Back to Books list Select Chapter to read 01: सूऱदास: ऊधौ; तुम हौ अति बड़भागी; मन की मन ही माँझ रही; हमारैं हरि हारिल की लकरी; हरि हैं राजनीति प02: तुलसीदास: राम-लक्ष्मण-परशुराम संवाद03: देव : पाँयनि नूपुर---; डार द्रुम पलना---; फटिक सिलानि---04: जयशंक़ऱ प्रसाद: आत्मकथ्य05: सूर्यकांत त्रिपाठी निरला: उत्साह; अट नहीं रही ह06: नागार्जुन: यह दंतुरित मुसकान; फसल07: गिरिज़ाकुमार माथुर: छाया मत छून08: ॠृतुऱाज़: कन्यादान09: मंग़लेश ड़बऱाल: संगतकार10: स्वयं प्रक़ाश: नेताजी का चश्मा11: रामवृझ बेऩीपुरी: बालगोबिन भगत12: यशपाल: लखनवी अंदाज13: सर्वेशवऱ दयाल सक़्सेऩा: मानवीय करुणा की दिव्य चमक14: मन्नु भंड़ारी: एक कहानी यह भी15: महवीर प्रसाद द्विवेदी: स्त्री-शिक्षा के विरोधी कुतर्कों का खंडन16: यतींद्र मिश्र: नौबतखाने में इबादत17: भदंत आऩंद क़ैसल्यायन: संस्कृति
android