उद्योगों का वगीर्करण बनाएँ जैसे - ट्रांजिस्टर, बिजली का बल्ब, वनस्पति तेल, सीमेंट, काँच का सामान, पैट्रोल, माचिस, स्वूफटर, वाहन, दवाइर्याँ आदि। यदि हम विशेष मापदंडों के आधार पर विभ्िान्न उद्योगों का वगीर्करण करते हैं तो विनिमार्ण को आसानी से समझ सवेंफगे। उद्योगों को निम्न प्रकार से वगीर्वृफत किया जा सकता है - प्रयुक्त कच्चे माल के स्रोत के आधार पर - ऽ वृफष्िा आधारित - सूती वस्त्रा, ऊनी वस्त्रा, पटसन, रेशम वस्त्रा, रबर, चीनी, चाय, कापफी तथा वनस्पति तेल उद्योग। ऽ खनिज आधारित - लोहा तथा इस्पात, सीमेंट, एल्यूमिनियम, मशीन, औशार तथा पेट्रोरासायन उद्योग। प्रमुख भूमिका के आधार पर - ऽ आधारभूत उद्योग - जिनके उत्पादन या कच्चे माल पर दूसरे उद्योग निभर्र हैं जैसे - लोहा इस्पात, ताँबा प्रगलन व एल्यूमिनियम प्रगलन उद्योग। ऽ उपभोक्ता उद्योग - जो उत्पादन उपभोक्ताओं के सीधे उपयोग हेतु करते हैं जैसे - चीनी, दंतमंजन, कागज, पंखे, सिलाइर् मशीन आदि। पूँजी निवेश के आधार पर - ऽ एक लघु उद्योग को परिसंपिा की एक इकाइर् पर अिाकतम निवेश मूल्य के परिप्रेक्ष्य में परिभाष्िात किया जाता है। यह निवेश सीमा, समय के साथ परिवतिर्त होती रहती है। अिाकतम स्वीकायर् निवेश के आधार पर की जाती है। यह निवेश मूल्य समय के साथ बदला गया है। वतर्मान में अिाकतम निवेश एक करोेड़ रूपये तक स्वीकायर् है। स्वामित्व के आधार पर - ऽ सावर्जनिक क्षेत्रा में लगे, सरकारी एजेंसियों द्वारा प्रबंिात तथा सरकार द्वारा संचालित उद्योग - जैसे भारत हैवी इलैक्िट्रकल लिमिटेड ;ठभ्म्स्द्ध तथा स्टील अथाॅरिटी आॅपफ इंडिया लिमिटेड ;ै।प्स्द्ध आदि। ऽ निजी क्षेत्रा के उद्योग जिनका एक व्यक्ित के स्वामित्व में और उसके द्वारा संचालित अथवा लोगों के स्वामित्व में या उनके द्वारा संचालित है। टिस्को, बजाज आॅटो लिमिटेड, डाबर उद्योग आदि। ऽ संयुक्त उद्योग - वैसे उद्योग जो राज्य सरकार और निजी क्षेत्रा के संयुक्त प्रयास से चलाये जाते हैं। जैसे - आॅयल इंडिया लिमिटेड ;व्प्स्द्ध । ऽ सहकारी उद्योग - जिनका स्वामित्व कच्चे माल की पूतिर् करने वाले उत्पादकों, श्रमिकों या दोनों के हाथों में होता है। संसाधनों का कोष संयुक्त होता है तथा लाभ - हानि का विभाजन भी अनुपातिक होता है जैसे - महाराष्ट्र के चीनी उद्योग, केरल के नारियल पर आधारित उद्योग। कच्चे तथा तैयार माल की मात्रा व भार के आधार पर - ऽ भारी उद्योग जैसे लोहा तथा इस्पात आदि। ऽ हल्के उद्योग जो कम