए500 रु.द्ध अभ्िालेखन खतौनी व संतुलन 17ण् पफरवरी 2006 के निम्न लेन - देनों को मूल रोजनामचे व सहायक बहियों में अभ्िालिख्िात कर खाता बही में खतौनी कीजिए। पफरवरी 2006 रु01 सचिन का माल बेचा 5ए000 04 कुशल ट्रेडसर् से माल खरीदा 2ए480 06 मनीष ट्रेडसर् को माल बेचा 2ए100 07 सचिन से माल वापस आया 600 08 कुशल ट्रेडसर् से माल वापस आया 280 10 मुकेश का माल बेचा 3ए300 14 कुणाल ट्रेडसर् से माल खरीदा 5ए200 15 तरुण से पफनीर्चर खरीदा 3ए200 17 नरेश से माल खरीदा 4ए060 20 कुनाल टेªडसर् को माल वापस किया 200 22 मुकेश से माल वापस आया 250 24 कीतिर् व कम्पनी से 5ए700 रु. के सूची मूल्य का माल खरीदा व उस पर 10» की व्यापारिक छूट पाइर् 25 श्री चांद को 6ए600 रु. का माल बेचा व उन्हें 5ः की व्यापारिक छूट दी। 26 रमेश ब्रदसर् को माल बेचा 4ए000 28 कीतिर् व कंपनी को 1ए000 रु. घटा 10» व्यपारिक छूट मूल्य का माल वापस किया गया 28 रमेंश ब्रदसर् से माल वापस आया 500 18ण् निम्नलिख्िात शेष मावर्ल टेªडसर् के 1 अप्रैल, 2006 के खाता बही से लिये गये हैंः रुहस्तथ रोकड़ 6ए000 बैंकस्थ रोकड़ 12ए000 प्राप्य विपत्रा 7ए000 रमेश ;जमाद्ध 3ए000 रहतिया 5ए400 देय विपत्रा 2ए000 राहुल ;नामद्ध 9ए700 हिमांशु ;नामद्ध 10ए000 माह के दौरान लेन - देन इस प्रकार थेः अप्रैल रु01 मनीष को माल का विक्रय 3ए000 02 रमेश से माल का क्रय 8ए000 03 राहुल से पूणर् भुगतान प्राप्त 9ए200 05 हिमांशु से नकद प्राप्ित 4ए000 06 चेक द्वारा रमेश का भुगतान 6ए000 08 चेक द्वारा किराये का भुगतान 1ए200 10 मनीष से नकद प्राप्ित 3ए000 12 नकद विक्रय 6ए000 14 रमेश को माल वापस किया 1ए000 15 रमेश को पूणर् भुगतान 3ए700 बट्टा प्राप्त 300 18 कुशल को माल बेचा 10ए000 20 व्यापारिक व्ययों का भुगतान 200 21 व्यक्ितगत प्रयोग हेतु आहरण 1ए000 22 कुशल से माल की वापसी 1ए200 24 कुशल से नकद प्राप्त 6ए000 26 स्टेशनरी का भुगतान 100 27 डाक व्यय 60 28 वेतन का भुगतान 2ए500 29 शीतल ट्रेडसर् से माल का क्रय 7ए000 30 कीरत को माल बेचा 6ए000 हौन्डा ट्रेडसर् से माल का क्रय 5ए000 उपरोक्त लेन - देनों की रोजनामचे प्रविष्िट करें और उपयुक्त खातों मंे खतौनी करें। लेखाशास्त्रा - वित्तीय लेखांकन स्वंय जाँचिए की जाँच सूची स्वयं जाँचिए - 1 अ ;पअद्ध ब ;पपद्ध स ;पपपद्ध त ;पपद्ध थ ;पपद्ध द ;पअद्ध ध् ;पपद्ध न ;पपपद्ध य ;पपपद्ध स्वयं जाँचिए - 2 1ण् ;कद्ध सहायक ;खद्ध रोकड़ ;गद्ध क्रय वापसी ;घद्ध प्रमुख रोजनामचा ;ड.द्ध रोकड, बैंक ;चद्ध ज्यादा ;छद्ध क्रेडिट ;जद्ध बैंक ;झद्ध अध्िविकषर् ;×ाद्ध अगि्रम ;टद्ध क्रेडिट 2ण् ;कद्ध गलत ;खद्ध सही ;गद्ध गलत ;घद्ध गलत ;ड.द्ध गलत ;चद्ध सही ;छद्ध सही ;×ाद्ध गलत ;टद्ध सही ;×ाद्ध सही ;तद्ध गलत ;थद्ध गलत

RELOAD if chapter isn't visible.