देश 2012 में नागरिकों की मासिक आय ;रफपये मेंद्ध 1 2 3 4 5 औसत देश क 9,500 10,500 9,800 10,000 10,200 देश ख 500 500 500 500 48,000 राज्य श्िाशु मृत्यु दर प्रति 1,000 व्यक्ित ;2012द्ध साक्षरता दर » ;2011द्ध निवल उपस्िथति अनुपात ;प्रति 100 व्यक्ितद्ध उच्चतर ;आयु 14 तथा 15 वषर्द्ध 2009 - 10 महाराष्ट्र केरल बिहार 25 12 43 82 94 62 64 78 35 ड्डोतः आथ्िार्क सवर्ेक्षण, 2013 - 14 ;अद्ध अनंतिम इस तालिका में प्रयोग किये गए वुफछ शब्दों की व्याख्या - श्िाशु मृत्यु दर - किसी वषर् में पैदा हुए 1,000 जीवित बच्चों में से एक वषर् की आयु से पहले मर जाने वाले बच्चों का अनुपात दिखाती है। साक्षरता दर - 7 वषर् और उससे अध्िक आयु के लोगों में साक्षर जनसंख्या का अनुपात। निवल उपस्िथति अनुपात - 14 तथा 15 वषर् की आयु के स्वूफल जाने वाले वुफल बच्चों का उस आयु - वगर् के वुफल बच्चों के साथ प्रतिशत। मानव विकास रिपोटर् एक बार यह बात समझ में आ जाए कि यद्यपि आय का स्तर महत्त्वपूणर् है, पर यह विकास के स्तर को मापने का अपयार्प्त मापदंड है, तो हम अन्य मापदंडों के बारे में सोचने लगेंगे। ऐसे मापदंडों की सूची लम्बी हो सकती है, लेकिन वह इतनी उपयोगी नहीं रहेगी। हमें अध्िक महत्त्वपूणर् चीशों की कम संख्या में आवश्यकता है। स्वास्थ्य और श्िाक्षा के सूचक - जैसे हमने केरल और महाराष्ट्र की तुलना करने के लिए प्रयोग किये, ऐसे ही सूचकों में हैं। पिछले लगभग एक दशक में, स्वास्थ्य और श्िाक्षा सूचकों का आय के साथ व्यापक स्तर पर विकास के माप के लिए प्रयोग किया जाने लगा है। उदाहरण के लिए, यूएनडीपी द्वारा प्रकाश्िात मानव विकास रिपोटर् देशों की तुलना लोगों के शैक्ष्िाक स्तर, उनकी स्वास्थ्य स्िथति और प्रति व्यक्ित आय के आधर पर करती है। भारत और उसके पड़ोसी देशों की 2014 की मानव विकास रिपोटर् के वुफछ संब( आँकड़ों पर दृष्िट डालना रफचिकर होगा। कायर्कलाप 3 यह ज्ञात करने के लिए कि क्या वयस्क अल्प पोष्िात है, एक तरीका है, जिसे पोषण वैज्ञानिक, शरीर द्रव्यमान सूचकांक ;वी.एम.आइर्.द्ध कहते हैं। इसकी गणना करना सरल है। किसी व्यक्ित का भार किलोग्राम में लीजिए। पिफर उसकी लंबाइर् मीटर में लीजिए। पिफर भार को लंबाइर् के वगर् से भाग दीजिए। अगर यह संख्या 18.5 से कम है तो उस व्यक्ित को अल्पपोष्िात कहा जाएगा। लेकिन अगर यह 25 से अध्िक है, तो वह व्यक्ित अतिभारित है। लेकिन याद रख्िाए कि यह मापदण्ड बढ़ते बच्चों पर लागू नहीं होता। कक्षा में हर विद्याथीर् और 3 वयस्कों का वशन और ऊँचाइर् मापें। इसके लिए अलग - अलग आथ्िार्क पृष्ठभूमि के वयस्कों को चुनें, जैसे कि निमार्ण कायर् में लगे मशदूर, घर में काम करने वाले नौकर और दफ्रतरों में काम करने वाले लोग, व्यापारी इत्यादि। सभी विद्याथ्िार्यों से इन आँकड़ों को इकऋाò करके एक संयुक्ततालिका बनाइए। पिफर उनकी वी.एम.आइर्की गणना कीजिए। क्या आप व्यक्ित की आथ्िार्क पृष्ठभूमि और उसके षोषण के स्तर में कोइर् संबंध् पाते हैं? तालिका 1.6 वषर् 2013 केलिए भारत और उसकेपड़ोसी देशों ़के वुफछ आँकड देश श्रीलंका भारत सकल राष्ट्रीय आय ;स.रा.आ.द्ध प्रति व्यक्ितअमेरिकी डाॅलर में ;2011 क्रय शक्ित क्षमताद्ध 9,250 5,150 जन्म के समय संभावित आयु74.3 66.4 साक्षरता दर 15$ वषर् की जनसंख्या के लिए2005 - 2012 91.2 62.8 विश्व में मानव विकास सूचकांक ;भ्क्प्द्ध का क्रमांक 73 135 बंगलादेश म्यांमार पाकिस्तान नेपाल 2,713 3,998 4,652 2,194 70.7 65.2 66.6 68.4 57.7 92.7 54.9 57.4 142 150 146 145 ड्डोतः मानव विकास रिपोटर्, 2014 टिप्पणी 1.भ्क्प् का अथर् है मानव विकास सूचकंाक। ऊपर दी गइर् तालिका में भ्क्प् सूचकंाक का क्रमांक वुफल 177 देशों में से है। 2.जन्म के समय संभावित आयु, जैसा कि नाम से स्पष्ट है, व्यक्ित की जन्म के समय औसत आयु की संभावना दशार्ती है। 3.प्रतिव्यक्ित आय की गणना सभी देशों के लिए डाॅलर में की जाती है, ताकि उसकी तुलना की जा सके। यह इस तरीके से भी की जाती है कि एक डाॅलर किसी भी देश में समान मात्रा में वस्तुएँ और सेवाएँ खरीद सके। विकास क्षेत्रा/देश भण्डार ;2013द्ध भण्डारों के चलने की अवध्ि ;हजार मिलियन बैटलद्ध ;वषो± मेंद्ध मध्य - पूवर् 808.5 78.1 संयुक्त राज्य अमरीका 44.2 12.1 विश्व 1687.9 53.3 राज्य पुरफष महिला ;ःद्ध ;ःद्ध केरल 22 19 कनार्टक 36 38 मध्य प्रदेश 43 42 सभी राज्य 37 36

RELOAD if chapter isn't visible.