भार वाले कच्चे माल का प्रयोग कर वृफष्िा आधारित उद्योग सूती वस्त्रा, पटसन, रेशम, ऊनी वस्त्रा, चीनी तथा वनस्पति तेल आदि उद्योग वृफष्िा से प्राप्त कच्चे माल पर आधारित हैं। वस्त्रा उद्योग - भारतीय अथर्व्यवस्था में वस्त्रा उद्योग का अपना अलग महत्त्व है क्योंकि इसका औद्योगिक उत्पादन में महत्त्वपूणर् ;14 प्रतिशतद्ध योगदान है। यह लगभग 350 लाख व्यक्ितयों को रोजगार उपलब्ध करवाकर वृफष्िा के पश्चात् दूसरा बड़ा उद्योग है तथा लगभग 24.6 प्रतिशत विदेशी मुद्रा अजिर्त करता है। सकल घरेलू उत्पाद मंे इसकी भागीदारी लगभग 4 प्रतिशत है। देश का यह अकेला उद्योग है जो कच्चे माल से उच्चतम अतिरिक्त मूल्य उत्पाद तक की श्रृंखला में परिपूणर् तथा आत्मनिभर्र है। विनिमार्ण उद्योग भारत - लोहा और इस्पात संयंत्रा समकालीन भारत - 2 भारत - साॅफ्रटवेयर टेक्नोलाॅजी पाव्र्फस विनिमार्ण उद्योग ;धद्ध सभी उफजार् संयंत्रों का पारिस्िथतिकीय रूप से माॅनीटर तथा समीक्षा करना एवं आॅनलाइन आँकड़़ों का प्रबंधन करना। अभ्यास अभ्यास अभ्यास अभ्यास अभ्यास 1ण् बहुवैकल्िपक प्रश्न ;पद्ध निम्न से कौन - सा उद्योग चूना पत्थर को कच्चे माल के रूप में प्रयुक्त करता है? ;कद्ध एल्यूमिनियम ;गद्ध सीमेंट ;खद्ध चीनी ;घद्ध पटसन ;पपद्ध निम्न से कौन - सी एजेंसी सावर्जनिक क्षेत्रा में स्टील को बाशार में उपलब्ध कराती है? ;कद्ध हेल ;भ्।प्स्द्ध ;गद्ध टाटा स्टील ;खद्ध सेल ;ै।प्स्द्ध ;घद्ध एम एन सी सी;डछब्ब्द्ध ;पपपद्ध निम्न से कौन - सा उद्योग बाॅक्साइट को कच्चे माल के रूप में प्रयोग करता है? ;कद्ध एल्यूमिनियम ;गद्ध पटसन ;खद्ध सीमेंट ;घद्ध स्टील ;पअद्ध निम्न से कौन - सा उद्योग दूरभाष, वंफप्यूटर आदि संयंत्रा निमिर्त करते है? ;कद्ध स्टील ;गद्ध इलैक्ट्रानिक ;खद्ध एल्यूमिनियम ;घद्ध सूचना प्रौद्योगिकी 2ण् निम्नलिख्िात प्रश्नों के उत्तर लगभग 30 शब्दों में दीजिए। ;पद्ध विनिमार्ण क्या है? ;पपद्ध उद्योगों की अवस्िथति को प्रभावित करने वाले तीन भौतिक कारक बताएँ। ;पपपद्ध औद्योगिक अवस्िथति को प्रभावित करने वाले तीन मानवीय कारक बताएँ। ;पअद्ध आधारभूत उद्योग क्या है? उदाहरण देकर बताएँ। 3ण् निम्नलिख्िात प्रश्नों के उत्तर लगभग 120 शब्दों में दीजिए। ;पद्ध समंवित इस्पात उद्योग मिनी इस्पात उद्योगों से वैफसे भ्िान्न है? इस उद्योग की क्या समस्याएँ हैं? किन सुधारों के अंतगर्त इसकी उत्पादन क्षमता बढ़ी है? समकालीन भारत - 2

RELOAD if chapter isn't visible.