13. बंदर गया खेत में भाग बंदर गया खेत में भाग, चु‘र - मु‘र तोड़ा साग। आग जलाकर च‘र - म‘र, साग पकाया खद्दर - बद्दर। सापड़ - सूपड़ खाया खूब, पोंछा मँुह उखाड़कर दूब। चलनी बिछा, ओढ़कर सूप, डटकर सोए बंदर भूप। बंदर चलनी बिछाकर, सूप ओढ़कर सो गया। लिखो, ये वैफसे सोएँगे? क्या बिछाएँगे? क्या ओढ़ेंगे? ........................ ........................ हाथी : ........................ ........................ चींटी : ........................ ........................ गिलहरी: शेर : ........................ ........................ खाया सबने पानी पिया मारे खरार्टे गिरे पलंग से बंदर खेत से साग तोड़कर भागा। कौन - कौन से काम करने के बाद तुम्हें भागना पड़ता है?इसमें कितनी तरह की टोपियाँ और पगडि़याँ हैं? बताओ।

RELOAD if chapter isn't visible.